Wednesday , January 20 2021
Breaking News
Home / ख़बर / कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद महिला डॉक्टर की हालत बिगड़ी, ICU में कराना पड़ा भर्ती

कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद महिला डॉक्टर की हालत बिगड़ी, ICU में कराना पड़ा भर्ती

मैक्सिको स‍िटी
मैक्सिको में एक डॉक्‍टर अमेरिकी कंपनी फाइजर की कोरोना वायरस वैक्‍सीन लगवाने के बाद गंभीर रूप से बीमार हो गया और उसे तत्‍काल आईसीयू में भर्ती कराना पड़ा है। डॉक्‍टर को सांस लेने में दिक्‍कत हो रही थी। मेक्सिको के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि डॉक्‍टर के इन्सेफेलोमायेलीटिस से पीड़‍ित होने की आशंका है। वैक्‍सीन लगवाने के बाद बीमार डॉक्‍टर खुद को काफी कमजोर महसूस कर रहे हैं।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा, ‘देश के एक 32 साल के डॉक्‍टर को फाइजर की कोरोना वायरस वैक्‍सीन लगवाया गया था। उन्‍हें वैक्‍सीन लगाने के आधे घंटे के अंदर ही शरीर में चकत्‍ते पड़ने, ऐंठन, शरीर में कमजोरी और सांस लेने में दिक्‍कत के बाद आईसीयू में भर्ती कराया गया है।’ डॉक्‍टर को जब वैक्‍सीन का रिएक्‍शन हुआ, उस समय वह टीका लगाने वालों की निगरानी में थे। अब उनका इलाज किया जा रहा है।

मंत्रालय ने कहा क‍ि डॉक्‍टर का अब इन्सेफेलोमायेलीटिस का इलाज चल रहा है। उसने कहा, ‘डॉक्‍टर निगरानी में हैं और विशेषज्ञ डॉक्‍टरों की मदद से उनका इलाज चल रहा है। उनके दिमाग में सूजन है जिसको कम करने के प्रयास किए जा रहे हैं।’ बताया जा रहा है कि बीमार हुए डॉक्‍टर को अन्‍य दवाओं से एलर्जी होने का इतिहास रहा है। इस एलर्जी की वजह से लोगों के शरीर पर धारियां पड़ जाती हैं और कई बार मौत भी हो जाती है।

वैक्‍सीन लगवाने के बाद स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिट‍िव
अभी तक फाइजर की वैक्‍सीन लगवाने पर किसी भी व्‍यक्ति में इस तरह के रिएक्‍शन नहीं देखे गए हैं। इससे पहले अमेरिका के कैलिफोर्निया में फाइजर की कोरोना वायरस वैक्‍सीन लगवाने के एक हफ्ते बाद ही एक स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिट‍िव हो गया था। मैथ्‍यू डब्‍ल्‍यू नाम का स्वास्थ्यकर्मी दो अलग-अलग हॉस्पिटल में नर्स का काम करता है। इस नर्स ने गत 18 दिसंबर को कोरोना वायरस वैक्‍सीन लगवाया था और फेसबुक पर पोस्‍ट करके इसकी जानकारी भी दी थी। स्वास्थ्यकर्मी ने कहा था कि उसे वैक्‍सीन लगवाने के बाद कोई साइड इफेक्‍ट नहीं हुआ था।

मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक वैक्‍सीन लगवाने के 6 दिन बाद क्रिसमस की पूर्व संध्‍या पर कोविड-19 यूनिट में काम करने के बाद स्वास्थ्यकर्मी बीमार हो गया। स्वास्थ्यकर्मी को ठंड लगने लगा और बाद में उसके शरीर में दर्द होने लगा। स्वास्थ्यकर्मी को थकान महसूस होने लगा। क्रिसमस के बाद नर्स अस्‍पताल गया और कोरोना टेस्‍ट कराया। अमेरिका के संक्रामक रोग विशेषज्ञ रेमर्स ने कहा, ‘हम वैक्‍सीन के क्लिनिकल ट्रायल से जानते हैं कि कोरोना वायरस के खिलाफ इम्‍युनिटी पैदा होने में 10 से 14 दिन लग सकता है। मैं समझता हूं कि कोरोना वायरस वैक्‍सीन का पहला डोज आपको करीब 50 फीसदी सुरक्षा देता है और आपको 95 फीसदी सुरक्षा के लिए दूसरे डोज की जरूरत होती है।’

loading...
loading...

Check Also

भ्रष्टाचार पर सख्त हैं योगी, भगोड़े IPS की कुर्क होगी संपत्ति, बज चुकी है डुगडुगी

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में हर भ्रष्टाचारी के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई की प्रक्रिया जारी ...