Wednesday , October 28 2020
Breaking News
Home / क्राइम / जलती लड़की को राख बनते देखते रहे पुलिसवाले, क्योंकि अफसर नहीं आए थे !

जलती लड़की को राख बनते देखते रहे पुलिसवाले, क्योंकि अफसर नहीं आए थे !

ये हैरान कर देने वाला मामला मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले से सामने आया है. जहाँ 22 साल की लड़की ने मिट्टी का तेल डालकर खुद को आग के हवाले कर लिया। इस बीच पुलिस  का असंवेदनशील चेहरा देखने को मिला बता दे इस घटना के कुछ देर बाद पुल‍िस पहुंच गई. पुल‍िस जलती हुई लड़की को बचाने की बजाय खुद बाहर बैठ गई और क‍िसी को भी अंदर नहीं जाने द‍िया. करीब तीन घंटे बाद एफएसएल की टीम आई तब लड़की की आग बुझाई गई. पुल‍िस के सामने ही करीब तीन घंटे तक लड़की आग की लपटों में जलती रही.

जानकारी के लिए बता दे जब लड़की के जलने का वीड‍ियो जब  वायरल हुआ तब सारी हकीकत उजागर हुई. वायरल वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि जब एफएसएल महिला अधिकारी चंदा आंजना मौके पर पहुंची तो पहले भाऊ गढ़ थाना प्रभारी आरसी गौड सामान्य बात करते नजर आ रहे हैं.

बता दे इस नज़ारे को देखने के बाद लोगो ने रौंगटे खड़े हो गए. वही जब कमरे का दरवाजा खुला तो एफएसएल अधिकारी खुद ही बोल पड़ी क‍ि पहले आप लोग आग तो बुझाइए. इससे साफ प्रतीत हो रहा है कि मौके पर पहले से स्थित पुलिसकर्मी अधिकारी का इंतजार कर रहे थे और उन्होंने पौने 3 घंटे तक जलती हुई लड़की को आग से मुक्ति नहीं दिलाई थी. पुल‍िस के सामने ही लड़की जलती रही. बता दे इस पूरे मामले से संबंधित कुछ वीडियो सोशल मीडिया में तेज़ी वायरल हुए हैं, जिनमें साफ दिख रहा है कि लड़की घंटों तक जलती रही और पुलिस एफएसएल अधिकारी के इंतजार का बहाना करके चुपचाप बैठी रही. पुलिस ने ऐसी कोई कोशिश नहीं की, जिससे लड़की को आग से बचाया जा सके या उसे तुरंत अस्पताल ले जाया जा सके. 22 साल की मह‍िला की दो साल पहले ही शादी हुई थी और कुछ समय से वह अपने प‍िता के घर ही रह रही थी.

वही इस घटना पर  लड़की के प‍िता कोमल टेलर का कहना है क‍ि जैसे ही मुझे खबर मिली कि मेरी लड़की ने खुद पर घासलेट डालकर आग लगा ली है तो मैं दौड़कर घर आया, फिर पुलिस को बुलाया. पुलिस ने आकर खिड़की तोड़ी. थाना प्रभारी ने मुझे अंदर भी नहीं जाने दिया और बाहर ही सब को रोक लिया और कहा कि जब तक मंदसौर से एफएसएल अधिकारी नहीं आ जाती तब तक कुछ नहीं कर सकते हैं. लगभग पौने 3 घंटे तक मेरी बेटी अंदर जलती रही और पुलिस बाहर बैठी रही. बाद में जो अधिकारी आई तो उन्होंने आग बुझाई. समय पर यदि उसे अस्पताल ले जाते तो मेरी बेटी बच जाती. ऐसे पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.

loading...
loading...

Check Also

3 महीने पहले परिवार से लड़कर जिसे बनाया बीवी, कुत्ते को बांधने वाली जंजीर से उसकी जान ले ली

इंदौर के जावरा कंपाउंड इलाके में पति ने ही अपनी पत्नी की पहले कुत्ते को ...