Wednesday , May 12 2021
Breaking News
Home / खबर / असली रेमडेसिविर की पहचान : हल्की होती है कांच की बोतल, सिर्फ पाउडर में ही आता है इंजेक्शन

असली रेमडेसिविर की पहचान : हल्की होती है कांच की बोतल, सिर्फ पाउडर में ही आता है इंजेक्शन

अगर आप भी अपने मरीज के लिए रेमडेसिविर खरीदने जा रहे हैं या खरीदने वाले हैं, तो आपको असली इंजेक्शन की कुछ पहचान बताते हैं, जिससे आप धोखा ना खा सकें। इंदौर में रेमडेसिविर इंजेक्शन रखने वाली एजेंसीवैक्सीन हब के संचालक मनोज राय ने बताया, किस तरह से रेमडेसिविर की पहचान की जा सके। मनोज राय इंदौर में आ रहे पांचों कंपनियों के रेमडेसिविर इंजेक्शन के होलसेल डिस्ट्रीब्यूटर भी हैं।

असली रेमडिसिविर की पहचान

  • सिर्फ पाउडर फॉर्म में ही यह इंजेक्शन मिलता है।
  • कांच की शीशी या बहुत ही हल्की होती है।
  • बॉक्स के पीछे बारकोड बने होते हैं।
  • सभी इंजेक्शन 2021 के ही बने हुए हैं, जिसका माल वर्तमान में आ रहा है।
  • 100 मिलीग्राम की क्वांटिटी बॉक्स और बोतल पर लिखी रहती है, जिसे एक बार में ही उपयोग में लाया जा सकता है।

आईपीएस ने भी किया ट्वीट

आईपीएस मोनिका भारद्वाज ने भी जागरुकता के लिहाज से सोशल मीडिया पर इंजेक्शन की पहचान को लेकर ट्वीट किया है। ये सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के बीच जीवन रक्षक माने जाने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी बढ़ गई है। पिछले दिनों में इंदौर में ही नकली इंजेक्शन से मामले सामने आ चुके हैं। सोमवार को ही एक युवक शीशी में ग्लूकोज का पानी भरकर उसे असली इंजेक्शन बताकर 20 हजार रुपए तक में बेचते पकड़ा गया था। इसके साथ ही, जबलपुर, रतलाम और भोपाल से भी ऐसी खबरें आई हैं। यही नहीं, उज्जैन और जबलपुर में भी ऐसे मामले सामने आए हैं, जहां नर्सिंग स्टाफ नकली इंजेक्शन मरीज को लगाकर असली बचा लेते थे।

loading...
loading...

Check Also

कोरोना मरीज का ऑक्सीजन मास्क हटाकर महिलाएं करने लगीं पूजा, फिर हुआ कुछ ऐसा!

यूपी के कानपुर से एक हैरान कर देने वाला वीडियो वायरल हुआ है. जहां पर ...