Monday , March 1 2021
Breaking News
Home / Uncategorized / Budget 2021-22:  टैक्स छूट के बाद 80 साल से ऊपर के व्यक्ति पर लगता है कितना टैक्स?

Budget 2021-22:  टैक्स छूट के बाद 80 साल से ऊपर के व्यक्ति पर लगता है कितना टैक्स?

नई दिल्ली
Budget 2021-22: इस बार के बजट से हर वर्ग को उम्मीदें हैं। वरिष्ठ नागरिकों (Budget for senior citizens) को भी इस बजट में उनके लिए कुछ खास होने की उम्मीद है। ज्यादा कुछ नहीं तो इतनी तो वह भी उम्मीद कर ही रहे हैं कि टैक्स छूट की सीमा (Tax exemption limit for senior citizens) बढ़ जाए। आइए जानते हैं अभी मौजूदा टैक्स व्यवस्था में वरिष्ठ नागरिकों में मिलती है कितनी टैक्स छूट और कितना मिलता है स्टैंडर्ड डिडक्शन।

  1. सीनियर सिटिजन को कितनी आय तक मिलती है टैक्स से छूट?
    वरिष्ठ नागरिकों को 3 लाख तक की आय पर टैक्स छूट मिलती है। यानी अगर 60 साल से ऊपर, लेकिन 80 साल से कम के बुजुर्ग की सालाना कमाई 3 लाख रुपये या उससे कम है तो उस पर टैक्स देनदारी नहीं बनती है, उसकी पूरी आय पर टैक्स छूट मिलेगी।
  2. टैक्स छूट के बाद सीनियर सिटिजन पर लगता है कितना टैक्स?
    टैक्स छूट की सीमा के बाद 3 लाख से 5 लाख रुपये तक की आय पर 5 फीसदी, 5 से 10 लाख रुपये तक की आय पर 20 फीसदी और 10 लाख से ऊपर की आय पर 30 फीसदी टैक्स लगता है।
  3. 80 साल से ऊपर के बुजुर्गों के लिए क्या है टैक्स छूट की सीमा?
    अगर बात 80 साल से ऊपर के बुजुर्गों की करें तो उनके लिए टैक्स छूट की सीमा 5 लाख रुपये है। यानी अगर 80 साल से ऊपर के किसी भी शख्स की आय 5 लाख या उससे कम है तो उस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। 5 लाख से ऊपर की जो आय होगी, उस पर टैक्स का कैल्कुलेशन किया जाएगा।
  4. टैक्स छूट के बाद 80 साल से ऊपर के व्यक्ति पर लगता है कितना टैक्स?
    टैक्स छूट की 5 लाख रुपये की सीमा के बाद 80 साल से ऊपर के व्यक्ति पर 5 से 10 लाख रुपये तक की आय पर 20 फीसदी और 10 लाख से ऊपर की आय पर 30 फीसदी टैक्स लगता है।
  5. स्टैंडर्ड डिडक्शन कितना मिलता है?
    बाकी लोगों की तरह ही सीनियर सिटिजन को भी 50 हजार रुपये तक के स्टैंडर्ड डिडक्शन का फायदा मिलता है। वित्त वर्ष 2018-19 में ये 40 हजार रुपये था, जिसे 2019-20 में बढ़ाकर 50 हजार रुपये कर दिया गया। हालांकि, इसका फायदा सिर्फ उन्हीं सीनियर सिटिजन को मिलता है, जिनकी कमाई किसी नौकरी या फिर पेंशन के जरिए होती है।
loading...
loading...

Check Also

UP में सभी की हेल्थ का होगा इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड, मिलेगी यूनिक हेल्थ आईडी

जल्द व बेहतर इलाज उपलब्ध कराने के लिए उत्तर प्रदेश के सभी लोगों के स्वास्थ्य ...