Tuesday , October 20 2020
Breaking News
Home / ख़बर / ‘CBI जांच में देरी’ पर सुशांत के फैंस भी नाराज, मुंबई की सड़कों पर ऐसे किया गुस्से का इजहार

‘CBI जांच में देरी’ पर सुशांत के फैंस भी नाराज, मुंबई की सड़कों पर ऐसे किया गुस्से का इजहार

सुशांत सिंह राजपूत के पारिवारिक वकील विकास सिंह ने शुक्रवार को अभिनेता की रहस्यमयी मौत में CBI जांच को लेकर परिवार की ‘नाखुशी’ व्यक्त करने के लिए एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस की थी। सिंह ने दावा किया कि ‘AIIMS के एक डॉक्टर ने सुशांत के शव की तस्वीरों के आधार पर उन्हें बताया था कि उनकी मौत 200% गला घोंटने की वजह से हुई थी। हालांकि, CBI उस एंगल से जांच नहीं कर रही है।’ उनकी प्रेस कॉन्फ़्रेंस के बाद, मुंबई में फैंस का भी सब्र का बांध टूट पड़ा है।

मुंबई में कई जगह शुक्रवार को देर रात को सुशांत के नए बैनर देखे गए जिसमें उनके लिए न्याय की मांग की गई थी। उन बैनरों पर लिखा था- ‘मैं भी तुममें से एक था। जैसे तुम न्याय के हक़दार हो, वैसे मैं भी हूं। #JusticeForSSR’

इससे पहले सुशांत की फैमिली के वकील विकास सिंह ने कहा था कि CBI मामले को आत्महत्या से हत्या में बदलने के लिए ‘देरी’ कर रही है। सिंह ने मीडिया से कहा, “मैं CBI की जांच में विश्वास नहीं खोया हूं, लेकिन इस मामले में जो धीमी गति से जांच की जा रही है उससे नाखुश हूं। यह मामला ट्रैक पर वापस नहीं आएगा तो कहीं न कहीं यह मामला खराब होगा।”

उन्होंने यह भी कहा, “परिवार को लग रहा है कि जांच की गति बहुत धीमी हो गई है। AIIMS की टीम मुंबई में आई हुई है, CBI की टीम भी मौजूद है। मेरी जानकारी के मुताबिक पिछले एक सप्ताह से दोनों टीमों के बीच बैठक नहीं हुई है।”

उन्होंने आगे कहा, “मैंने सुशांत की बहन द्वारा क्लिक की गई तस्वीरों को AIIMS के एक डॉक्टर को भेजा था और उन्होंने मुझे बताया था कि यह 200 प्रतिशत गला घोंटने से मौत होने का मामला है। मुझे नहीं पता कि इस केस को आत्महत्या से हत्या में बदलने के लिए CBI को कौन रोक रहा है। CBI भी इस पर कोई प्रेस स्टेटमेंट नहीं दे रही है।”

उन्होंने कहा- “हमें नहीं पता कि मामला किस दिशा में जा रहा है। केस को जांच की दिशा की पटरी पर लाया जाना चाहिए और जब तक नहीं आ जाता है, तब तक सच्चाई सामने नहीं आ पाएगी।”

विकास सिंह ने चल रहे बॉलीवुड-ड्रग्स जांच के बारे में बात करते हुए कहा, “एनडीपीएस अधिनियम के तहत, मामला केवल तभी बनेगा जब ड्रग्स बरामद किए जाए और अब तक कुछ भी महत्वपूर्ण नहीं है। इसलिए, सुशांत मामले को मोड़कर ड्रग्स एंगल की ओर ध्यान दिया जा रहा है।”

ग़ौरतलब है कि सुशांत 14 जून को अपने बांद्रा स्थित आवास पर मृत पाए गए थे। 25 जुलाई को सुशांत के परिवार ने पटना पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज कराई थी।

loading...
loading...

Check Also

बिहार में बीजेपी खेल रही बहुत बड़ा डबल-गेम, प्रदेश प्रभारी फडणवीस बोले- पीएम तो सबके हैं!

नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ( Chirag Paswan ) द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र ...