Thursday , March 4 2021
Breaking News
Home / जरा हटके / VIDEO : जब वकील को जज से कहना पड़ा, मैं जिंदा इंसान हूं, बिल्ली नहीं…

VIDEO : जब वकील को जज से कहना पड़ा, मैं जिंदा इंसान हूं, बिल्ली नहीं…

अमेरिका के टेक्सास कोर्ट में वर्चुअल सुनवाई के दौरान एक रोचक वाकया सामने आया। कोर्ट शुरू होते ही वकील ने गलती से जूम एप पर कैट फिल्टर ऑन कर दिया। इस पर जज ने कहा, ये बिल्ली कहां से आ गई। कोर्ट का वक्त बर्बाद होता देख वकील कुछ सेकंड बाद ही कहते हैं कि वे पेशी के लिए तैयार हैं, “मैं यहां लाइव हूं और मैं बिल्ली नहीं हूं।” इस पर जज रॉय फर्ग्यूसन फौरन जवाब देते हैं, “जी, वो तो मैं देख रहा हूं।”

अदालत की कार्रवाई को रिकॉर्ड करना या उसे इंटरनेट पर डालना गैरकानूनी है और ऐसा इस वीडियो में लिखा हुआ भी है बावजूद इसके खुद जज फर्ग्यूसन ने इस वीडियो को शेयर किया है जो कि एक मिनट से भी छोटा है।

क्या था पूरा वाकया
कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई तो जज रॉय फर्ग्यूसन ने वकील रॉड पोंटन की स्‍क्रीन पर “कैट-फेस” का फिल्टर नोटिस किया था। उन्होंने फौरन इसकी जानकारी उन्हें दी। लॉस एंजिल्स टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, वाकये के वक्त वकील अपने सेक्रेट्री का कम्प्यूटर इस्तेमाल कर रहे थे, जिसके जूम सॉफ्टवेयर में कैट फिल्टर चालू ‌‌हो गया था। एक मिनट के भीतर समस्या ठीक हो गई और सुनवाई आगे बढ़ गई।

जज: हंसते हुए…मिस्टर पोंटन, ये बिल्ली कहां से आ गई। लगता है कि आपकी वीडियो सेटिंग्स में कैट फ‌िल्टर ऑन हो गया है।
वकील: सर, मैं इसे बंद करने की कोशिश कर रहा हूं..क्या आप मुझे सुन सकते हैं?
जज: मैं आपको सुन सकता हूं। मुझे लगता है कि यह एक फिल्टर है।
वकील: यह फिल्टर ही है। और मुझे नहीं पता कि यह कैसे हटेगा। मैंने अपने सहायक को बुलाया है और वह कोशिश कर रही हैं… मैं इसके साथ आगे बढ़ने के लिए तैयार हूं। मैं बिल्ली नहीं हूं।

जज: मैं देख सकता हूं.. फिर उन्होंने वकील को सुझाव दिया कि वे पैनल में ऊपर तीर पर क्लिक करें।

जज ने किया मजेदार ट्वीट, दिया जूम टिप
सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद, जज फर्ग्यूसन ने एक ट्वीट में लिखा, वर्चुअल पेशी से पहले अगर किसी बच्चे ने आपका कंप्यूटर इस्तेमाल किया है, तो जूम वीडियो ऑप्शंस में जा कर सुनिश्चित कर लें कि सारे फिल्टर बंद हैं। यह छोटी सी बिल्ली आधिकारिक रूप से अदालत में पेश हुई।

पेशे के प्रति समर्पण का उम्दा उदाहरण बताया
जज ने हल्के मूड में ट्विटर पर लिखा, यह रोचक क्षण कानूनी पेशे के प्रति समर्पण का एक उम्दा उदाहरण है। इससे हमें सीख मिलती है कि न्याय प्रणाली कठिन समय में काम करती रहे। वकील ने भी कोर्ट के वक्त का ख्याल रखते हुए उसी स्थिति में सुनवाई शुरू करने का आग्रह किया। इसमें उनका पेशेवर रवैया दिखा। यह हर किसी में होना चाहिए।

जज ने वीडियो के उपयोग की अनुमति दी
जज ने मीडिया आउटलेट्स को वीडियो फुटेज का उपयोग करने की भी अनुमति दी। उन्होंने कहा, “मीडिया संस्‍थान, आप वीडियो का उपयोग कर सकते हैं। लोगों को इससे लर्निंग मिलेगी। इसका उपयोग वकीलों का मजाक उड़ाने के लिए न किया जाए, बल्कि न्याय के प्रति वकीलों के समर्पण के उदाहरण के रूप में किया जाए।”

मद्रास हाईकोर्ट ने बताया था अपमानजनक
हाल ही में, मद्रास हाईकोर्ट ने एक वकील को कार से सुनवाई में पेश होने पर नाराजगी जाहिर की थी। कोर्ट ने इस आचरण को लापरवाही भरा और अपमानजनक करार दिया था। कर्नाटक हाईकोर्ट में भी एक वकील ने अपनी कार से वीसी की सुनवाई में भाग लिया था।

भारतीय अदालतों में वर्चुअल सुनवाई के दौरान वकीलों को बिना शर्ट पहने, धूम्रपान करते हुए, स्नैक्स खाते हुए देखा गया है, साथ ही ऐसे मौके भी आए हैं जब वर्चुअल कोर्ट की सुनवाई में बच्चों के रोने की आवाज, कुत्तों के भौंकने, और तो और सड़कों से सब्जी विक्रेताओं के चिल्लाने की आवाज तक सुनाई दी है।

loading...
loading...

Check Also

INDvsENG : मैदान पर उलझे विराट और बेन स्टोक्स, अंपायर को कराना पड़ा बीच-बचाव, देखें वीडियो

Ind Vs Eng 4th Test: भारत और इंग्लैंड (India Vs England) के बीच चौथा टेस्ट ...