Sunday , September 20 2020
Breaking News
Home / धर्म / Hartalika Teej 2020: करवाचौथ से भी कठिन माना जाता है यह व्रत, महिलाओं के लिए होता है खास

Hartalika Teej 2020: करवाचौथ से भी कठिन माना जाता है यह व्रत, महिलाओं के लिए होता है खास

लखनऊ। भाद्रपद मास में शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को हरितालिका तीज व्रत रखा जाता है। इस साल यह व्रत आज 21अगस्त दिन शुक्रवार को है। इस व्रत में महिलाएं अखंड सौभाग्य की प्राप्ति के लिए माता पार्वती और भगवान शिव की अराधना करती हैं। हरितालिका तीज व्रत में मिट्टी से बने शिवजी एवं माता पार्वती जी कि प्रतिमा का विधि विधान से पूजन अर्चन किया जाता है, साथ ही हरितालिका तीज व्रत कथा को सुना जाता है।

पंडित भारत ज्ञान भूषण ने बताया कि कुंवारी कन्याएं मनचाहे वर के लिए इस व्रत को रखती है तथा एक बार व्रत रखने के पश्चात इस व्रत को जीवनभर रखा जाता है। बीमार होने पर दूसरी महिला या पति इस व्रत को रख सकते हैं! विशेषकर उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल और बिहार में मनाया जाने वाला यह त्योहार करवाचौथ से भी कठिन माना जाता है। क्योंकि जहाँ करवाचौथ में चांद देखने के बाद व्रत तोड़ दिया जाता है वहीं इस व्रत में पूरे दिन निर्जल व्रत किया जाता है और अगले दिन पूजन के पश्चात ही व्रत तोड़ा जाता है। इस व्रत से जुड़ी एक मान्यता यह भी है कि इस व्रत को करने वाली स्त्रियां पार्वती जी के समान ही सुखपूर्वक पतिरमण करके शिवलोक को जाती हैं।

महाराष्ट्र में भी इस व्रत का पालन किया जाता है क्योंकि अगले दिन ही गणेश चतुर्थी के दिन गणेश स्थापना की जाती है। हरितालिका तीज व्रत का व्रती महिलाओं के लिए विशेष महत्व है जिसमे शास्त्र अनुसार हरितालिका तीज व्रत में कथा का विशेष महत्व बताया गया है। मान्यता है कि कथा के बिना इस व्रत को अधूरा माना जाता है,इसलिए हरितालिका तीज व्रत रखने वाले को कथा जरूर सुननी या पढ़नी चाहिए!

पं. भारत ज्ञान भूषण ज्योतिषाचार्य ने कथा की महत्ता बताते हुआ कहा कि शास्त्रों-पुराणों के अनुसार, हिमवान की पुत्री माता पार्वती ने भगवान शंकर को पति के रूप में पाने के लिए बाल्य काल में हिमालय पर्वत पर अन्न-जल त्याग कर घोर तपस्या करना प्रारम्भ कर दी थी, इस बात से पार्वती जी के माता-पिता काफी परेशान थे,तभी एक दिन नारद जी राजा हिमवान के पास पार्वती जी के लिए भगवान विष्णु की ओर से विवाह का प्रस्ताव लेकर पहुंचे और माता पार्वती ने यह शादी का प्रस्ताव ठुकरा दिया।

Check Also

‘आत्मा’ के आसपास होने पर मिलता है ये इशारा, जरूर जान लें वरना..

अक्‍सर इस दुनिया में कई सारी ऐसी घटनाएं हो जाती है जिसके बारे में हम ...