Friday , October 23 2020
Breaking News
Home / धर्म / छोटी दीपावली:  सभी बाधाओ को दूर करने के लिए नवग्रहों की ऐसी करें पूजा, जल्द होगा समस्या का समाधान 

छोटी दीपावली:  सभी बाधाओ को दूर करने के लिए नवग्रहों की ऐसी करें पूजा, जल्द होगा समस्या का समाधान 

मनुष्य अपने जीवन में ढेरों खुशियां चाहता है परंतु ना चाहते हुए भी व्यक्ति को किसी ना किसी वजह से परेशान होना पड़ जाता है, अक्सर देखा गया है कि व्यक्ति की कुंडली में ग्रहों की दशा ठीक ना होने के कारण ग्रहों से बुरे प्रभाव मिलते हैं, ग्रहों के बुरे परिणाम की वजह से समस्याएं व्यक्ति को चारों तरफ से घेर लेती है, ऐसी स्थिति में ग्रहों की शांति के लिए उपाय करना बहुत ही जरूरी है, अगर आप भी अपने जीवन की परेशानियों की वजह से काफी बाधाओं का सामना कर रहे हैं तो ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दीपावली पर कुछ उपाय अपना सकते हैं।

अगर आप दीपावली पर कुछ उपाय अपनाते हैं तो इससे नवग्रहों की बुरी दृष्टि आपका कुछ भी बिगाड़ नहीं सकती, ग्रहों की राशि चक्र के अनुसार ही व्यक्ति के जीवन में उतार-चढ़ाव आते हैं, आप दीपावली पर कुछ उपायों को करके ग्रहों की बुरी दृष्टि से बच सकते हैं।

दीपावली पर नवग्रहों की बुरी दृष्टि से बचने के लिए करें यह आसान उपाय

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं सभी ग्रहों में सूर्य को अधिपति माना जाता है, अगर आप सूर्य को प्रसन्न करना चाहते हैं तो दीपावली के दिन आदित्य हृदय स्त्रोत का पाठ कीजिए।

अगर आप मंगल को प्रसन्न करना चाहते हैं तो इसके लिए दीपावली के दिन किसी हनुमान मंदिर में जाकर श्री हनुमान चालीसा का पाठ कीजिए और महाबली हनुमान जी की प्रतिमा पर चमेली का तेल, सिंदूर, शुद्ध देसी घी और चोला अर्पित कीजिए।

अगर आप बुध के बुरे प्रभाव से बचना चाहते हैं तो इसके लिए दीपावली के दिन धन की देवी माता लक्ष्मी जी की पूजा करें और हरे मूंग को भिगोकर पक्षियों को खाने के लिए दीजिए।

अगर आप चाहते हैं कि चंद्रमा के बुरे प्रभाव आपके जीवन पर ना पड़े तो आप दिवाली के दिन भगवान शिव जी के “ओम नमः शिवाय” मंत्र का 108 बार जाप करें, इससे चंद्रमा प्रसन्न होगा।

अगर आप बृहस्पति ग्रह को प्रसन्न करना चाहते हैं तो इसके लिए दिवाली के दिन चने की दाल और केसर को किसी मंदिर में दान कीजिए और अपने माथे पर केसर का तिलक लगाएं, इससे बृहस्पति का बुरा प्रभाव दूर होता है।

अगर आप शनि देव की बुरी दृष्टि से बचना चाहते हैं तो दीपावली के दिन पीपल के पेड़ के नीचे दीपक अवश्य जलाएं, इसके साथ-साथ भैरव की पूजा कीजिए।

अगर आप शुक्र को खुश करना चाहते हैं तो इसके लिए दीपावली वाले दिन गौशाला में गुड, हरा घास, चने की दाल गाय को खिलाएं और कनकधारा मां लक्ष्मी का पाठ कीजिए, इससे शुक्र का बुरा प्रभाव दूर होता है।

अगर आप केतु ग्रह को प्रसन्न करना चाहते हैं तो इसके लिए दीपावली के दिन भगवान श्री गणेश जी की विशेष पूजा अर्चना करने के पश्चात काले कुत्ते को तेल में चुपड़ी हुई रोटी खिलाएं और किसी मंदिर में जाकर सतरंगी झंडा अर्पित कीजिए।

अगर आप राहु के बुरे प्रभाव से बचना चाहते हैं तो आप अपने घर में बना हुआ भोजन ही करें, अगर आप दिवाली के दिन घर का बना हुआ शाकाहारी भोजन करते हैं तो इससे राहु ग्रह प्रसन्न होता है।

loading...
loading...

Check Also

Navratri 2020 : नौ देवियां और उनके नामों से जुड़ी हैं ये नौ कहानियां

नवरात्र हिन्दुओं का एक प्रसिद्ध पर्व है. नवरात्री का शाब्दिक अर्थ नव+रात्री अर्थात नौं रात्रियां ...