Thursday , March 4 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / UP में गुटखा-पान खाकर गंदगी करने वालों पर सरकार सख्त, यहां-वहां थूंकने पर लगेगा भारी जुर्माना

UP में गुटखा-पान खाकर गंदगी करने वालों पर सरकार सख्त, यहां-वहां थूंकने पर लगेगा भारी जुर्माना

देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश की कमान संभालने वाली योगी सरकार सूबे के विकास के लिए लगातार कई बड़े फैसले ले रही है. जिसे प्रदेश को एक अलग पहचान मिल सके. चाहे वो प्रदेश में माफिया राज खत्म करने की बात हो या चाहे कोरोना जैसी आपदा को अवसर में बदलने की बात हो. हर जगह सीएम योगी ने अपने फैसलों से अपनी अलग पहचान बनाई हैं. जिसके कारण सीएम योगी की तारीफ़ देश में ही नहीं बल्कि विदेश में भी की जाती हैं. तो इसी बीच प्रदेश को स्वच्छ बनाने के लिए सरकार ने एक और फैसला लिया हैं. जिसमें योगी सरकार ने सिंगापुर की तर्ज पर प्रदेश को स्वच्छ बनाने के लिए कदम उठाया है. इसके तहत सड़कों पर थूंकने या गंदगी फैलाने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. इस कदम को लेकर सरकार का मानना है कि ऐसे जुर्माना लगाने से लोग शहर को स्वच्छ रखने लगेंगे.

तो वहीं इस कदम पर अब नगर विकास विभाग ने लोगों से राय और सुझाव मांगे हैं. मिली जानकारी के मुताबिक गाड़ी चलाते वक्त अगर कोई इंसान सड़क पर थूकता है या गंदगी फैलता है तो उसे 1000 रुपये जुर्माना देना पड़ेगा. ऐसे में गुटखा खाने वालों के लिए मुश्किल बढ़ जाएंगी और जुर्माना के डर से प्रदेश में सफाई रहने उम्मीद की जी सकती हैं. बता दें कि इससे पहले भी सरकार ने प्रदेश को स्वच्छ बनाने के लिए कई योजनाएं चलाई हैं.

जिसमे शहरों में जरूरत के आधार पर गीला और सूखा कूड़ा डालने के लिए अलग-अलग डिब्बे रखवाए गए हैं. जिसे लोग गीले और सूखे कचरे को डिब्बों में डाल सके. इसके साथ डोर-टू-डोर योजना भी प्रदेश को साफ रखने लिए लगातार चलाई जा रही है. जिसे घर के सामने ही कूड़े की गाड़ी आ जाती है और लोगों को उसमे कूड़ा फेंकना होता हैं. हालांकि गंदगी फैलाने पर जुर्माने के लिए अभी तक प्रावधान नहीं था, लेकिन अब सरकार ऐसा करने जा रही है. कुछ नगर निगम इसकी वसूली जरूर करते हैं, अब प्रस्तावित नियमावली में यह स्पष्ट कर दिया गया है.

इस नए कदम से शहरों में सामूहिक आयोजन या कार्यक्रमों का अगर आयोजन किया जाता है जिसमें 100 से अधिक लोग शामिल होते हैं तो कार्यक्रम खत्म होने के बाद वहां सफाई कराना अनिवार्य कर दिया जाएगा. अगर ऐसा नहीं होता तो आयोजकों को जुर्माना भरना होगा. जुर्माने की यह राशि क्षेत्रफल, कचरे और के हिसाब से तय की जाएगी.

loading...
loading...

Check Also

यूपी में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की सरगर्मी तेज, जानिए कब तक आएगी फाइनल लिस्ट

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election 2021) की सरगर्मी तेज ...