Monday , June 14 2021
Breaking News
Home / खबर / खुशखबरी: दिल्ली ने दिलेरी से कोरोना को मात दी, अब मरने की दहलीज पर महामारी

खुशखबरी: दिल्ली ने दिलेरी से कोरोना को मात दी, अब मरने की दहलीज पर महामारी

नई दिल्ली:  Delhi Coronavirus Cases: दिल्ली में कोरोना पॉजिटिविटी रेट में 1 फीसदी से भी नीचे आ गया है. स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, पिछले 24 घंटे में पॉजिटिविटी रेट 0.88% पर आ गया है. पिछले 24 घंटे में 623 नए मामले और 62 मरीजों की मौत हुई है. 11 अप्रैल के बाद एक दिन में इतनी कम मौतें हुई हैं. दिल्ली में कोरोना के एक्टिव मामले (Delhi Active Cases) करीब 10,000 रह गए हैं, जो 31 मार्च के बाद सबसे कम हैं. दिल्ली में कोरोना से मरीजों के स्वस्थ होने की दर यानी रिकवरी रेट 97.58% तक पहुंच गया है. जबकि एक्टिव मरीज़ 0.71% हैं. राजधानी में मृत्यु दर यानी डेथ रेट 1.7% पर है. पॉजिटिविटी रेट यानी कुल जांच के मुकाबले पॉजिटिव मरीजों की संख्या 0.88% रह गई है.

पिछले 24 घंटे में 623 नए मामले मिलने के बाद कुल मामले-14,26,863 हो गए हैं. पिछले 24 घंटे में 1423 मरीज ठीक हुए हैं.  अब तक कुल 13,92,386 मरीज बीमारी से उबर चुके हैं.  पिछले 24 घंटे में 62 मौतों को मिलाकर अब तक हुई कुल मौतों की संख्या 24,299 हो गई है. एक्टिव मामले 10,178 हैं.  पिछले 24 घंटों में 70,813 टेस्ट हुए हैं. जबकि अब तक हुए कुल टेस्ट 1,93,73,093 तक पहुंच गए हैं.

गौरतलब है कि दिल्ली में कोरोना के मामलों में लगातार कमी को देखते हुए अनलॉक की प्रक्रिया भी 31 मई से शुरू कर दी गई है. फिलहाल फैक्ट्रियों में उत्पादन और निर्माण कार्यों को अनुमति दे दी गई है. साथ ही लॉकडाउन की बंदिशों को 7 जून तक बढ़ा दिया गया है. फिलहाल बाजारों को खोलने की इजाजत नहीं दी गई है. व्यापारी संगठनों ने बाजारों को खोलने की इजाजत भी मांगी है.

 

हालांकि चिंता की बात यह भी है कि राजधानी में ब्लैक फंगस के मामले एक हजार के करीब पहुंच गए हैं. इनमें से 650 के करीब केस दिल्ली सरकार और निजी अस्पतालों में हैं,बाकी के केस केंद्र सरकार से संबद्ध अस्पतालों में पाए गए हैं. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस बीमारी के लिए दवाओं की आपूर्ति और बढ़ाने की मांग भी की है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से 12वी की परीक्षा रद्द करने की मांग की है. केंद्र सरकार से दिल्ली के मुख्यमंत्री ने प्रदर्शन के आधार पर आकलन करने का अनुरोध किया है.केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, “12वीं की परीक्षा को लेकर बच्चे और अभिभावक काफ़ी चिंतित हैं. वे चाहते हैं कि बिना वैक्सीनेशन 12वी की परीक्षा नहीं होनी चाहिए. लिहाजा केंद्र सरकार से अपील है कि 12वीं की सीबीएसई की परीक्षा रद्द करे. पिछले प्रदर्शन के आधार पर अंक दिए जाएं.

loading...
loading...

Check Also

2 करोड़: कोरोना से जंग में जान लड़ा दिया है गुजरात, हासिल किया बड़ा मुकाम

अहमदाबाद. प्रदेश में कोरोना से सुरक्षा कवच के रूप में रविवार को भी 234551 को ...