Friday , November 27 2020
Breaking News
Home / धर्म / घर की इन जगहों पर कभी मत करें भोजन, वरना बर्बाद हो जायेगा पूरा परिवार !

घर की इन जगहों पर कभी मत करें भोजन, वरना बर्बाद हो जायेगा पूरा परिवार !

आज कल बहुत लोग वास्तु शास्त्र को मानते है वास्तु के हिसाब से घर बनाते है  अगर घर वास्तु के हिसाब से न हो तो वास्तु दोष निवारण के भी बहुत सारे उपाय होते है .परिवार में सुख-शांति बनाय रखने  के लिए  वास्तु में कई उपाय दिए गये हैं. जिस घर का वास्तु बिगड़ जाता है उस घर में कभी खुशियाँ नहीं आ पाती हैं. जिस घर में वास्तु के नियमों का पालन नहीं होता है वहां कई प्रकार की समस्याएँ और भारी परेशानी आती हैं. इंसान दो वक्त की रोटी खाने के लिए और जिंदगी जीने के लिए दिन रात मेहनत करता है. एक बार को व्यक्ति के घर में सुख सुविधाओं की कमी आ जाये  लेकिन रसोई में अन्न की कमी नहीं आनी चाहिए. इसी प्रकार जब घर में खाना बनता है और उसे आप किस दिशा में रखकर खा रहे हैं इसका भी बड़ा प्रभाव पड़ता है. खाना-खाने से संबधित भी कुछ वास्तु नियम बताये गये हैं जिनका अनुसरण करना बेहद आवश्यक है, नहीं तो परिणाम बेहद बुरे निकलकर आते हैं.

जानकारी के लिए बता दें वास्तु के इन नियमों का पालन अगर आप नहीं करते हैं तो आप और आपके परिवार की सेहत और उन्नति पर गहरा प्रभाव पड़ता है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम आपको कुछ ऐसे नियम बताने जा रहे हैं जिन्हें आप खाना-खाते समय, उनका पालन करें. ये नियम घर के सभी सदस्यों को करना है. ये नियम आप और आपके परिवार को बेहद फायदेमंद रहेंगे. आइये बताते हैं इनके बारे में..

1-आपने भी कई बार लोगों को घर में देखा होगा कि खाना बनते ही वह किचन स्टैंड पर प्लेट रख के ही भोजन करना शुरू कर देते हैं. ये एक ऐसी जगह होती है जहाँ पूरे घर का खाना बनाया जाता है. आप वहां खाना रखकर खायेंगे तो यह आपके लिए बेहद बुरा साबित होगा क्योंकि ये स्थान माँ अन्नपूर्णा का माना जाता है. अब आप इसी जगह खाना रखकर खायेंगे तो ये जगह झूठी हो जाएगी. जिसके बाद देवी आपसे रुष्ट हो जाएगी तो इसका बुरा प्रभाव आप और आपके परिवार पर पड़ेगा.

2- जब भी आप किचन में भोजन करें तो इस अवस्था में बिल्कुल ना बैठें. जिससे आपकी पीठ गैस चूल्हे की तरफ हो. खाना-खाते समय आपकी पीठ वाला हिस्सा उस दिशा में नहीं होना चाहिए जहाँ पर गृहणी खाना बनाती हैं. इस दिशा में रहकर कदापि खाना ना खाएं. ऐसा करने से देवी का अपमान होता है और फिर आप के ऊपर भारी समस्या आ सकती हैं.

3- जब भी आप भोजन करने बैठें तो माँ अन्नपूर्णा का ध्यान करें और देवी माँ को धन्यवाद अदा करें. इसके बाद ही भोजन का पहला टुकड़ा तोड़कर भोग लगायें. फिर पानी की कुछ बूंदें दाई और बाई ओर डालें. तभी भोजन करना शुरू करें. भोग के हिस्से को आप जमीन पर नहीं रखें. ज्यादातर लोग जमीन पर ही भोग लगाकर छोड़ देते हैं. इसके लिए आप एक छोटो सी कटोरी या प्लेट में लगायें. खाना-खाने के बाद इसे या तो किसी जानवर को खिला दें या खुद ही ग्रहण कर लें. इस भोग को कभी झूठन में नहीं डालना चाहिए.

loading...
loading...

Check Also

जेब में अगर राशि के अनुसार रखेंगे सिक्का, तब आपकी तरक्की कोई नहीं रोक सकता

सभी के पर्स में या जेब में सिक्के रहते हैं फिर वह दस का हो, ...