Thursday , January 21 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / गले में लटक रहे क्रॉस ने बच्चे को बुलेट से बचाया, हैरान कर देगा पूरा मामला!

गले में लटक रहे क्रॉस ने बच्चे को बुलेट से बचाया, हैरान कर देगा पूरा मामला!

लैटिन अमेरिकी देश अर्जेंटीना में 9 साल के एक बच्चे ने मौत को मात देकर दूसरी जिंदगी पाई है। ईसाई बहुल इस देश में एक 9 साल का लड़का क्रॉस वाली लॉकेट पहनकर खेल रहा था। तभी कहीं से फायर हुई एक गोली उसके क्रॉस से टकराकर नीचे गिर गई। लड़के को तब पता नहीं था कि उसके ऊपर किसी ने गोली चलाई है। दर्द से कराह रहे लड़के को जब परिवार के लोग अस्पताल लेकर पहुंचे तब उन्हें पूरी घटना के बारे में पता चला। अब लोग इसे चमत्कार मान रहे हैं।

इस लड़के का नाम टिजियानो बताया जा रहा है। जो अर्जेंटीना के लास टालिटास में अपने घर के दरवाजे पर 31 जनवरी की शाम को खेल रहा था। तभी किसी अज्ञात शख्स ने जाने या अनजाने में उसके ऊपर कहीं से गोली चला दी। लेकिन, वह गोली लड़के के लड़के के क्रॉस वाली लॉकेट को भेद नहीं पाई और इससे एक बड़ा हादसा होने से बच गया।

रिपोर्ट के अनुसार, वह लड़का 31 दिसंबर की शाम को अगले दिन नए साल के शुरू होने की खुशी में अपनी बहन और चचेरे भाई के साथ खेल रहा था। खेलते-खेलते उसे अपने सीने में तेज दर्द महसूस हुआ। जब उसने पास पड़ी गोली के टुकड़े को अपने परिवारवालों को दिखाया तो उसे आनन-फानन में अस्पताल लेकर जाया गया। डॉक्टरों ने बताया कि उसके ऊपर किसी ने गोली चलाई है, जो क्रॉस की वजह से शरीर में नहीं घुस सकी। वह एक घंटे के उपचार के बाद फिर से घर जाने के लायक हो गया।

घर लौटने के बाद परिवारवालों ने घटनास्थल के पास छानबीन शुरू कर दी। उन्हें वहां पर गोली का टुकड़ा और बच्चे की क्रॉस वाला लॉकेट मिला। चांदी के बने इस क्रॉस को टिजियानो के पिता डेविड ने गिफ्ट किया था। क्रॉस के ऊपर जहां गोली लगी थी वहां बड़ा सा छेद बन गया था। लड़के के माता-पिता ने इसे भगवान का चमत्कार बताया है। जिसके बाद उसे चर्च लेकर जाया गया।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, माता-पिता की जानकारी पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि लड़के के ऊपर गोली किसने और क्यों चलाई। पुलिस के अनुसार, यह घटना 31 दिसंबर 2020 को रात 10 बजे के आसपास हुई थी।

loading...
loading...

Check Also

जहर के स्तर पर दूध में हो रही मिलावट, डरावने खुलासे किया FSSAI

पिछले 2 दशकों से भारत में लगातार इंटेस्टाइन, लिवर या किडनी डैमेज जैसी खतरनाक बीमारियों ...