Monday , March 1 2021
Breaking News
Home / देश / बिहार पंचायत चुनाव : ऐसा होगा पहली बार, नए तरीके से चुनी जाएगी गांवों की सरकार

बिहार पंचायत चुनाव : ऐसा होगा पहली बार, नए तरीके से चुनी जाएगी गांवों की सरकार

पटना
बिहार में अब त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों के चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है। हालांकि इस बार भी चुनाव दलीय आधारित नहीं होने हैं बावजूद इसके सभी राजनीतिक दल पंचायत चुनाव की तैयारी में जुट गए हैं। बताया जा रहा है कि होली के बाद पंचायत चुनाव की तिथि की घोषणा की जा सकती है। चुनाव की निष्पक्षता पर कोई सवाल न हो इसके लिए चुनाव आयोग ने कई नए नियम लागू किए हैं। इसके तहत बिहार पंचायत चुनाव में वर्तमान मुखिया के घर के 100 मीटर के अंदर बूथ नहीं बनाया जा सकता। इसके अलावा किसी निजी भवन, परिसर, थाना, अस्पताल, डिस्पेंसरी, मंदिर या धार्मिक स्थान पर बूथ नहीं बनाए जा सकते हैं।

मतदान केंद्र की सूची और निरीक्षण करने का जिम्मा प्रखंड विकास पदाधिकारी (BDO) को
बिहार पंचायत चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने सूबे के सभी जिलों के डीएम को पत्र लिखकर 27 जनवरी तक मतदाता केंद्र का नाम मांगा गया है। इसके अलावा आयोग ने सभी जिलों के जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी, पंचायत को बूथों के गठन की प्रक्रिया शुरू करने का निर्देश भी दिया है। संभावना है कि अप्रैल से शुरू होने वाले पंचायत चुनाव जून के मध्य तक पूरे करा लिए जाएंगे।

बता दें कि 2016 के हुए पंचायत चुनाव में राज्य में 1 लाख 19 हजार बूथ बनाए गए थे। इस बार बूथ की संख्या बढ़ने की उम्मीद जतायी जा रही है, बताया गया कि पंचायत चुनाव के लिए बिहार के सभी मतदान केंद्रों की सूची का अंतिम प्रकाशन 2 मार्च तक कर दिया जाएगा। राज्य चुनाव आयोग ने अधिसूचना जारी कर कह है कि सभी मतदान केंद्र की सूची और निरीक्षण करने का जिम्मा प्रखंड विकास पदाधिकारी (BDO) का होगा। इसके अलावा मतदान केंद्रों का फाइनल लिस्ट आयोग के सहमति से ही प्रकाशित किया जाएगा।

loading...
loading...

Check Also

वैक्सीनेशन के दूसरे फेज की शुरुआत आज से, CoWin पोर्टल पर सुबह 9 बजे से करा सकेंगे रजिस्ट्रेशन

देश में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज कल यानी 1 मार्च से शुरू हो रहा ...