Thursday , November 26 2020
Breaking News
Home / क्राइम / Video : चीन ने दिखाया पैगंबर मोहम्मद का कैरिकेचर, पाकिस्तान-तुर्की की बोलती अब क्यों बंद?

Video : चीन ने दिखाया पैगंबर मोहम्मद का कैरिकेचर, पाकिस्तान-तुर्की की बोलती अब क्यों बंद?

फ्रांस में पैगंबर के कार्टून पर हंगामा बरपाने वाले पाकिस्तान-तुर्की का कौम से दगा करने का असली चेहरा सामने आया है. इन देशों ने फ्रांस में पैगंबर के कार्टून को लेकर पूरी दुनिया के सामने यह दिखाने की कोशिश की कि वे इस्लाम धर्म के ठेकेदार हैं और धर्म के खिलाफ किसी से भी टक्कर लेंगे. इन्होंने न सिर्फ कार्टून प्रकरण का विरोध किया, बल्कि उन इस्लामिक आतंकवादी हत्यारों का समर्थन भी किया, जिन्होंने एक शिक्षक समेत 4 लोगों की हत्या की थी. लेकिन हैरान कर देने वाली बात यह है कि चीन में भी फ्रांस की तरह पैगंबर मोहम्मद का कैरिकेचर का मामला सामने आया है लेकिन पाकिस्तान-तुर्की की बोलती बंद है. फ्रांस पर गुर्राने वाले दोनों देशों की हालत अब दुम दबाकर भागते कुत्ते की तरह हो गई है. ये दोनों देश जानते हैं कि अगर चीन के खिलाफ एक भी शब्द बोला तो ड्रैगन उन्हें कर्ज की आग में जलाकर खाक कर देगा.

चीन के सरकारी चैनल चाइना सेंट्रल टेलिविजन (CCTV) ने हाल ही में पैगंबर मोहम्मद का कैरिकेचर प्रसारित किया था. वीगर ऐक्टिविस्ट अर्शलान हिदायत ने चाइनीज टीवी सीरीज की ये क्लिप ट्वीट की थी. इस क्लिप में तांग राजवंश के दरबार में एक अरब राजदूत को दिखाया गया है. इसमें अरब राजदूत पैगंबर मोहम्मद की एक पेंटिंग चीनी सम्राट को सौंपते हुए नजर आते हैं.

हालांकि चीन की इस हरकत के खिलाफ पाकिस्तान समेत कई मुस्लिम देशों की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. पाकिस्तान तो पहले भी चीन में वीगर मुसलमानों के दमन और उन्हें प्रताड़ित किए जाने को लेकर मौन रहा है.

चीन में टीवी पर पैगंबर मोहम्मद का इस तरह से कैरिकेचर दिखाए जाने से कई लोग हैरान हुए. सोशल मीडिया पर कई यूजर्स ने सवाल किया कि क्या टीवी शो में पैगंबर मोहम्मद की पेंटिंग्स दिखाना ईशनिंदा नहीं है. एक यूजर ने ये भी सवाल किया कि क्या मुस्लिम दुनिया अब पैगंबर मोहम्मद के कैरिकेचर दिखाए जाने पर चीनी वस्तुओं के बहिष्कार की अपील नहीं करेगी.

पाकिस्तान का चीन के वीगर मुसलमानों को लेकर दोहरा रवैया पहले भी दिखता रहा है. पाकिस्तान कश्मीर से लेकर फिलीस्तीन के मुद्दे पर तो जोर-शोर से आवाज उठाता है लेकिन वीगर मुसलमानों की बात आते ही खामोशी अख्तियार कर लेता है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से कई बार चीन में वीगर मुसलमानों की दयनीय हालत को लेकर सवाल किया गया तो वो पूरी तरह से अनजान बन गए. कुछ इंटरव्यू में इमरान खान चीन को समर्थन देते हुए भी नजर आए और कहा कि हर देश को आतंकवाद से लड़ने का अधिकार है.

इंटरनेट पर वायरल हुए वीडियो में चीनी टीवी सीरीज ‘कैरोल ऑफ झेंगुआन’ में प्रदर्शित पैगंबर मोहम्मद की छवि को देखा जा सकता है. अर्सलन हिदायत के अनुसार, शो में चित्रित राजदूत कहते हैं, “यह हमारे देश के भगवान मोहम्मद का चित्र है.”

चीनी शो में पैगंबर के चित्रण ने अब मुस्लिम दुनिया पर सवाल उठाते हुए एक बहस शुरू कर दी है कि क्या वे फ्रांस के शिक्षक की निंदा के बाद पैगंबर मुहम्मद के कैरिकेचर के चित्रण के लिए चीन की निंदा करेंगे? इस रिपोर्ट को लेकर न तो चीनी अधिकारियों और न ही चीन सेंट्रल टेलीविज़न सीरीज के निर्माताओं ने अपनी टीवी सीरीज में पैगंबर मोहम्मद के चित्रण के दावों का खंडन किया है. इससे पता चलता है कि चीनी अधिकारियों को अपने टीवी शो में पैगंबर मोहम्मद को चित्रित करने में कोई समस्या नहीं है. हालांकि, इन दिनों उनकी छवि को चित्रित करना उनके लिए निंदनीय हो गया.

loading...
loading...

Check Also

अब नहीं चलेगी यूपी पुलिस की गुंडागर्दी, शादी की गाइडलाइंस का सारा कन्फ्यूजन दूर किए योगी

लखनऊ उत्तर प्रदेश में शादी-समारोह को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट निर्देश जारी किए ...