Monday , January 25 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / सस्ता सोना खरीदने का मौका दे रही सरकार, अच्छे डिस्काउंट का जरूर उठाएं लाभ

सस्ता सोना खरीदने का मौका दे रही सरकार, अच्छे डिस्काउंट का जरूर उठाएं लाभ

अगर आप सोने में इनवेस्टमेंट (investment in gold) शुरू करने के बारे में काफी समय से सोच रहे हैं तो सरकार आपके लिए अच्छा मौका लेकर आई है. सरकार ने Gold Bond 2020-21 (सीरीज X) का ऐलान कर दिया है. इस गोल्ड बॉन्ड (gold bond) में आप 11 जनवरी, 2021 से 15 जनवरी, 2021 तक इनवेस्टमेंट कर सकेंगे. सेटेलमेंट डेट 19 जनवरी, 2021 होगी. सॉवरेन गोल्ड बॉन्‍ड 2020-21 (सीरीज X) में इनवेस्टमेंट के लिए सोने की कीमत 5,104 रुपये (पांच हजार एक सौ चार रुपये मात्र) प्रति ग्राम तय की गई है. RBI ने 8 जनवरी, 2021 कोसोने की कीमत का ऐलान किया.

कीमत पर मिलेगा डिस्काउंट
भारत सरकार (Government of India) ने भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) के साथ परामर्श से उन निवेशकों को निर्गम मूल्य पर 50 रुपये (fifty rupees only) प्रति ग्राम छूट देने का निर्णय लिया है जो ऑनलाइन आवेदन करेंगे और डिजिटल मोड के माध्यम से भुगतान करेंगे. इस तरह के निवेशकों के लिए गोल्ड बॉन्ड का निर्गम मूल्‍य 5,054 रुपये (पांच हजार चौवन रुपये मात्र) प्रति ग्राम होगा.

1 ग्राम सोने में भी कर सकते हैं निवेश
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम (Sovereign Gold Bond) के तहत आप एक ग्राम सोने में भी निवेश कर सकते हैं. आप यहां एक साल में कम से कम एक ग्राम और ज्यादा से ज्यादा 500 ग्राम सोना खरीद सकते हैं. खास बात ये है कि गोल्ड बॉन्ड में निवेश करने से आपको टैक्स छूट भी मिलती है. Sovereign Gold Bond को आप अपने बैंक, स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, चुनिंदा पोस्ट ऑफिस,  नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) या बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) से खरीद सकते हैं.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश करना फिजिकल गोल्ड की तुलना में ज्यादा सुरक्षित है. वहीं, आपको जब पैसे की जरूरत हो तो आप आसानी से अपना सोना बेच भी सकेंगे. सरकार अलग-अलग समय पर सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्‍ड (SGB) जारी करती है. जब कभी इसके इश्‍यू को जारी किया जाता है, निवेशक SGB को सब्‍सक्राइब कर सकते हैं. निवेशक 1 ग्राम से इसमें निवेश कर सकते हैं. अलॉटमेंट पर उन्‍हें गोल्‍ड बॉन्‍ड सर्टिफिकेट दिया जाता है. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत एक निवेशक एक साल में ज्यादा से ज्यादा 400 ग्राम सोने के बॉन्ड खरीद सकता है. इस स्कीम में इनवेस्ट करके आप टैक्स बचा सकते हैं. भुनाते समय निवेशक को सोने का मूल्‍य प्राप्‍त होता है. इसका रेट पिछले तीन दिनों के औसत क्‍लोजिंग प्राइस पर तय होता है. निवेशक बैंक ब्रांच, पोस्‍ट ऑफिस, स्‍टॉक एक्‍सचेंजों में इसमें सीधे या अपने एजेंट्स के जरिए अप्‍लाई कर सकते हैं.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम की खास बातें
नवंबर 2015 में इस योजना की शुरुआत हुई थी. इससे फिजिकल गोल्ड की मांग में कमी लाने और सोने की खरीद में इस्‍तेमाल होने वाली घरेलू बचत का इस्तेमाल वित्तीय बचत में करना है. घर में सोना खरीद कर रखने के बजाए अगर आप सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्‍ड में निवेश करते हैं, तो आप टैक्‍स भी बचा सकते हैं. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के निवेश करने वाला व्यक्ति एक कारोबारी साल में अधिकतम 500 ग्राम सोने के बॉन्ड खरीद सकता है. वहीं न्यूनतम निवेश एक ग्राम का होना जरूरी है.

एक साल में इतना सोना खरीद सकते हैं
कोई भी व्यक्ति या HUF एक कारोबारी साल में अधिकतम 4 किलो ग्राम सोने का बान्ड खरीद सकता है. कुल मिलाकर व्यक्तिगत तौर पर बॉन्ड खरीदने की सीमा 4 किलो है. ट्रस्ट या संगठन के लिए 20 किलोग्राम तय की गई है. इस योजना की मैच्‍योरिटी मियाद 8 साल है. अगर फिर भी बॉन्ड बेचना चाहते हैं तो कम से कम 5 साल का इंतजार करना होगा. इस स्कीम में निवेश करने पर आप टैक्स बचा सकते हैं. स्कीम के तहत निवेश पर 2.5 फीसदी का सालाना ब्याज मिलेगा.

loading...
loading...

Check Also

छिपकली-चूहे हों या मच्छर-कॉकरोच, ये है सबको भगाने के आसान तरीके

मौसम बदलने के साथ ही इन सभी कीट, कीड़े मकोड़ों का आतंक सभी घरों में ...