Wednesday , December 2 2020
Breaking News
Home / ख़बर / Today’s Chanakya का एग्जिट पोल: तेजस्वी रचेंगे बिहार में इतिहास, सीटें मिलेंगी छप्परफाड़ !

Today’s Chanakya का एग्जिट पोल: तेजस्वी रचेंगे बिहार में इतिहास, सीटें मिलेंगी छप्परफाड़ !

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Chunav 2020) में शनिवार को तीसरे चरण की वोटिंग के साथ ही चुनाव संपन्न हो गया है। अब सभी की निगाहें चुनाव नतीजों पर है। 10 नवंबर को मतगणना के बाद फाइनल नतीजे सामने आएंगे। हालांकि, नतीजों से पहले बिहार चुनाव में इस बार किसकी सरकार बन सकती है इसको लेकर चाणक्य ने एग्जिट पोल किया है। बिहार चुनाव के लिए चाणक्य के एग्जिट पोल (Exit Poll Bihar Election 2020) में किसे कितनी सीटें मिलने की संभावना है, इसकी जानकारी हम आपको दे रहे हैं। आप एग्जिट पोल के जरिए अनुमान लगा सकेंगे कि बिहार में किसका पड़ला भारी है और जनता किसपर भरोसा जता रही है।

टुडेज चाणक्य के बिहार विश्लेषण के मुताबिक, जेडीयू वाले एनडीए गठबंधन के खाते में 55 सीटें और आरजेडी नेतृत्व वाले महागठबंधन को 180 सीटें मिल सकती हैं। महागठबंधन क्लीन स्वीप करते हुए दिखाई दे रहा है। जबकि अन्य के खाते में 8 सीटें जा सकती हैं।

टुडेज चाणक्य के एग्जिट पोल में वोटों का अनुमान- जेडीयू वाले एनडीए को 34 प्रतिशत वोट मिलने का अनुमान है। जबकि आरजेडी वाले महागठबंधन को 44 प्रतिशत वोट और अन्य के खाते में 22 प्रतिशत वोट जाने की संभावना है।

Today’s Chanakya Exit Polls for Bihar के लिए कई सवाल किए गए। लोगों से पूछा गया-

क्या आप राज्य में सरकार बदलना चाहते हैं? इस सवाल के जवाब में 63 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वो सरकार बदलना चाहते हैं। जबकि 27 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वो सरकार नहीं बदलना चाहते हैं।

वोटिंग पर किस मुद्दे ने असर डाला? इस पर 35 प्रतिशत लोगों ने बेरोजगारी को बड़ा मुद्दा माना। जबकि 19 प्रतिशत लोगों की नजर में भ्रष्टाचार बड़ा मुद्दा रहा। वहीं 34 प्रतिशत लोगों के लिए अन्य मुद्दे रहे।

मौजूदा मुख्यमंत्री को क्या रेटिंग देगें? इसके जवाब में 21 प्रतिशत लोगों ने मौजूदा सीएम को अच्छा माना, जबकि 29 प्रतिशत लोगों ने औसत और 37 प्रतिशत लोगों ने मुख्यमंत्री को बुरा माना।

इस चुनाव में जातियां किधर जाएंगी? टुडेज चाणक्य के मुताबिक- अगड़ी जातियां में से 60 प्रतिशत लोग जेडीयू (एनडीए) के साथ और 29 प्रतिशत आरजेडी (महागठबंधन) के साथ जा सकते हैं। यादव 22 प्रतिशत जेडीयू+ और 69 प्रतिशत आरजेडी+ के साथ जाने की संभावना है। जबकि मुस्लिम में 12 प्रतिशत जेडीयू+ के साथ और 80 प्रतिशत आरजेडी+ के साथ जाने की उम्मीद है। कुल मिलाकर देखा जाए तो आरजेडी के लिए MY समीकरण (मुस्लिम-यादव) ने फायदा पहुंचाते दिख रहे हैं।

वहीं अनुसूचित जाति में से 39 प्रतिशत जेडीयू+ के साथ जबकि 34 फीसदी आरजेडी वाले महागठबंधन के साथ जाने की संभावना है। वहीं आर्थिक रूप से पिछड़ी जाति में 40 फीसदी जेडीयू नेतृत्व वाले एनडीए और 33 प्रतिशत आरजेडी+ के साथ जा सकती हैं। बात अगर अन्य पिछड़ा जाति की करें तो 51 प्रतिशत एनडीए के साथ और 30 प्रतिशत महागठबंधन के साथ जाती हुई दिख रही हैं।

loading...
loading...

Check Also

वीडियो : किसानों को गाली दिए BJP सांसद, बोले- ‘कहीं और जाकर मरो’

बीजेपी आईटी सेल के बाद अब भाजपा नेता भी किसानों को गालियां देने लगे हैं। ...