https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-91096054-1">
Tuesday , June 22 2021
Breaking News
Home / खबर / अधिकारी के पैर छूए और प्याज रोटी खाकर बिजली ऑफिस से निकल गए बीजेपी विधायक, Video में देखें वजह

अधिकारी के पैर छूए और प्याज रोटी खाकर बिजली ऑफिस से निकल गए बीजेपी विधायक, Video में देखें वजह

रीवा. एमपी में गजब है कि सत्ता पक्ष के विधायकों (MLA) की भी अधिकारी नहीं सुन रहे हैं। उन्हें भी आम आदमी की तरह बार-बार आश्वासन की घुट्टी पिलाई जा रही है। आलम यह है कि थक हार कर विधायक को यह कहते हुए कार्यालय में धरना देना पड़ रहा है कि हमारी ही सरकार है, ऐसे में हम सड़क पर तो धरना दे नहीं सकते। इस पर भी बात नहीं बन रही तो विधायक को विभागीय अधिकारियों के पांव पकड़ने पड़ रहे हैं। अब अधिकारी का पांव पकड़ते वक्त किसी ने वीडियो बना लिया जो अब पूरे इलाके में चर्चा का केंद्र बिंदु बन गया है।

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि मऊगंज मऊगंज विधानसभा क्षेत्र में बिजली की समस्या है गंभीर है। इलाके में कहीं तार नहीं, तो कहीं के ट्रांसफार्मर जले हैं। अब इलाके में बिजली नहीं तो लोग विधायक को पकड़ते हैं कि वो तो सत्ता पक्ष से जुड़े हैं, जरूर समस्या का हल हो जाएगा। लेकिन विधायक की भी नहीं सुनी जा रही है बिजली विभाग में।

विधायक प्रदीप पटेल का आरोप है कि वो विधानसभा क्षेत्र की विद्युत समस्या से विभागीय अधिकारियों को लगातार अवगत कराते रहे। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही थी। विभाग समस्याओं पर ध्यान देने की वजह गलत जानकारी दे रहा था। इसी मसले पर वो बिजली दफ्तर पहुंचे थे। वहां पहुंचकर उन्होंने विद्युत मंडल के एमडी के समक्ष दूरभाष पर अपनी बात रखी। विधायक ने कहा कि उनकी विधानसभा में तकरीबन 55 गांव ट्राइबल के आते हैं जहां पर सर्वाधिक विद्युत समस्या है।

बताया जा रहा है कि इधर विधायक बिजली दफ्तर में बैठ कर समस्या का निराकरण करने की मांग कर रहे थे, उधर विभागीय अधिकारी, स्थानीय विधायक,कलेक्टर व विभाग के उच्च अधिकारियों को यह बता रहे थे कि मऊगंज विधानसभा क्षेत्र के विधायक कार्यालय में धरना दे रहे हैं।

इस सबसे बेखबर विधायक दफ्तर में बैठे रहे। वहीं भोजन मंगाकर भोजन किया और कहा कि अगर हम प्रकाश में भोजन कर रहे हैं तो हमारी नैतिक जवाबदारी बनती है कि जिस जनता जनार्दन ने हमें 5 साल के लिए नेतृत्व करने का आदेश दिया है उसके घर में भी प्रकाश हो सके। जानकारी के अनुसार विधायक प्रदीप पटेल अधीक्षण यंत्री कार्यालय में शाम करीब 6:00 बजे से रात 12:00 बजे तक बैठे रहे।

उनका आरोप था कि उनके क्षेत्र में व्याप्त समस्याओं का समाधान करने के बजाय, स्थानीय अधिकारी, वरिष्ठ अधिकारियों को गलत जानकारी भेज रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं सत्तापक्ष का विधायक हूं लिहाजा सड़क पर नहीं बैठ सकता। ऐसे में अब मैंने निर्णय लिया है कि मैं अधिकारियों के साथ उनके कार्यालय में ही बैठूंगा ताकि क्षेत्र की समस्या का समाधान हो सके। इस दौरान उनके साथ भाजपा के जिलाध्यक्ष डॉ अजय सिंह पटेल मौजूद रहे।

loading...
loading...

Check Also

UP हुआ शर्मसार : 2 साल की बच्ची से रेप, मासूम को तड़पता छोड़ भाग खड़ा हुआ दरिंदा, मौत 

उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले से इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई ...