Tuesday , October 27 2020
Breaking News
Home / देश / लहसुन, प्याज की कीमतों ने बिगाड़ा आम आदमी का बजट, दोगुने हो गए भाव

लहसुन, प्याज की कीमतों ने बिगाड़ा आम आदमी का बजट, दोगुने हो गए भाव

नई दिल्‍ली । तमाम सरकारी दावों और आश्‍वासन के बावजूद टमाटर और प्‍याज की महंगाई से तो लोग पहले से ही परेशान हैं। अब लहसुन की कीमत भी आसमान छू रहा है, जिसकी वजह से लोगों के खाने का बजट बिगड़ गया है। दिल्‍ली में लहसुन 300 रुपये किलो तक खुदरा में बिक रहा है। हालांकि लहसुन के थोक भाव में बीते दो हफ्ते में कोई खास बदलाव नहीं हुआ है, लेकिन खुदरा में लहसुन 280-300 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर बिक रहा है। लहसुन दो हफ्ते पहले 150-200 रुपये प्रति किलोग्राम की भाव से बाजार में मिल रहा था।

देश में इस साल लहसुन का उत्पादन पिछले साल से 76 फीसदी ज्‍यादा होने के बावजूद इसकी कीमत में बेहताशा बढ़ोतरी हुई है। देश की प्रमुख लहसुन मंडी मध्य प्रदेश के नीमच, मंदसौर और राजस्थान के कोटा के व्‍यापारियों ने बताया कि बारिश के कारण स्टॉक में रखा लहसुन खराब हो जाने की वजह से सप्लाई पर असर पड़ा है। इसकी वजह से कीमत में इजाफा हुआ है।

दिल्‍ली-एनसीआर में लहसुन खुदरा में 280-300 रुपये प्रति किलो बिक रहा है, जबकि लहसुन के प्रमुख उत्पादक राज्य मध्य प्रदेश और राजस्थान सहित देश के अन्य हिस्सों में भी रिटेल में कीमत 200 रुपये प्रति किलोग्राम से ज्यादा ही है।

भारत सरकार के कृषि मंत्रालय द्वारा जारी फसलों के तीसरे अग्रिम उत्पादन अनुमान के मुताबिक फसल वर्ष 2018-19 में 28.36 लाख टन लहसुन के उत्पादन का अनुमान है। पिछले साल 16.11 लाख टन लहसुन का उत्‍पादन हुआ था। इस प्रकार पिछले साल के मुकाबले इस साल लहसुन का उत्पादन 76 फीसदी अधिक होने का अनुमान है। उल्लेखनीय है कि भारत लहसुन के प्रमुख उत्पादक देशों में से एक है, जबकि चीन दुनिया का सबसे बड़ा लहसुन उत्पादक है।

loading...
loading...

Check Also

सिंगापुर में संकीर्ण सोच : कोरोना के दौर में भारतीयों के साथ जो हुआ, वो मानवता से गुनाह !

सिंगापुर की समृद्धि में बाहर से आए तकनीक कर्मियों और श्रमिकों का अहम रोल रहा ...