Wednesday , April 21 2021
Breaking News
Home / धार्मिक / मलमास में कभी नहीं करें ये काम, बन सकता है मृत्यु योग, जानिए..

मलमास में कभी नहीं करें ये काम, बन सकता है मृत्यु योग, जानिए..

हिन्दू धर्म में वास्तुशास्त्र का बहुत अधिक महत्त्व होता है | विश्व में एकमात्र हिन्दू ही ऐसा धर्म है, जिसने सबसे पहले ब्रह्माण्ड में ग्रह की चाल, दिशा और संख्या बताने में मदद की थी | ऐसा कहा जाता है मनुष्य जो कर्म करता है | उसका प्रभाव उसके नक्षत्रो पर पड़ता है | इस कारण उसके जीवन में सुख और दुःख आते है | इसलिए गीता में भगवान कृष्ण ने कहा है की व्यक्ति को जीवन में अच्छे कर्म करना चाहिए | 

हिन्दू मान्यताओं के अनुसार एक वर्ष में एक बार मलमास का महीना आता है | इसे खरमास का महीना भी कहा जाता है | जब यह महीना प्रारम्भ होता है तो सूर्य भगवान धनु और मीन राशि में प्रवेश करते है | ऐसा कहा जाता है की इस माह में कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए नहीं तो व्यक्ति के जीवन में मृत्यु योग बन सकता है |
14 जनवरी ( मकर सक्रांति ) के दिन सूर्य भगवान मीन और धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश करते है | ज्योतिषशास्त्र के अनुसार एक वर्ष में सूर्य भगवान प्रत्येक राशि में प्रवेश करते है | लेकिन इस माह में नक्षत्रो के जो योग बनते है, उनमे बताये जा रहे कार्यो को किसी भी कीमत पर नहीं करना चाहिए |
यदि आप कोई भी शुभ काम जैसे:- शादी, मुंडन, सगाई, ग्रहप्रवेश आदि जैसे कार्य करते है तो सावधान हो जाइये | क्योंकि यदि अपने ऐसा किया तो आपके नक्षत्र कमजोर हो जाएंगे | जिससे आपके जीवन मे मृत्यु योग बनने के हालात बन सकते है | इसलिए आवश्यक है की जीवन में कभी भी मलमास में शुभकार्य नहीं करने चाहिए |
इन दिनों आपको किसी गरीब व्यक्ति को दान देना शुभ माना जाता है | यदि आप वस्तु का दान, अनाज का दान, धन का दान करते है तो आपके ऊपर इस माह का कोई ही कुप्रभाव नहीं पड़ेगा | इसके अतिरिक्त यदि आप अपने घर में पूजा-पाठ करवाते है तो यह शुभ कार्य माना जाता है | यदि सीधे शब्दों में कहा जाये तो व्यक्ति को निरर्थक कार्य को त्यागकर भगवान की शरण में जाना चाहिए | इससे मनुष्य का कल्याण ही होता है |
loading...
loading...

Check Also

Chaitra Navratri 2021, जानें किस दिन होगी मां के किस स्वरूप की पूजा, जानें चैत्र नवरात्रि का महत्व

नई दिल्ली: देश में नवरात्रि का नौ दिन चलने वाला त्योहार जल्द ही शुरू होगा. ...