Thursday , December 2 2021
Home / ऑफबीट / अहमदाबाद में तो नहीं है तब्लीगी जमात, फिर कलेक्टर क्यों किए 31 मई तक 8 लाख कोरोना केस होने की बात ?

अहमदाबाद में तो नहीं है तब्लीगी जमात, फिर कलेक्टर क्यों किए 31 मई तक 8 लाख कोरोना केस होने की बात ?

भारत में कोरोनावायरस संक्रण के अबतक 24,447 मामले दर्ज किए जा चुके हैं जिनमें 18,171 पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं 5,496 लोगों को रिकवर किया गया है। इस संक्रमण से इस समय महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित है वहीं दूसरे नंबर पर गुजरात है। गुजरात में अबतक (25 अप्रैल) 2,815 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 2,423 पॉजिटिव निकले हैं जबकि 265 लोग ठीक हो गए हैं।

यह गुजरात का वही अहमदाबाद है, जहां अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप पहुंचे थे और यहीं कोरोना की रफ्तार इतनी तेज है। ऐसे में सोशल मीडिया पर सवाल उठने लगे हैं कि यहां तो तब्लीगी नहीं पहुंचे, यहां इनकी वजह से कोरोना नहीं फैला। यहां अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप पधारे थे, जिसके बाद इतने बड़े पैमाने पर संक्रमण के मामले सामने आये हैं, तो लोग उन्हें क्यों नहीं जिम्मेदार ठहरा रहे हैं कोरोना फैलाने के लिए, जैसे तब्लीगियों को ठहरा रहे हैं।

इस बीच अहमदाबाद नगर निगम आयुक्त विजय नेहरा ने कहा कि 31 मई तक शहर में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 8 लाख तक पहुंच सकती है। बीते 48 घंटों में कोरोनावायरस से जुड़ी क्या क्या घटनाएं हुई, आइए जानते हैं।

—अधिकारियों ने कहा कि पिछले 24 घंटों में 191 नए मामले सामने आने के बाद शुक्रवार 24 अप्रैल को गुजरात में कोरोनावायरस के पॉजिटिव रोगियों की संख्या बढ़कर 2,815 हो गई। गुजरात में पिछले 24 घंटों में 191 नए कोरोना पॉजिटिव मामले दर्ज किए गए हैं।

—महा गुजरात बैंक कर्मचारी संघ (MGBEA)ने रेड जोनों में उन बैंक शाखाओं को अस्थायी रूप से बंद करने की मांग की है, जहां अधिक कोविड -19 के मामले दर्ज किए गए हैं।

—गुजरात रिफाइनरी के साथ काम करने वाले एक इंजीनियरिंग असिस्टेंट का कोरोनावायरस के लिए टेस्ट पॉजिटिव आया। कंपनी ने उन लोगों की पहचान करना शुरू कर दिया है जो काम के दौरान उसके संपर्क में थे।

—अहमदाबाद शहर में कोविड -19 मामलों की चार दिनों की दोहरी दर है। अहमदाबाद नगर निगम आयुक्त विजय नेहरा के अनुसार अगर यही दर 3 मई तक जारी रही और लॉकडाउन जारी रहा, तो शहर में 15 मई तक 50,000 मामले और 31 मई तक 8 लाख मामले दर्ज किए जाएंगे।

—अधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने गुजरात, तेलंगाना और तमिलनाडु में कोविद -19 स्थिति पर नजर रखने के लिए चार नई अंतर-क्षेत्रीय टीमों को भेजा है।

—गुजरात सरकार ने राज्य में कोविड -19 की निगरानी के लिए तेजी से एंटीबॉडी परीक्षण किट का उपयोग करना शुरू कर दिया है, हालांकि इन किटों के इस्तेमाल को लेकर पहले ही आशंका व्यक्त की जा चुकी है।

—शहर की नवरंगपुरा पुलिस ने बुधवार और मंगलवार को आठ लोगों के खिलाफ एक हिंदू मंदिर और दो अलग-अलग मामलों में जैन मंदिर में जाने के लिए केस दर्ज किया।

—बुधवार देर रात डांग जिले में एक 19 वर्षीय नर्स का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया। यह आदिवासी जिले में अब तक का पहला कोरोनावायरस केस है।

—भावनगर में चार और लोगों के कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव निकले, इसके साथ ही यहां कुल संक्रमित लोगों की संख्या 38 हो गयी।

—सूरत के नानपुरा की एक 53 वर्षीय महिला कोविद -19 की मौत हो गई, शहर में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 14 हो गई।

—पीएम नरेंद्र मोदी ने ग्राम पंचायत सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि सबसे बड़ा सबक कोविद -19 ने हमें ये सिखाया कि आत्मनिर्भर बनना है।

—गुजरात के प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) जयंती रवि ने कहा कि हम गुजरात में टेस्टिंग क्षमता को बढ़ा रहे हैं। गांधीनगर में निजी प्रयोगशालाओं और एक और सरकारी प्रयोगशाला के साथ क्षमता बढ़ाई गई है। जयंती रवि का कहना है कि राज्य में टेस्ट का स्तर संतोषजनक है।

—जयंती रवि ने कहा, गुजरात के 30 जिलों में हमने आज से रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट (आरएटी) शुरू किए हैं। यह निर्णायक और मुख्य रूप से निगरानी के उद्देश्य के लिए नहीं है।

—वडोदरा पुलिस ने उन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए कहा जो किराने का सामान, दूध और दवाएं खरीदते समय कम से कम पांच फीट की दूरी नहीं रखते हैं।

—जूनागढ़ के आम उत्पादकों को 3 मई से अहमदाबाद और गांधीनगर में होम डिलीवरी शुरू करने के लिए सरकार से मंजूरी मिल गई है।

—उमरेथ में कोविड -19 के लिए तीन और टेस्ट पॉजिटिव निकले। इसके साथ ही आनंद जिले में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 41 तक हो गई।

—अहमदाबाद नगर निगम के आयुक्त विजय नेहरा ने गुरुवार को कहा कि वह एफआईआर का सामना करने के लिए तैयार हैं लेकिन प्रशासन समाज और अहमदाबाद शहर के हित में निर्णय लेते हुए आगे बढ़ता रहेगा।

—गुजरात सरकार ने गुरुवार को देशभर में लॉकडाउन के कारण भारत के कोचिंग हब माने जाने वाले राजस्थान के कोटा में फंसे लगभग 300 छात्रों को वापस लायी।

—अहमदाबाद ने कोविड -19 के पॉजिटिव मामलों की उच्च संख्या दर्ज करना जारी रखा। गुरुवार को अहमदाबाद जिले में नए मामलों में 70% वृद्धि हुई। शहर में गुरुवार को दर्ज नौ में से सात लोगों की मौत हो गई।

—कोरोनावायरस के खिलाफ जो पुलिसकर्मी पहली पंक्ति में खड़े हैं, उन्हें अक्सर स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए लाठी या छड़ी मिलती है। लेकिन इस कोरोना महामारी के पुलिस ने महसूस किया कि लाठियों के मारने से इस वायरस के फैलने का जोखिम है। पुलिसकर्मी इसके लिए अब लाठियों का साफ रखने के विशेष प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं। यह खबर सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हुई।

—कोरोना वायरस के नए मामले अहमदाबाद (151), सूरत (41), वडोदरा (7), भरूच (5), आनंद (3), बोटाद, खेड़ा (2 ) और अरावली (2), भावनगर, गांधीनगर, पंमहल, वलसाड और डांग (प्रत्येक को 1) से दर्ज किए गए। राज्य में गुरुवार को नौ रोगियों की मौत भी दर्ज की गई, मृतकों की संख्या 112 हो गई।

—कोरोनावायरस के उन 45 रोगियों को कोरोनावायरस देखभाल केंद्र से डिस्चार्ज कर लिया गया है जिन्होंने इस घातक बीमारी को हराया है। महामारी के प्रकोप के बाद गुजरात और संभवत: देश में पहली बार सामूहिक रूप से डिस्चार्ज किया।

loading...

Check Also

पेट्रोल-डीजल की कमी के बाद अब इस देश में अंडरवियर्स और पजामे की भारी किल्लत

लंदन (ईएमएस)।आपकों जानकार हैरानी होगी कि यूके में इन दिनों अंडरवियर्स और पजामे की भारी ...