Monday , October 25 2021
Breaking News
Home / खबर / आज से शुरू होगी छठी से 8वीं तक की कक्षा, शिक्षकों के लिए वैक्सीन लेना अनिवार्य

आज से शुरू होगी छठी से 8वीं तक की कक्षा, शिक्षकों के लिए वैक्सीन लेना अनिवार्य

रांची: कोरोना के कारण लंबे समय से बंद 6ठी से लेकर 8वीं तक के कक्षा के संचालन के लिए एसओपी (SOP) जारी की गई है. राज्य सरकार के निर्देश के मुताबिक 24 सितंबर से सरकारी और गैर सरकारी स्कूल खुलेंगे. स्कूल जाने वाले शिक्षक और कर्मचारियों के लिए कोरोना वैक्सीनेशन अनिवार्य किया गया है.

बच्चों की शिक्षा के लिए सरकार गंभीर

बता दें कि लंबे समय से राज्य में स्कूली शिक्षा प्रभावित है. ऑनलाइन कक्षा संचालन के भरोसे पठन-पाठन के बाद ऑफलाइन पढ़ाई को लेकर राज्य सरकार गंभीर है. इससे पहले अगस्त महीने में 9वीं से लेकर 12वीं तक की कक्षाएं संचालित करने की अनुमति दी गई थी. अब छठी से 8वीं तक के क्लास संचालन के लिए एसओपी जारी की गई है.

कक्षाओं में कोरोना गाइडलाइन का पालन
9वीं से लेकर 12वीं तक की कक्षाओं के संचालन में कोरोना गाइडलाइन का पूरा ध्यान रखा जा रहा है. अब उन्हीं नियमों का छठी से लेकर 8वीं तक की कक्षाओं में भी ख्याल रखा जाएगा. निजी स्कूल प्रबंधक अपने-अपने स्कूलों को व्यवस्थित कर कक्षा शुरू करने की तैयारी में हैं. सरकारी स्कूलों में भी साफ-सफाई की व्यवस्था की जा रही है.
क्या है एसओपी (SOP)

एसओपी का पूरा नाम स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रॉसीजर है. इसके तहत स्कूलों में कक्षाएं ऑफलाइन हो सकती हैं लेकिन परीक्षा ऑनलाइन ली जाएगी. 24 सितंबर से सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक कक्षाओं का संचालन किया जाएगा. कक्षा 6 से 8 तक के सरकारी स्कूलों में सौ फीसदी शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य की गई है. स्कूलों को 23 सितंबर तक कोविड-19 के बचाव के तमाम निर्देशों को पूरा करने का निर्देश दिया गया है. साथ ही ऑनलाइन कक्षा संचालन के लिए भी मुकम्मल व्यवस्था रखने के निर्देश दिये गये हैं.

शिक्षकों के लिए वैक्सीन लेना अनिवार्य
एसओपी के तहत ये निर्देश दिया गया है कि जो शिक्षक ऑफलाइन कक्षा लेने स्कूल आएंगे उनके लिए वैक्सीन का एक डोज लेना अनिवार्य होगा. अभिभावकों की सहमति से ही बच्चों को स्कूल बुलाने की अनुमति दी गई है. सभी प्रकार के स्कूल ऑनलाइन माध्यम से भी अन्य सभी कक्षाओं का संचालन पहले की तरह ही संचालित करेंगे. जो शिक्षक कोरोना महामारी के दौरान कोविड-19 से ग्रसित हुए थे, उनके लिए भी समय सीमा देखते हुए कोरोना टीका लेना अनिवार्य होगा. फिलहाल स्कूलों में प्रार्थना सभा, सांस्कृतिक कार्यक्रम, खेलकूद का आयोजन और बच्चों को स्कूल में टिफिन लाने की अनुमति नहीं दी गई है. आपात स्थिति से निपटने के लिए स्कूलों को स्वास्थ्य अधिकारियों का हेल्पलाइन नंबर भी जारी करने का निर्देश दिया गया है.
loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...