Thursday , December 2 2021
Home / उत्तर प्रदेश / अजब संयोग या कुदरत का संदेश : लॉकडाउन में ड्यूटी-रोटी साथ करते 4 सिपाही, हिंदू-मुस्लिम-सिख-ईसाई !

अजब संयोग या कुदरत का संदेश : लॉकडाउन में ड्यूटी-रोटी साथ करते 4 सिपाही, हिंदू-मुस्लिम-सिख-ईसाई !

लॉकडाउन के इस दौर में स्वास्थ्यकर्मियों के साथ ही पुलिसकर्मी भी हीरो बनकर उभर रहे हैं। पुलिसकर्मी अपनी जान जोखिम में डालकर लॉकडाउन का पालन करा रहे हैं। बुलंदशहर की पुलिस भी सख्ती से लोगों को घरों में रहने को कह रही है। इस बीच खुर्जा में तीन सिपाही और एक होमगार्ड दोपहर में भरी धूप में ड्यूटी पर तैनात दिखे। खास बात यह रही कि ये चारों अलग-अलग धर्म के थे।

गुरुवार दोपहर को खुर्जा के पहासू अड्डे पर अलग—अलग धर्म के सिपाही और होमगार्ड लॉकडाउन का पालन कराते दिखे। इनमें एक हिंदू है, जबकि अन्य मुस्लिम, सिख और ईसाई धर्म के हैं। चारों 24 मार्च से एक ही साथ ड्यूटी कर रहे हैं और लोगों को लॉकडाउन के नियमों का पालन करने का संदेश भी दे रहे हैं।

ऐसे पता चला चारों के बारे में

गुरुवार को जब चारों ड्यूटी कर रहे थे, उस समय एसएसपी संतोष कुमार सिंह पहुंच गए। एसएसपी ने एक सिपाही के सिर पर पगड़ी बंधी हुई देखी तो उन्होंने उनके नाम पूछने शुरू किए। एक ने अपना नाम टेकचंद तो दूसरे ने खुर्शीद बताया। तीसरे ने सरदार रेग सिंह और चौथे ने रोहित कुमार बताया। एसएसपी ने उनसे पूछा कि तुम लोगों में से ईसाई कौन है तो रोहित ने कहा कि वह इसाई है। इस पर एसएसपी अचंभित रह गए। उन्होंने कहा कि यह अच्छा संयोग है कि चारों धर्म के लोग एकसाथ तैनात हैं।

यही तो है हमारा इडिया

सिपाही रेग सिंह सरदार मेरठ के रहने वाले हैं जबकि होमगार्ड टेकचंद खुर्जा देहात के शहबाज पुर दौलत गांव के रहने वाले हैं। सिपाही रोहित कुमार का घर सहारनपुर में है और सिपाही खुर्शीद शामली के रहने वाले हैं।ये चारों दोपहर में भोजन भी एक साथ ही करते हैं। वे कहते हैं कि न तो कोई हिंदू है, न कोई मुसलमान है, न सिख है और न इसाई है। वे सब इंसान हैं। एक ही रब ने उनको बनाया है। यह धर्म तो धरती पर आकर धर्म के ठेकेदारों ने बना दिए हैं।

loading...

Check Also

Petrol Diesel Price Today: पेट्रोल-डीजल सस्ता हुआ या महंगा, जारी हो गए नए रेट, फटाफट करें चेक

सरकारी तेल कंपनियों की ओर से आज पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई ...