Wednesday , April 21 2021
Breaking News
Home / ऑफबीट / नाख़ून देखकर लगाएं पता, आप बुद्धिमान हो या नहीं ?

नाख़ून देखकर लगाएं पता, आप बुद्धिमान हो या नहीं ?

काफी लोग ऐसे होते है जिन्हें ये मालूम ही नही होता है कि वे बुद्धिमान हैं. कुछ लोग तो ये सोचा करते है कि उनके पेपर में अच्छे मार्क्स नही आए तो वे बुद्धिमान नही है. लेकिन आज हम आपको इस पोस्ट में कुछ ऐसी बाते बताने जा रहे है अगर आपके अंदर भी ये बाते है तो आप भी बुद्धिमान हो. बता दें कि ये बाते साइंटिस्ट ने काफी सालो में दिमाग की रिसर्च करके पता की है. रात में लेट सोने की आदत – अगर आप बुद्धिमान है तो आपको रात लेट सोने की आदत होगी क्योंकि एक बुद्धिमान हमेशा हर जगह से ज्ञान प्राप्त करने के लिए हर जगह से सोचता रहता है इस वजह से वह रातभर इंटरनेट पर कुछ न कुछ जानकारी हासिल करता है.

अगर आप आलसी है –
शायद आप इस बात को माने या न माने लेकिन हम आपको बता दें कि साइंटिस्ट ने जब दिमाग के उपर रिसर्च किया तो ये मालूम हुआ कि जीनियस लोग आम लोगो से काफी ज्यादा आलसी हुआ करते है क्योंकि साइंटिस्ट ने इसका कारण बताते हुए कहा कि आपको खाना खाने के बाद जो एनर्जी मिलती है उसका 20 % एनर्जी दिमाग खा लेता है.

जब एक जीनियस काम कर रहा होता है तो उसका दिमाग आम लोगो के दिमाग से काफी ऊर्जा खाता है और इसी वजह से जीनियस आदमी जल्दी थक जाते है ये लोग कम सामाजिक होते है कम सोशल होना लोगो से बातचीत करने में दिक्कत होना ये सब बाते नेगेटिव तो है लेकिन बहुत खूबियों भरी होती है जिन लोगो की दिमाग की संरचना जटिल होती है उनकी सोच भी जटिल होती है.

सोने से पहले सोचने की आदत –
अगर आप रात को सोने से पहले सोचते है कि आज क्या हुआ कल क्या होगा ये सब एक ही तरफ इशारा करता है कि आपका दिमाग स्मार्ट है और अगले दिन की योजना बना रहा है जो लोग केयरलेस होते है वो ज्यादा नही सोचते और परेशानियों में पड़ जाते है

नाख़ून चबाने के आदत –
भले ही नाख़ून सेहत के लिए नुकसानदायक होते है लेकिन क्या आप जानते है कि नाख़ून चबाने की आदत की कई सारी रिसर्चो ने एक बुद्धिमान और सर्वगुण सम्पन्न इन्सान होने का लक्षण भी बताया है अगर कोई इन्सान जीनियस होता है तो वह सोचने की जिज्ञासा तो रखता ही है.

loading...
loading...

Check Also

लखनऊ में कोविड मरीजों के चयनित 17 अस्पतालों का हाल बेहाल, अब लगाये गए नोडल अधिकारी

– लखनऊ। लखनऊ में कोविड मरीजों के लिए चयनित किए गए 17 अस्पतालों में बेड ...