Saturday , November 28 2020
Breaking News
Home / धर्म / छठ पूजा के दौरान जिसने किए ये काम, वो भुगतेगा गंभीर परिणाम

छठ पूजा के दौरान जिसने किए ये काम, वो भुगतेगा गंभीर परिणाम

चार दिन के छठ महापर्व में भगवान सूर्य की पूजा की जाती है. यह ज़्यादातर बिहार, झारखण्ड, उत्तर प्रदेश और नेपाल में मनाया जाता है. छठ व्रत करने से सूर्य भगवान खुश होते हैं और भक्तों पर अपनी कृपा बरसाते हैं. लेकिन छठ पूजा के समय आपको कुछ खास बातों का विशेष ध्यान रखना होगा. तो चलिए आपको बताते हैं व्रत के दौरान किन-किन बातों का ध्यान रखें.

छठ पूजा की तैयारियों में फल,प्रसाद और पूजा सामग्री हमेशा बांस की टोकरी में ही रखना चाहिए, क्योंकि बांस को शुद्ध माना जाता है. फल या प्रसाद के लिए कभी भी पीतल, स्टील या तांबे के बर्तनों का इस्तेमाल नहीं करें.

इस महापर्व में नारियल का बहुत महत्व है, ऐसे में आप जब भी प्रसाद के लिए फल खरीदें उसमें नारियल ज़रूर लें.

ठेकुआ को छठ पर्व का प्रमुख प्रसाद माना जाता है. इसके बिना प्रसाद और पूजा दोनों अधूरी होती है| ठेकुआ बनाते समय साफ-सफाई का भी खास ख्याल रखना बहुत ज़रुरी है.

अगर आप अपने फलों में केले को शामिल कर रहे हैं तो आपको केले का पूरा गुच्छा चढ़ाना चाहिए. केले के गुच्छे को काटना या तोड़ना नहीं चाहिए और इस बात का विशेष ध्यान रखें.

व्रत के दौरान कभी भी नमक,लहसुन और प्याज़ का इस्तेमाल बिलकुल नहीं करना चाहिए | इस दौरान घर में सबको शुद्ध शाकाहारी भोजन करना चाहिए |

खाना बनाते वक़्त केवल सेंधा नमक का इस्तेमाल किया जाता है. नमक छूने के बाद किसी सामान को नहीं छूना चाहिए|

व्रत करने वाले व्यक्ति को फर्श पर सोना चाहिए.

किसी की निंदा नहीं करनी चाहिए, कोई गलत विचार मन मे नहीं लाना चाहिए.

जब महिलाएं जल चढ़ाने के लिए तालाब या नदी में जाती हैं तो उन्हें नए कपड़े पहनने चाहिए जिसमें किसी प्रकार की सिलाई न लगी हो|

छठ पर्व को शुरू करने के बाद तब तक करना होता है, जब तक अगली पीढ़ी की कोई विवाहित महिला इसके लिए तैयार न हो जाए.

loading...
loading...

Check Also

इस गुफा में विराजमान हैं साक्षात् भोलेनाथ, दर्शन करने वाला लौटकर नहीं आता !

आप सभी लोगों ने किस्से कहानियों में या फिर किसी से यह बात जरूर सुनी ...