Thursday , October 28 2021
Breaking News
Home / खबर / मोदी सरकार के सामने ट्विटर ने घुटने टेके, नए IT नियमों के तहत अधिकारी नियुक्त किए

मोदी सरकार के सामने ट्विटर ने घुटने टेके, नए IT नियमों के तहत अधिकारी नियुक्त किए

नए आईटी नियमों को लेकर केंद्र सरकार द्वारा सख्त हिदायत देने के बाद ट्विटर ने अब अपने घुटने टेक दिए है। केंद्र सरकार के सख्त रुख के बाद सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर नए आईटी नियमों को मानने को तैयार हो गया है। माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर ने 9 जून को कहा कि वह भारत सरकार के नए आईटी नियमों का पालन करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है और एक सप्ताह के भीतर एक मुख्य अनुपालन अधिकारी की नियुक्ति करेगा।

ट्विटर की ओर से एक अधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि, “हम इन नियमों के महत्व को समझते हैं और भारत में कर्मियों को काम पर रखने सहित, नियम पालन करने के लिए हमने सदैव प्रयास किया है। COVID-19 महामारी के कारण, हमें दी गई समय सीमा के भीतर नए IT नियमों के अनुपालन करने के लिए आवश्यक कदम उठाना कठिन हो गया था।”

ट्विटर ने कहा, “हमने एक नोडल अधिकारी और एक निवासी शिकायत अधिकारी को अनुबंध के आधार पर नियुक्त किया है और हम स्थायी आधार पर पदों को भरने की क्रिया को शुरू करने वाले है। हम मुख्य अनुपालन अधिकारी की नियुक्ति के अंतिम चरण में हैं और एक सप्ताह के भीतर हम विवरण साझा करेंगे।”

टाइम्स ऑफ इंडिया ने अपने सूत्रों के हवाले से लिखा था कि, तीन वैधानिक अधिकारियों की नियुक्ति के विवादास्पद मुद्दे के संबंध में ट्विटर को अमेरिका में स्थित हेड ऑफिस से हरी झंडी मिलने के बाद कंपनी को भारत सरकार के सामने घुटने टेकने पड़े है।

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) द्वारा पिछले सप्ताह सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को अपने नए दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए एक अल्टीमेटम दिए जाने के बाद ट्विटर ने 8 जून को केंद्र से संपर्क किया था।

बता दें कि सरकार ने अपने अल्टीमेटम में कहा था कि, ट्विटर इंडिया को नए नियमों का तुरंत पालन करने के लिए एक अंतिम नोटिस दिया गया है। नोटिस के मुताबिक अगर ट्विटर इसका पालन करने में विफल होता है तो फिर उसके खिलाफ आईटी अधिनियम, 2000 की धारा 79 के तहत उपलब्ध देयता से छूट वापस ले ली जाएगी और ट्विटर आईटी अधिनियम और भारत के अन्य दंड कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि इससे पहले गूगल और फेसबुक तथा व्हाट्सएप जैसी दिग्गज कंपनियों ने नए आईटी दिशानिर्देशों के अनुरूप वैधानिक अधिकारियों को नियुक्त करने पर सहमत जताई थी लेकिन ट्विटर (twitter) ने नियमों का पालन करने से इनकार कर दिया था। ट्विटर ने लाखों पैंतरे अपनाए है, जिससे उसको नए IT नियमों का अनुपालन न करना पड़ा, लेकिन अंत में ट्विटर को मुंह की खानी पड़ी है।

यही नहीं ट्विटर नए नियमों का अनुपालन न करने के सिवाए, कांग्रेस पार्टी के साथ मिलीभगत करके उनके टूलकिट के मंसूबों को अंजाम देने में लगा हुआ था। इसके बाद दिल्ली पुलिस की जांच में सहयोग करने से भी Twitter ने आनाकानी दिखाई । ऐसे में ट्विटर से नए IT नियमों का अनुपालन करवाना, भारत सरकार के लिए बड़ी जीत है।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...