Monday , October 26 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / CM ने जारी किया फरमान : आतंकी घटनाओं के गुनहगारो को भेजे जेल, जानिए और क्या बोले…

CM ने जारी किया फरमान : आतंकी घटनाओं के गुनहगारो को भेजे जेल, जानिए और क्या बोले…

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एटीएस, एसटीएफ और पुलिस के अधिकारियों समेत सभी जांच एजेंसियों को निर्देश दिए हैं। इसमें कहा कि 1990 से लेकर 2018 के बीच आतंकी घटनाओं में लिप्त रहने वाले या फिर परोक्ष-अपरोक्ष रूप से आतंकी घटनाओं से जुड़े रहने वाले व्यक्तियों का सोशल मीडिया चेक करें। अगर वे जेल से बाहर है तो उन्हें तत्काल गिरफ्तार कर जेल भेजें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दीपावली पर्व के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्थ को लेकर मुख्यमंत्री आवास पर उच्चधिकारियों के साथ बैठक की। सभी जिलों के जिलाधिकारियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि मैं पुलिस प्रशासन और पुलिस अधिकारियों को बधाई देना चाहता हॅू कि उन्होंने नवरात्रि व दशहरा का त्योहर सकुशलता व शांति से सम्पन्न करवाया। साथ ही दीपावली पर्व के देखते हुए उन्होंने कई बिन्दुओं को लेकर मातहतों को निर्देशित किये हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दीपावली पर्व को देखते हुए मिलावटी खाद्य पदार्थ और जहरीली शराब को बेचने की कोशिश की जायेगी। इसको रोकने के लिए जिला प्रशासन, आबकारी विभाग और पुलिस की संयुक्त रुप से टीम बनाकर छापेमारी की कार्रवाई शुरु कर दें। इसके अलावा बारुद और पटाखों के कारण कोई भी दुर्घटना न होने पाए। भंडारण और पटाखों के गोदाम बिक्री का कार्य आबादी वाले इलाके से दूर खुले किया जाए। पटाखों की दुकानों को भी खुले मैदान में लगाया जाये, वहां पर 24 घंटे अग्निशमन की पूरी व्यवस्था हों।

राम मन्दिर को लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं होनी चाहिए
मुख्यमंत्री ने जनता से अपील की है कि अयोध्या राम मन्दिर पर जल्द फैसला आने वाला है। सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिए गये फैसलों को स्वीकाराना है। इस मुद्दे पर कोर्ट का जो भी फैसला आये उसे लेकर कोई भी सार्वजनिक रूप से प्रतिक्रिया नहीं होनी चाहिए। भड़कीले बयान किसी भी स्तर पर नहीं होने चाहिए। इसके लिए सोशल मीडिया पर निगरानी रखनी होगी। मुख्यमंत्री ने पुलिस के अधिकारियों के अलावा थानेदारों को भी सख्त निर्देश दिये हैं। कहा कि उपद्रवी मानसिकता के लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। पुलिस के अधिकारी थाने में न बैठे, बल्कि अपराधियों के दरवाजे खटखटाएं, जिससे उनके मन में खौफ हो।

धर्म गुरुओं और नेताओं की सुरक्षा को लेकर करें समीक्षा
हिन्दू महासभा के नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ धर्म गुरुओं और नेताओं की सुरक्षा को लेकर बेहद गंभीर है। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों व पुलिस कप्तानों को निर्देश दिया है कि प्रमुख संगठनों, धर्म गुरुओं और नेताओं की सुरक्षा को लेकर समीक्षा जरूर करें, आवश्यक्ता होने पर उन्हें सुरक्षा भी प्रदान करें।

प्लास्टिक पूरी तरह से प्रतिबंधित हो
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में सिंगल यूज प्लास्टिक पूरी तरह से प्रतिबंधित हो, उसे रोकने की ठोस व्यवस्था होनी चाहिए। दूध, पानी और शराब की पाउच में बिक्री पर सख्ती से रोक लगानी चाहिए। पराली जलाने से हो रहे नुकसान के बारे में भी किसानों को जागरूक किया जाय, इसमें जनप्रतिनिधियों को भी शामिल करें।

जिलाधिकारी के खिलाफ होगी कार्रवाई
योगी आदित्यनाथ ने सख्त लहजे में कहा है कि सड़कों और खेतों में घूमने वाले गोवंश गो आश्रय स्थलों पर ही रहें। सड़कों और खेतों में गोवंश बिल्कुल न जाये। शिकायत मिलने पर संबंधित जिलाधिकारी के खिलाफ ठोस कार्रवाई की जायेगी।

loading...
loading...

Check Also

दिवाली से पहले सरकार ने दिए ये 3 गिफ्ट, कर्मचारियों की हुई बल्‍ले-बल्‍ले

कोरोना काल में केंद्र सरकार ने जहां एक तरफ केंद्रीय कर्मचारियों का Dearness allowance फ्रीज ...