Wednesday , December 2 2020
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी में 15000 से ज्यादा पदों पर होनी है शिक्षक भर्ती, इन बातों का रखें ध्यान

यूपी में 15000 से ज्यादा पदों पर होनी है शिक्षक भर्ती, इन बातों का रखें ध्यान

प्रयागराज (Prayagraj) स्थित उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड (UPSESSB) ने टीजीटी (TGT), पीजीटी (PGT) शिक्षकों (Teachers) के 15508 पदों के लिए निकाली गई भर्ती को कैंसिल कर कर दिया है. माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड (Secondary Education Services Selection Board) ने यह फैसला कानूनी राय (legal opinion) के बाद लिया है. एक ही रिटेन एग्जाम में Ad hoc और fresh candidates को अंक देने के दो अलग तरीकों को गलत पाया गया. टीजीटी जीव विज्ञान (TGT biology) की पोस्टों के लिए भर्ती न निकाले जाने के चलते भी कानूनी मुश्किल आई जिसके चलते इस भर्ती को रद्द (recruitment canceled) कर दिया गया है. जल्द ही इन पोस्टों के लिए फिर से नोटिफकेशन आएगा.

27 नवंबर थी last date for application
आपको बता दें कि माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड, प्रयागराज ने 29 अक्टूबर को टीजीटी और पीजीटी शिक्षकों की 15508 वैकेंसी का नोटिफिकेशन (notification) जारी किया था. इसमें प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (TGT) के 12913 और प्रवक्ता (PGT) के 2595 पद थे.  आवेदन की अंतिम तिथि (last date for application) 27 नवंबर तय की गई थी. भर्ती में पहली बार आर्थिक रूप से कमजोर (EWS) वर्ग के कैंडिडेट को भी 10 प्रतिशत आरक्षण (reservation) का फायदा दिया जा रहा था.

Advocate General ने दी ये सलाह 
संजय सिंह के मामले में 28 अगस्त के सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आदेश का हवाला देते महाधिवक्ता (Advocate General) ने 13 नवंबर को अपनी विधिक राय (legal opinion) दी थी कि एक ही संवर्ग की एक ही लिखित परीक्षा (written examination) में तदर्थ शिक्षक (ad hoc teachers) और फ्रेश अभ्यर्थियों के लिए अंक देने के दो अलग अलग मापदंड नहीं अपनाए जा सकते.  इस लिहाज से चयन बोर्ड की ओर से 29 अक्तूबर को जारी विज्ञापन सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के विपरीत है. यदि इस विज्ञापन (advertisement) के अनुसार चयन किया जाता है तो वह सर्वोच्च न्यायालय के आदेश की अवमानना (contempt) होगी.

टीजीटी जीव विज्ञान को किया जाएगा शामिल
विधिक राय पर गहनता से विचार-विमर्श के बाद प्रतियोगियों के हितों में तथा टीजीटी जीव विज्ञान विषय को विज्ञापन में सम्मिलित करने सम्बन्धी प्रत्यावेदनों के निस्तारण के लिए 29 अक्तूबर को जारी विज्ञापन निरस्त करने का निर्णय लिया गया है.

जो online apply कर चुके हैं, रखें इस बात का ध्यान
अब तक ऑनलाइन आवेदन (applied online) कर चुके अभ्यर्थियों को नए विज्ञापन (advertisement) में दोबारा आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी. उसके लिए सॉफ्टवेयर (software) में प्रविधान करने के लिए एनआईसी (NIC) से अनुरोध किया जाएगा. अध्यक्ष वीरेश कुमार (Chairman Viresh Kumar) की अध्यक्षता में गूगल हैंगआउट एप (Google Hangout app) के माध्यम से हुई बैठक में सदस्य डॉ. धीरेन्द्र द्विवेदी (Dr. Dhirendra Dwivedi), डॉ. हरेन्द्र कुमार राय (Dr. Harendra Kumar Rai), डॉ. दिनेशमणि त्रिपाठी (Dr. Dineshmani Tripathi), डॉ. ओम प्रकाश राय (Dr. Om Prakash Rai) व उपसचिव नवल किशोर (Deputy Secretary Naval Kishore) मौजूद रहे. गौरतलब है कि पिछले तकरीबन तीन सप्ताह में हजारों अभ्यर्थी कर चुके हैं.

loading...
loading...

Check Also

1 दिसंबर लाया बदलाव : एटीएम से कैश निकालने का तरीका बदला, ये हैं नए नियम

मेरठ. पंजाब नेशनल बैंक और उसमें विलय हुए बैंक के खाताधारकों के लिए एक दिसंबर ...