Wednesday , October 21 2020
Breaking News
Home / सेहत / अब घर बैठे इन तरीको से करे अपनी डायबिटीज को कंट्रोल, जानिए क्या है उपाय

अब घर बैठे इन तरीको से करे अपनी डायबिटीज को कंट्रोल, जानिए क्या है उपाय

आजकल के इस भागदौड़ भरे युग में अनियमित जीवनशैली के चलते जो बीमारी सर्वाधिक लोगों को अपनी गिरफ्त में ले रही है वह है मधुमेह। मधुमेह को धीमी मौत भी कहा जाता है। यह ऐसी बीमारी है जो एक बार किसी के शरीर को पकड़ ले तो उसे फिर जीवन भर छोड़ती नहीं। इस बीमारी का जो सबसे बुरा पक्ष है वह यह है कि यह शरीर में अन्य कई बीमारियों को भी निमंत्रण देती है। मधुमेह रोगियों को आंखों में दिक्कत, किडनी और लीवर की बीमारी और पैरों में दिक्कत होना आम है। पहले यह बीमारी चालीस की उम्र के बाद ही होती थी लेकिन आजकल बच्चों में भी इसका मिलना चिंता का एक बड़ा कारण हो गया है।

 

मधुमेह या डायबिटीज, मेटाबोलिक बीमारियों का एक समूह है। यह एक क्रानिकल बीमारी है, जिसमें पैनक्रियाज जरूरी इंसुलिन बनाना बंद कर देते है। जिससे खून में ग्लूकोज या ब्लड शुगर का स्तर सामान्य से अधिक हो जाता है। ऐसा तब होता है, जब शरीर में इंसुलिन ठीक से न बने या शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन के लिए ठीक से प्रतिक्रिया न दें। जिन मरीजों का ब्लड शुगर सामान्य से अधिक होता है वे अक्सर पॉलीयूरिया (बार बार पेशाब आना) से परेशान रहते हैं। उन्हें प्यास (पॉलीडिप्सिया) और भूख (पॉलिफेजिया) ज्यादा लगती है। अब सवाल यह उठता है कि डायबिटीज कि‍तनी तरह की होती है।

 

मुख्य रूप से डायबिटीज दो तरह की होती है- टाइप-1 और टाइप-2 । टाइप-1 डायबि‍टीज में शरीर में इंसुलिन नहीं बनता। मधुमेह के तकरीबन 10 फीसदी मामले इसी प्रकार के होते हैं। जबकि टाइप 2 डायबि‍टीज में शरीर में पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन नहीं बना पाता। दुनिया भर में मधुमेह के 90 फीसदी मामले इसी तरह के हैं। मधुमेह का तीसरा प्रकार है गैस्टेशनल मधुमेह, जो गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को होती है।

 

डायबिटीज कंट्रोल करने का तरीका

सही एक्सरसाइज, खाना और शरीर के वजन पर नियन्त्रण बनाए रखकर मधुमेह डायबि‍टीज को कंट्रोल किया जा सकता है। यदि मधुमेह पर ठीक से कंट्रोल न रखा जाए तो मरीज में दिल, गुर्दे, आंखें, पैर एवं तंत्रिका संबंधी कई तरह की बीमारियों की संभावना बढ़ जाती है। ‘Nuts’ या मेवे ये वो चीज है जो आपके ब्लड शुगर लेवल को नेचुरली कंट्रोल करेगा और टेस्ट को भी बढ़ाएगा। जो ताकत और स्वाद से भरपूर होता है तथा जो आपकी डायबिटीज को कंट्रोल करेंगे और ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करेंगे।

 

डायबिटीज में खाए जाने वाले मेवे

अमेरिकन हार्ट एसोशिएशन के अनुसार टाइप-2 डायबिटीज के मरीजों को दिन के रोग होने की संभावना दोगुने से चोगुनी बढ़ जाती है। नट्स या मेवों में हेल्दी फैट होता है जो दिल के लिए अच्छा होता है तथा यह हृदय रोगों से बचाता है। यह डायबिटीज के मरीजों के लिए काफी अच्छे साबित होते हैं। एक तरफ तो मेवे आपको ब्लड शुगर लेवल को सही रखने में मददगार होते हैं वहीं दूसरी तरह ये हार्ट के लिए भी अच्छे होते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कौन से नट्स या मेवे आपके लिए अच्छे साबित होंगे।

 

डायबिटीज कंट्रोल करने का तरीका

सही एक्सरसाइज, खाना और शरीर के वजन पर नियन्त्रण बनाए रखकर मधुमेह डायबि‍टीज को कंट्रोल किया जा सकता है। यदि मधुमेह पर ठीक से कंट्रोल न रखा जाए तो मरीज में दिल, गुर्दे, आंखें, पैर एवं तंत्रिका संबंधी कई तरह की बीमारियों की संभावना बढ़ जाती है। ‘Nuts’ या मेवे ये वो चीज है जो आपके ब्लड शुगर लेवल को नेचुरली कंट्रोल करेगा और टेस्ट को भी बढ़ाएगा। जो ताकत और स्वाद से भरपूर होता है तथा जो आपकी डायबिटीज को कंट्रोल करेंगे और ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करेंगे।

 

डायबिटीज में खाए  मेवे

अमेरिकन हार्ट एसोशिएशन के अनुसार टाइप-2 डायबिटीज के मरीजों को दिन के रोग होने की संभावना दोगुने से चोगुनी बढ़ जाती है। नट्स या मेवों में हेल्दी फैट होता है जो दिल के लिए अच्छा होता है तथा यह हृदय रोगों से बचाता है। यह डायबिटीज के मरीजों के लिए काफी अच्छे साबित होते हैं। एक तरफ तो मेवे आपको ब्लड शुगर लेवल को सही रखने में मददगार होते हैं वहीं दूसरी तरह ये हार्ट के लिए भी अच्छे होते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कौन से नट्स या मेवे आपके लिए अच्छे साबित होंगे।

 

1. अखरोट से डायबिटीज कंट्रोल करें

Image result for अखरोट

 

विटामिन ई से भरपूर अखरोट खाने में बहुत टेस्टी होता है और इसमें कैलोरी भी कम होती है। टाइप-2 डायबिटीज मरीजों के लिए यह अच्छा साबित होता है तथा यह केलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में भी सहायक होता है।

 

2. बादाम से डायबिटीज कंट्रोल करें

Image result for बादाम

 

बादाम खाने के बाद ये ब्लड शुगर लेवल के एकदम से ऊपर जाने की समस्या को नियंत्रित करता है। तथा बादाम खाने से इंसुलिन बनने की प्रक्रिया बढ़ जाती है।

 

3. काजू से डायबिटीज कंट्रोल करें

काजू एक लो फैट मेवा होता है, काजू में मिलने वाला 75 फीसदी फैट आलेइक एसिड होता है, जिसे मोने सेचुरेटिड फैट के तौर पर भी जाना जाता है। इसके साथ ही साथ काजू ब्लड शुगर लेवल को भी नियंत्रित करता है।

Image result for काजू

loading...
loading...

Check Also

ये काम करने वालों के हमेशा काले रहते बाल, सफ़ेद वाले भी हो जाएंगे जवान !

इस दुनिया में हर कोई चाहता है, कि वो कई सालो तक जवान दिखे. पर ...