Wednesday , October 21 2020
Breaking News
Home / देश / हरियाणा की चुनावी चौपाल : थाना छोरे गेल नाजायज करी, इब हम जायज करांगे..

हरियाणा की चुनावी चौपाल : थाना छोरे गेल नाजायज करी, इब हम जायज करांगे..

हरियाणा में चुनावी रण सज चुका है और मौन मतदाता अब खुलने लगा है. हुआ यूं कि इस्माईलाबाद में एक नेता जी बुजुर्गों के बीच पहुंचे. एक बुजुर्ग ने गुणा भाग करते सवाल किया भाई तो ही बता तनै कितने लोगां के काम करवाए. सारी छोड़ न्यू ही बता दे तनै अपणा के करवाया. नेता जी मुस्कुराए बोले जी हम तो सेवा करने आए हैं. दूसरे बुजुर्ग ने तपाक से कहा सेवा नी जेब की बात करो. थारे आलयां नै तो घर भर लिए. नेता जी बोले देखो जी आटा नमक तो चलता ही है. तीसरे बुजुर्ग ने तैश में आकर कह डाला थाना छोरे गेल नाजायज करी इब हम जायज करांगे. नेता जी बोले ये तो पार्टी ने देखना होता है. बुजुर्ग ने झट से जवाब दिया रै छोरा भी तो पार्टी का काम करया था. एक दिन आवैगा जब पता लागगा कि छोरे की जेब किस किस न काटी थी. नेता जी थमे नहीं झट से वाहन में बैठ लिए. मतदाता का आवेश देख जोगिया समझ गया कि इस बार खिचड़ी अलग ही पकने जा रही है बाकी समय के गर्भ में है.

हम तो मौसम गेल दल बदल लें भाई

गांव ठोल की अनाज मंडी में धान बेचने आए किसान आपस में चुनाव की बातचीत में मशगूल थे. सभी अपने अपने तरीके से हार जीत के दावे कर रहे थे. तभी तीन युवकों का आना हुआ. एक किसान ने पूछा क्या माहौल है. एक युवक ने कहा इस बार वोटर पार्टी नहीं उम्मीदवार देख रहा है. इस बार अलग ही रिजल्ट होंगे. दूसरे युवक ने कहा ऐसा पहली बार होगा.

तभी पहुंचे नेता जी से सभी ने पूछ लिया आपने फिर दल बदल लिया. एक किसान ने यहां तक कह दिया भले माणस कहीं तो ठहर जाया कर. नेता जी से रहा नहीं गया बोला हम तो मौसम के हिसाब से दल बदल लेते हैं. सभी ठहाका लगाकर हंसे. एक युवक ने चुटकी लेते कहा एक पटका ही तो पा लेना होता है.

लड्डू तो ले लेंगे यदि नमक होता तो…

इस बार मतदाता भी कमतर नहीं है. वह नेताओं से दो कदम आगे है. एक चुनावी कार्यालय के उद्घाटन पर सड़क पर आने जाने वालों के बीच लड्डू बांटे जा रहे थे. एक बुजुर्ग रूका तो उसके हाथ पर दो लड्डू रख दिए. बुजुर्ग ने पार्टी का नाम पूछा और बोला चलो लड्डू तो लेंगे यदि नमकीन होती तो नहीं लेता. बुजुर्ग के इस जवाब को सुनने वाले समझ गए कि ताऊ स्याणी बात कर ही गया.

loading...
loading...

Check Also

दीवाला होने वालों में जी न्यूज के मालिक सुभाष चंद्रा का होगा अगला नाम, भारी कर्ज में डूबी कंपनी !

जी न्यूज के मालिक सुभाष चंद्रा जिनकी गिनती कभी देश के गिने-चुने अरबपतियों में होती ...