Monday , October 26 2020
Breaking News
Home / क्राइम / दलित बच्ची के बलात्कारी के फेवर में बोले थानेदार- बच्चों से होती रहती हैं छोटी-मोटी गलतियां !

दलित बच्ची के बलात्कारी के फेवर में बोले थानेदार- बच्चों से होती रहती हैं छोटी-मोटी गलतियां !

यूपी पुलिस कुछ भी कर सकती है. तिल का ताड़ बना सकती है और आसमान को पाताल में पहुंचा सकती है. पीड़ित को मुजरिम बनाना इनको आता है और दरिंदों को आजादी देना भी इनके लिए आसान काम है. अब उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के इस मामले को देखिए. यहां एक दलित नाबालिग लड़की के बलात्कार की शिकायत लेकर थाने पहुंची पीड़िता की मां को इंस्पेक्टर ने ये कहकर भगा दिया कि ‘बच्चों से गलतियां हो जाती हैं, यह कोई अपराध नहीं है’.

पीड़िता की मां के अनुसार वह अनुसूचित जाति की है और पति बाहर रहते हैं. वह बच्चों के साथ झोपड़ी में रहती है, उसकी एक बेटी कक्षा नौ की छात्रा है. आरोप है कि किशोरी के स्कूल जाते समय उसी गांव का एक युवक रास्ते में अभद्र और अश्लील भाषा का प्रयोग करता है. वह शिकायत लेकर उसके पिता के पास गई तो उसने गाली देकर भगा दिया.

10 सितंबर 2019 को आठ बजे रात को शौच करने गई थी, इसी दौरान उसकी बेटी का मुंह दबाकर एक खेत में युवक ने दुष्कर्म किया. युवक के चंगुल से छूटने के बाद किशोरी चिल्लाई तो वहां मौजूद लोगों ने उसे पकड़ने की कोशिश की, लेकिन वह भाग निकला.

घटना के बाद पीड़िता की मां जब मनियार थाने गई तो इंस्पेक्टर ने केस दर्ज नहीं किया. इंस्पेक्टर ने इस घटना को लेकर कहा कि ये नाबालिग बच्चे हैं, इनसे छोटी-मोटी गलतियां होती रहती हैं. इसे अपराध के रूप में न देखा जाए. पीड़िता की मां को पुलिस ने सादा कागज पर अंगूठा लगवाकर कार्रवाई का भरोसा देकर घर लौटा दिया.

हालांकि, अब जब मामला एसपी देवेंद्रनाथ के संज्ञान में आया तो केस दर्ज करवाया गया और एसएचओ सुभाष यादव को सस्पेंड कर दिया गया.

loading...
loading...

Check Also

मायानगरी की गंदगी : ₹250 में बच्चों के sexual acts वाले वीडियो देता TV एक्टर, टेलीग्राम से करता ये काम

केंद्रीय जाँच एजेंसी सीबीआई ने रविवार को मुंबई के एक टीवी कलाकार के ख़िलाफ़ मामला ...