Thursday , April 15 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / MP में कोरोना का कहर : इंदौर-भोपाल-ग्वालियर के बाद छोटे शहरों में भी महामारी के बढ़ने लगे केस

MP में कोरोना का कहर : इंदौर-भोपाल-ग्वालियर के बाद छोटे शहरों में भी महामारी के बढ़ने लगे केस

मध्य प्रदेश के जबलपुर में सोमवार को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई। यहां एक कोरोना संक्रमित बुजुर्ग महिला को किसी अस्पताल में भर्ती नहीं किया गया। बेटा उसे कार में लेकर भटकता रहा और आखिरकार वृद्धा की मौत हो गई। इधर, कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान आज दोपहर से 24 घंटे के लिए भोपाल में स्वास्थ्य आग्रह पर बैठ गए हैं। मिंटो हॉल में डोम बनाया गया है। वहीं से वे आज मध्यप्रदेश की सरकार चला रहे हैं।

राज्य की बात करें तो हालात लगातार बिगड़ रहे हैं। इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर जैसे शहरों के बाद छोटे शहरों में भी केसों की संख्या बढ़ रही है। चिंता की बात ये है कि कोरोना से होने वाली मौतों के आंकड़ों पर सवाल उठ रहे हैं। हेल्थ बुलेटिन में मृतकों की संख्या कम बताई जा रही है, जबकि मुक्तिधामों में अंतिम संस्कार के लिए कोविड शव ज्यादा आ रहे हैं।

मध्य प्रदेश एक दिन पहले ही देश का 7वां सबसे संक्रमित राज्य बन गया है। अब उससे ऊपर महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उप्र, दिल्ली और तमिलनाडु हैं। MP में एक्टिव केस 22654 हो गए हैं। यही रफ्तार रही तो एक महीने में करीब 80 हजार केस बढ़ जाएंगे। वहीं, राज्य में हर दिन 30 हजार सैंपल की जांच हो रही है।

भोपाल: टेस्ट कराने वाला हर 5वां व्यक्ति पॉजिटिव, मौतों के आंकड़ों पर सवाल

भोपाल में सोमवार को रिकॉर्ड 582 नए संक्रमित मिले। यहां एक्टिव केस 4495 हो गए हैं। संक्रमण दर 20 फीसदी पर है। टेस्ट कराने आने वाला हर पांचवां व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिल रहा है। भोपाल में सोमवार को 17 लोगों का अंतिम संस्कार हुआ, जो कोरोना पॉजिटिव थे। वहीं सरकारी रिकॉर्ड में सिर्फ दो मौत दर्ज हैं। सरकार पर मौतों के आंकड़े छिपाने के आरोप लग रहे हैं। इस पर स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हम सौ फीसदी गारंटी नहीं देते कि हमारे द्वारा बताए गए आंकड़े एकदम सही ही होंगे, क्योंकि अब अस्पतालों की संख्या बढ़ गई और हमें सभी अस्पतालों में कोविड से होने वाली मौतों का पूरा आंकड़ा नहीं मिल पा रहा है।

इंदौर: टेस्ट कराने वाला हर छठा व्यक्ति पॉजिटिव, मौतों का आंकड़ा छिपाया जा रहा
प्रदेश में सबसे ज्यादा मरीज इंदौर में ही मिल रहे हैं। हर रोज आंकड़े बढ़ते ही जा रहे हैं। यहां पर 805 मरीज मिले, जो अब तक का सबसे अधिक है। हर 6वां सैंपल पॉजिटिव आ रहा है। एक्टिव केस 5675 हैं। यहां भी मौतों की संख्या को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं। शहर के पांच मुक्तिधामों में 24 घंटे में 25 कोरोना मृतकों के अंतिम संस्कार किए गए, जबकि चार दिन में हेल्थ बुलेटिन में 12 मौत ही बताई गई हैं।

जबलपुर: केसों के मामले में पहली लहर का रिकॉर्ड टूटा, एक दिन में मिले 257 केस

सोमवार को एक वृद्धा की इलाज नहीं मिलने की वजह से मौत हो गई। वृद्धा को लेकर उसका बेटा कार से एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल घूमता रहा, लेकिन एक भी अस्पताल ने वृद्धा को भर्ती नहीं किया। आखिर में कार में ही उसने दम तोड़ दिया। वृद्धा का अंतिम संस्कार चौहानी श्मशान घाट में किया गया। जबलपुर में सोमवार को 1812 सैँपल की जांच में 257 संक्रमित मिले। एक मरीज की मौत भी हुई है। एक दिन में अब तक इतने मरीज कभी नहीं आए थे। पहली लहर में सितंबर 2020 में संक्रमितों का आंकड़ा 251 था।

ग्वालियर: लगातार 6वें दिन केस 100 के पार, नए स्ट्रेन का पता लगाने सैंपल दिल्ली भेजा

लगातार 6वां दिन है जब कोरोना संक्रमितों ने शतक मारा है। सोमवार को 1403 सैंपल की रिपोर्ट में से 160 कोरोना पॉजिटिव आए हैं, जबकि एक की मौत भी हुई है। सोमवार 50 सैंपल की रिपोर्ट दिल्ली भेजी गई है ताकि कोरोना के नए वायरस स्ट्रेन का पता लगाया जा सके। बीते 6 दिन में 760 के लगभग संक्रमित मिल चुके हैं। एक्टिव केस 992 हो गए हैं।

loading...
loading...

Check Also

IPL 2021 : आउट होने पर बौखलाए कोहली, मैदान से बाहर जाते वक्त कुर्सी पर मारा बल्ला, VIDEO वायरल

IPL 2021 के छठां मुकाबला रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के बीच खेला ...