Friday , April 23 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / वायरल वीडियो केस : मेरठ के पत्रकार को पकड़ने पहुंची नोएडा SSP की टीम, फटकार सुन वापस लौटी

वायरल वीडियो केस : मेरठ के पत्रकार को पकड़ने पहुंची नोएडा SSP की टीम, फटकार सुन वापस लौटी

नोएडा। SSP वैभव कृष्ण का वायरल वीडियो मामले में अब एक नया मोड़ आ गया है। कारण, एसएसपी के खिलाफ मेरठ के एक वरिष्ठ पत्रकार पीयूष राय ने शिकायत दी है। जिसमें उसने नोएडा पुलिस द्वारा अवैध ढ़ंग से हिरासत में लिए जाने समेत कई गंभीर आरोप लगाए हैं। पत्रकार द्वारा IG और ADG को पत्र देकर नोएडा एसएसपी समेत नोएडा के सेक्टर-20 थाना प्रभारी राजवीर चौहान और थाना फेज तीन प्रभारी देवेंद्र यादव के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की है। बताया जा रहा है कि इस मामले में आईजी द्वारा नोएडा एसएसपी को फटकार भी लगाई गई है।

बताया जा रहा है कि एसएसपी का कथित वीडियो जब पीयूष के पास पहुंचा तो पत्रकार ने संबंधित वीडियो की जानकारी मेरठ एसएसपी को दी। मेरठ एसएसपी के कहने पर ही पत्रकार ने इसकी जानकारी नोएडा एसएसपी वैभव कृष्ण को दी। पत्रकार ने अपने शिकायती पत्र में कहा है कि जब उन्होंने इसकी जानकारी वैभव कृष्ण को तो उन्होंने अपने व्हाट्सएप पर इन वीडियो को मंगवाया और फिर व्हट्सएप कॉल पर ही बात करने को कहा।

इसके बाद एसएसपी नोएडा ने व्हट्सएप कॉल पर पत्रकार से कहा कि उनका आदमी उससे बात करेगा तो फोन उठा लें। जिस पर कॉल आई और पत्रकार ने बात भी की। इसके बाद उन्हें बताया गया कि इसकी अधिक जानकारी लेने के लिए एक टीम मेरठ आएगी। जब नोएडा पुलिस की टीम सिविल ड्रेस में मेरठ आई तो वह उस समय मेरठ एसएसपी कार्यालय में थे।

पत्रकार द्वारा दिया गया शिकायत पत्र

इस दौरान पीयूष के साथ उसके अन्य साथी में मौजूद थे। नोएडा पुलिस की टीम ने काफी देर तक उससे बातचीत की और जैसे ही वह अपने साथी के साथ बाइक पर मेरठ एसएसपी कार्यालय से जाने लगा तो नोएडा पुलिस ने उसे रोक लिया और कहा कि एसएसपी नोएडा ने उसे गिरफ्तार करने के आदेश दिए हैं। आरोप है कि इस दौरान नोएडा पुलिस ने उसे दबोचने की कोशिश की और धमकी भी दी।

पीड़ित का कहना है कि बड़ी मुश्किल से वह अपनी जान बचाकर एसएसपी मेरठ के आवास पर पहुंचा। जहां उसने सभी बात मेरठ एसएसपी को बताई। जिस पर मेरठ एसएसपी ने नोएडा पुलिसकर्मियों को फटकार लगाई और वहां से जाने को कहा। जिसके बाद पत्रकार ने अब आईजी मेरठ और एडीजी को पत्र लिखकर जान का खतरा बताते हुए एसएसपी नोएडा और उनकी टीम के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की है। जिस पर अधिकारियों द्वारा कार्रवाई करने का अश्वासन दिया है।

एडीजी मेरठ ने बुलाई प्रेस कॉन्फ्रेंस

वहीं इस पूरे प्रकरण पर शुक्रवार को एडीजी मेरठ प्रशांत कुमार द्वारा पत्रकार वार्ता की गई। जिसमें उन्होंने बताया कि मामले की जांच चल रही है। जैसे ही जांच पूरी हो जाएगी इसकी जानकारी सक्षम अधिकारी को की जाएगी। वो ही इस बारे में निर्णय लेंगे। वहीं उन्होंने पत्रकार को उठाए जाने वाले मामले में जानकारी देते हुए बताया कि उन्हें एक शिकायती पत्र मिला है। जिस पर उन्होंने संज्ञान लिया है। इस प्रकरण पर भी वे कार्रवाई करेंगे।

loading...
loading...

Check Also

यूपी में कोरोना : इटावा के जिला अस्पताल में धूल फांकते रहे वेंटिलेटर, न मिलने से 5 लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश के इटावा जिला अस्पताल में वेंटिलेटर की कमी से 5 लोगों की मौत ...