Sunday , January 17 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / सरकार की शानदार स्कीम में बेटियों को मिलेंगे 15000 रुपये, ऐसे उठाएं लाभ

सरकार की शानदार स्कीम में बेटियों को मिलेंगे 15000 रुपये, ऐसे उठाएं लाभ

Kanya Sumangala Yojana: कोई भी माता-पिता अपनी बेटी के भविष्य को लेकर सबसे ज्यादा चिंतित रहते हैं. बेटी की शिक्षा और ब्याह-शादी के लिए उसके जन्म से ही प्लान करके चलना पड़ता है. लेकिन उन लोगों का क्या जो पानी पीने के लिए रोजना कुआं खोदते हैं. ऐसे लोगों के लिए केंद्र और राज्य सरकारें समय-समय पर स्कीम लाती है, जिनमें उन्हें अपने बच्चे का फ्यूचर मजबूत करने में मदद मिलती है.

आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की लड़कियों की शिक्षा और उनके अच्छे भविष्य के लिए उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में एक बहुत ही अच्छी योजना चल रही है. इस योजना में बेटी पढ़ाई में मदद दी जाती है. पढ़ाई के हर स्तर पर यूपी सरकार (UP Government) मदद करती है. इस योजना का नाम है मुख्यमंत्री कन्‍या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana). योगी सरकार (Yogi Government) की इस योजना में बेटियों की शिक्षा और स्वास्थ्य, दोनों का ही ख्याल रखा जाता है.

कन्‍या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana)
मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की बेटियों की पढ़ाई का खर्च राज्य सरकार खुद उठाती है. इस योजना के तहत बेटी के जन्‍म के समय 2 हजार रुपये, एक साल का टीकाकरण पूरा करने के बाद 1 हजार रुपये, पहली कक्षा में दाखिले के समय 2 हजार रुपये, छठी कक्षा में आने पर 2 हजार रुपये और नौवीं कक्षा में दाखिले के समय 3 हजार रुपये दिए जाते हैं.

10वीं और 12वीं कक्षा का एग्जाम पास करके या दो साल के किसी डिप्‍लोमा कोर्स में दाखिला लेने पर 5 हजार रुपये की मदद दी जाती है.

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के लिए यूपी सरकार ने पिछले साल 1,200 करोड़ रुपये जारी किए थे. योजना के तहत लाभार्थियों के खाते में डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर (DBT) के माध्यम से पैसा जमा किया जाता है.

कौन ले सकता है लाभ (Kanya Sumangala Yojana beneficiary)
मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना गरीब वर्ग के लोगों के लिए शुरू की गई है. इस योजना का लाभ उन्हीं लोगों को दिया जाएगा जिनकी सालाना आमदनी 3 लाख रुपये या फिर इससे कम है. एक परिवार से ज्यादा से ज्यादा दो बालिकाओं को योजना का लाभ मिलेगा. अगर किसी महिला को जुड़वां बच्चियां होती हैं और इसके बाद तीसरी संतान भी बेटी होती है तो तीसरी बेटी को भी इस योजना के लिए पात्र माना जाएगा.

ध्यान रहे कि यह योजना उत्तर प्रदेश में ही है, इसलिए योजना के तहत अप्लाई करने वाला उत्‍तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए.

योजना में ऐसे मिलता है लाभ
– सबसे पहले बच्ची के जन्म के समय एक 2 हजार रुपये दिए जाएंगे.
– बेटी के टीकाकरण के समय 1 हजार रुपये की मदद दी जाएगी.
– बच्ची के पहली कक्षा में प्रवेश के समय 2 हजार रुपये दिए जाएंगे.
– बिटिया के छठवीं कक्षा में प्रवेश के समय 2 हजार रुपये दिए जाएंगे.
– नौवीं कक्षा में प्रवेश के समय 3 हजार रुपये की मदद दी जाएगी.
– 10वीं और 12वीं कक्षा की पढ़ाई के लिए 5 हजार रुपये दिए जाते हैं.

loading...
loading...

Check Also

यूपी के इन 22 जिलों की जमने जा रही कुल्फी, मौसम विभाग दिया ‘कोल्ड डे’ का अलर्ट

उत्तर प्रदेश में अभी तक लोग शीतलहर का प्रकोप झेल रहे थे। लेकिन अब पाला ...