Saturday , October 24 2020
Breaking News
Home / ख़बर / काले धन के कुबेरों पर अब चलेगा डंडा, मोदी को सबकी कुंडली है पता

काले धन के कुबेरों पर अब चलेगा डंडा, मोदी को सबकी कुंडली है पता

मोदी सरकार ने दूसरी बार सत्ता में आने के बाद एक तरफ इनकम टैक्स डिपार्टमेंट सहित विभिन्न सरकारी महकमों में सफेद हाथी की तरह पल रहे और भ्रष्टाचार के मामलों में लिप्त उच्च अधिकारियों पर चाबुक चलाया. इसके साथ ही कुछ राजनीतिक दिग्गजों पर भी शिकंजा कसा. अब स्विस बैंक में अकाउंट रखने वालों का भी ब्यौरा सरकार को मिल गया है. इसका सीधा अर्थ है कि अब मोदी सरकार का डंडा काला धन जुटाने वालों पर भी चलने वाला है.

दरअसल स्विटजरलैंड के संघीय कर प्रशासन यानी फेडरल टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन (FTA) ने 75 देशों को उनके नागरिकों के स्विटजरलैंड में उपलब्ध लगभग 3.1 मिलियन यानी लगभग 31 लाख खातों का ब्यौरा उपलब्ध कराया है. इनमें भारत भी शामिल है. एफटीए ने एईओआई व्यवस्था के तहत इन देशों को यह ब्यौरा उपलब्ध कराया है. इसलिये यह देश इन खातों के नाम, पते, उनके पैन नंबर, उनके वित्तीय संस्थान, खाते में उपलब्ध राशि और पूँजीगत आय आदि का खुलासा नहीं कर सकते हैं. एफटीए ने यह भी खुलासा नहीं किया है कि भारत को दी गई पहली खेप में कितने अकाउंट्स का ब्यौरा दिया गया है. एफटीए के अनुसार दूसरी खेप सितंबर-2020 में उपलब्ध कराई जाएगी.

यह ब्यौरा प्राप्त होने के बाद अब सरकार इस बात की तस्दीक करेगी कि इन अकाउंट्स और उनमें उपलब्ध राशि के बारे में इन खातेदारों ने अपने रिटर्न में सही जानकारी दी है या नहीं ? जिन खातेदारों ने यह जानकारी नहीं दी होगी, उनके विरुद्ध बेहिसाबी धन रखने का मामला दर्ज करके कानूनी कार्यवाही की जाएगी.

कई अधिकारियों ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर सिर्फ इतना खुलासा किया है कि इन खातेदारों में अधिकांशतः उद्योगपति हैं. इसके अलावा कुछ प्रवासी भारतीय (NRI) भी शामिल हैं, जो दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों अमेरिका और ब्रिटेन के साथ-साथ कुछ अफ्रीकी और दक्षिण अमेरिकी देशों में बस चुके हैं.

इस ब्यौरे के आधार पर अब मोदी सरकार स्विटजरलैंड के विविध बैंकों, ट्रस्टों और बीमा कंपनियों सहित विभिन्न वित्तीय संस्थानों में खाता रखने वाले भारतीय नागरिकों के रिटर्न में दी गई जानकारियों को खँगालेगी और जिन लोगों ने स्विस अकाउंट्स की सही जानकारी उपलब्ध नहीं कराई होगी, ऐसे काला धन एकत्र करने वालों पर आगामी दिनों में मोदी सरकार का डंडा बरसने वाला है. एक अनुमान के तहत 2020 में ऐसे लोगों के विरुद्ध कार्यवाही की जा सकती है.

loading...
loading...

Check Also

पाकिस्तान में होने वाला है बड़ा खेल, बलि का बकरा बनेंगे इमरान, सम्मान बचाने को सेना देगी नवाज का साथ !

पाकिस्तान में राजनीतिक उथल-पुथल अब अपने चरम पर है। एक तरफ सेना अपनी ताकत को ...