Saturday , February 27 2021
Breaking News
Home / अपराध / Red Fort Violence: दीप सिद्धू का सनसनीखेज खुलासा, लाल किले के बाद इस जगह जाने की थी तैयारी

Red Fort Violence: दीप सिद्धू का सनसनीखेज खुलासा, लाल किले के बाद इस जगह जाने की थी तैयारी

नई दिल्ली
ट्रैक्टर रैली के दौरान 26 जनवरी को हुई हिंसा के आरोपी दीप सिद्धू और इकबाल सिंह को लेकर क्राइम ब्रांच शनिवार को लाल किला पहुंची। लाल किला पर मचे कोहराम की सिल-सिलेवार कड़ी जोड़ने के लिए क्राइम सीन रिक्रिएट किया गया। दोनों के जरिए उस दिन लाल किला पहुंचने का रूट मैप भी बनाया गया। आरोपी दीप सिद्धू ने खुलासा किया कि उसका इरादा लाल किला के बाद हुड़दंगियों के साथ इंडिया गेट भी जाने का था। लेकिन बवाल ज्यादा होने से आईटीओ समेत कई जगह पर भारी तादाद में फोर्स को बढ़ाने से वह लाल‌ किला से लौट गया। छानबीन के बाद वापस चाणक्यपुरी में लौट गई।

किसी के कहने पर आंदोलन से नहीं जुड़ा
जांच से जुड़े सूत्रों के मुताबिक दीप सिद्दू और इकबाल से पूछा गया कि वे लाल किला में कैसे घुसे और कितने लोग साथ थे, जो उनका समर्थन कर रहे थे। लाल किला में घुसने के बाद वह प्राचीर तक कैसे पहुंचे। इसकी पूरी मैपिंग की गई। दोनों से मिली जानकारियों का विडियो से मिलान करवाया गया। पूछताछ में दीप ने बताया कि वह किसी कट्टरपंथी संगठन से नहीं जुड़ा है। किसी के कहने पर आंदोलन में हिस्सा नहीं ले रहा है। दीप से कट्टरपंथियों के नाम उगलवाने की कोशिश की गई तो किसी से पहचान होने की बात से मुकर गया।

यूथ लोगों के सपोर्ट से आने लगा था मजा
पुलिस पूछताछ में उसने बताया है कि लॉकडाउन में काम नहीं था। पंजाब में किसान आंदोलन की शुरुआत हुई तो उससे जुड़ गया। यूथ लोग उसका जमकर सपोर्ट करते थे, जिससे उसे मजा आने लगा था। वह 27 नवंबर को किसानों के जत्थे के साथ दिल्ली आया था, लेकिन फिर लौट गया था। वह दोबारा 26 जनवरी से पहले ही दिल्ली पहुंचा। ट्रैक्टर रैली से लाल किला जाने का फैसला किया। लाल किला कांड में गिरफ्तार तीसरे आरोपी सुखदेव सिंह फिलहाल न्यायिक हिरासत में जेल में है।

तैयार करवाया लाल किला का रूट
इकबाल और दीप लाल किला जिस रूट से पहुंचे थे, उन पर क्राइम ब्रांच की टीम दोनों को ले गई। इसका पूरा रूट तैयार किया गया। पुलिस ने इन इलाकों की सीसीटीवी फुटेज पहले ही कब्जे में ले रखी है। दीप ने खुलासा किया है कि आंदोलन में मौजूद लड़कों से जानकारी जुटाकर पहले ही लाल किला जाने का रूट कर लिया था। उसका दावा है कि हिंसा करने का कोई इरादा नहीं था। क्राइम ब्रांच की टीम ने करीब एक घंटे तक दोनों आरोपियों को लेकर छानबीन करती रही। दोपहर करीब 1:50 बजे क्राइम ब्रांच की टीम दोनों आरोपियों को लाल किला से वापस अपने चाणक्यपुरी स्थित क्राइम ब्रांच के दफ्तर ले गई।

अफवाह फैलाने वाले 50 वॉट्सऐप ग्रुप्स की पहचान
साइबर सेल से जुड़े सूत्रों ने बताया कि किसानों की ट्रैक्टर परेड से 4-5 दिन पहले ही सैकड़ों की संख्या में मोबाइल नंबर ऐक्टिवेट हुए थे। इन्हीं सिम पर पहले फर्जी विडियो अपलोड हुए और वॉट्सऐप ग्रुप पर शेयर किए गए। ऐसे 50 वॉट्सऐप ग्रुप की पहचान हुई है। इनकी लोकेशन और पतों की पड़ताल की जा रही है। इन वॉट्सऐप ग्रुप के सदस्यों और ऐडमिन पर कार्रवाई हो सकती है।

loading...
loading...

Check Also

ये घरेलू नुस्खा है जबरदस्त, खोल कर रख देता शरीर की हर ब्लॉक नस

आजकल गलत खानपान की वजह से बहुत से लोग हार्ट की बीमारियों से गुजर रहे ...