Friday , April 23 2021
Breaking News
Home / ऑफबीट / OMG : विवाह भी-निकाह भी बचपन की दोस्ती से प्यार में बदला रिश्ता, चर्चा का विषय बनी शादी…

OMG : विवाह भी-निकाह भी बचपन की दोस्ती से प्यार में बदला रिश्ता, चर्चा का विषय बनी शादी…

कहते है प्यार किसी जात, धर्म, मजहब ऊंच नीच या अमीर गरीब देखकर नहीं होता प्यार की एक अलग दुनिया होती है. जहां दो प्यार करने वाले इंसान एक साथ अपनी जिंदगी बिताते है और अपनी अलग दुनिया बसाते हैं. लेकिन आए दिन बहुत से रिश्ते केवल परिवार वालों के मना करने से टूट जाते हैं. कुछ लोग मना करने पर कई भयानक कदम तक उठा लेते हैं. तो कई रिश्ते मिसाल बन जाते हैं.

इसी बीच एक ऐसी ही शादी का मामला सामने आया है जहां बचपन की दोस्ती का रिश्ता देखते ही देखते पति-पत्नी के रिश्ते में बदल गया पता नहीं लगा. अच्छे दोस्त से कब प्यार हुआ फिर शादी पता नहीं लगा. लेकिन इसमें खास बात तो ये है कि इसमें धर्मों में अंतर होने के बावजूद एक पवित्र बंधन से दो धर्म एक हो गए. दरअसल, मामला महाराष्ट्र के कोल्हापुर से सामने आया हैं. जहां एक हिंदू लड़का और एक मुस्लिम लड़की एक दूसरे से बचपन से ही प्यार करते थे. जोकि आज पति-पत्नी बन चुके हैं. ये शादी परिवार वालों की मर्जी से हुई साथ ही दोनों ने दोनों समुदायों के हिसाब से शादी की. जी हां दोनों ने एक ही मंडप पर मंगलाष्टका और निकाह कबूल दोनों विधियां और रीति-रिवाज संपन्न किए. बचपन का प्यार इतना गहरा था कि मजहब की दीवार आड़े नहीं आई. इस दौरान परिवार वाले भी उदार और समझदार रहे. उन्होंने भी दिल से दुआएं दीं कि दोनों अपने जीवन में खुश रहें और एक दूजे के लिए दोनों के दिलों में इसी तरह से प्यार रहे.

जिसके बाद से ही दोनों की जोड़ी आदर्श जोड़ी बन गई हैं. जिन्होंने एक-दूसरे के साथ विवाह भी रचाया है और निकाह भी कबूल किया. बता दें कि कोल्हापुर के सत्यजीत संजय यादव और मारशा नदीम मुजावर बचपन  से ही एक-दूसरे के अच्छे दोस्त रहे हैं. लेकिन दोस्ती कब प्यार में तब्दील हो गई, पता ही नहीं लगा. कोल्हापुर के रंकाळा में रहने वाले सत्यजित सिविल इंजीनियर हैं और मारशा आर्किटेक्ट हैं. दोनों की दोस्ती 12 साल पुरानी है. तो देखा आपने प्यार के आड़े धर्म की दीवार भी नहीं आ पाई और दोनों ने प्यार की सुंदर सी दुनिया में एक-दूसरे के साथ अपनी नई जिंदगी शुरू कर दी. आपको हमारी ये खबर कैसे लगी हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं.

loading...
loading...

Check Also

30 अप्रैल को है महिला कांस्टेबल की शादी, लॉकडाउन के कारण छुट्‌टी नहीं मिली तो थाने में ही रस्म अदायगी

डूंगरपुर।  आमतौर पर थानों में चोर-बदमाश की धरपकड़ की बातें, मुजरिमों को हड़काने की आवाज ...