Thursday , July 16 2020
Breaking News
Home / क्राइम / Tik-Tok स्टार को हुई 3 साल की जेल, गुनाह- फैला रहीं ‘अश्लीलता’

Tik-Tok स्टार को हुई 3 साल की जेल, गुनाह- फैला रहीं ‘अश्लीलता’

मिस्र की मशहूर बेली-डांसर समा-एल मासरी (Sama el-Masry) को तीन साल की जेल और करीब 14 लाख रुपये के जुर्माने की सजा दी गई है। उनके सोशल मीडिया पोस्ट्स को लेकर उनपर व्यभिचार और अनैतिक आचरण का आरोप लगाया गया है। समा को अप्रैल में उनके सोशल मीडिया पोस्ट्स, फोटोज और वीडियो की जांच के बाद गिरफ्तार किया गया था। समा का टिक-टॉक अकाउंट भी था। उनके कॉन्टेंट को उत्तेजक मानते हुए यह सजा सुनाई गई है। वहीं, समा का कहना है कि वह इस आदेश के खिलाफ अपील करेंगी।

‘फोन से चुराए वीडियो, फोटो’

वहीं, 42 साल की डांसर ने इन भी आरोपों का खंडन किया है। उनका कहना है कि जिस कॉन्टेंट के आधार पर उन्हें सजा सुनाई गई है वह उनके फोन से बिना उनकी इजाजत के चुराया गया है। कायरो की अदालत ने शनिवार को कहा कि समा ने पारिवारिक और राष्ट्रीय मूल्यों का उल्लंघन किया है और सोशल मीडिया पर अकाउंट बनाकर उनका इस्तेमाल अनैतिक आचरण के लिए किया है।

‘दूसरी महिलाओं को हो ऐसी ही सजा’

टिक-टॉक पर वीडियो अपलोड करने वाली समा और दूसरी महिलाओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए संसद के सदस्य जॉन तलात ने कहा कि आजादी और व्यभिचार के बीच में बहुत फर्क है। तलात ने कहा है कि समा और दूसरी महिला सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर पारिवारिक परंपराओं और मूल्यों को खत्म कर रही हैं, ऐसी गतिविधियों से जिन्हें कानून और संविधान ने बैन कर रखा है।

सरकार के पास इंटरनेट सेंसर करने का अधिकार

बीते महीनों में कई महिला टिक-टॉक, यूट्यूब और इंस्टाग्राम यूजर्स को गिरफ्तार किया गया है। उनके ऊपर देह व्यापार तक के आरोप लगे हैं। तलात ने कहा है कि उन सभी के खिलाफ ऐसी ही कार्रवाई होनी चाहिए जैसे समा के खिलाफ हुई है। साल 2018 में मिस्र में एक साइबर क्राइम कानून बनाया गया था जिसके बाद सरकार को इंटरनेट का कॉन्टेंट सेंसर करने और सर्विलांस बैठाने का पूरा अधिकार मिल गया था। इस कानून के तहत 2 साल की सजा और 14 लाख रुपये का जुर्माना हो सकता है।

Check Also

कोरोना: हॉस्पिटल ने मरीज़ का माफ किया ₹1.52 करोड़ का बिल, वजह भी जान लीजिये

कोरोना वायरस की वजह से बहुत से लोग अस्पतालों में भर्ती हैं। सरकारी अस्पताल में ...