Saturday , September 18 2021
Breaking News
Home / खबर / मेहुल चोकसी: प्रत्यर्पण के कागज डोमिनिका भिजवाया भारत, PNB घोटाले का आरोपी वहीं की जेल में बंद

मेहुल चोकसी: प्रत्यर्पण के कागज डोमिनिका भिजवाया भारत, PNB घोटाले का आरोपी वहीं की जेल में बंद

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) घोटाले के आरोपी मेहुल चौकसी के जल्द भारत प्रत्यर्पण की उम्मीद बढ़ गई है। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन के मुताबिक भारत ने एक प्राइवेट जेट के जरिए डोमिनिका सरकार को चौकसी के प्रत्यर्पण के दस्तावेज भेजे हैं। चौकसी इस वक्त डोमिनिका की जेल में ही बंद है। हालांकि चौकसी को लेकर भारत की तरफ से अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

इससे पहले शनिवार को चौकसी की डोमिनिका के जेल से पहली तस्वीर सामने आई थी। सलाखों के पीछे कैद चौकसी स्काई कलर की टी-शर्ट में दिख रहा है। उसके चेहरे पर डर और भय साफ देखा जा सकता है। उसकी बाईं आंख में चोट के निशान भी दिख रहे हैं। उसकी आंख लाल है। साथ ही उसके हाथ में भी चोट के निशान देखे जा सकते हैं। उसके वकीलों ने दावा किया है कि चौकसी से मारपीट की गई है।

दो दिन पहले मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डोमेनिका में चौकसी के वकील मार्श वेन ने कहा कि सुबह उन्होंने अपने क्लांइट से पुलिस स्टेशन में मुलाकात की है। वकील के मुताबिक चौकसी ने आरोप लगाया कि उसे डोमिनिका में अपहरण कर लाया गया है। चौकसी ने अपने साथ मारपीट का भी आरोप लगाया है। चौकसी के वकील मामले में राहत के लिए अदालत में अपील दाखिल करने वाले हैं।

इंटरपोल ने जारी किया था यलो नोटिस
चौकसी कुछ दिन पहले एंटीगुआ और बारबुडा से लापता हो गया था। इसके बाद इंटरपोल ने उसके खिलाफ यलो नोटिस जारी किया था। बाद में इसी नोटिस को एंटीगुआ सरकार ने भी रिटेन किया। इसके बाद उसकी तलाश तेज कर दी गई थी।

क्यूबा भागने की फिराक में था चौकसी
चौकसी को मंगलवार यानी 25 मई को डोमिनिका में पकड़ा गया था। एंटीगुआ मीडिया ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि 62 साल का चौकसी डोमिनिका से क्यूबा भागने की फिराक में था, उसी दौरान उसे CID ने दबोच लिया। सूत्रों के मुताबिक वह एंटीगुआ और बारबुडा से बोट के जरिए डोमिनिका पहुंचा था।

2017 में एंटीगुआ-बारबुडा की नागरिकता ली थी
14,500 करोड़ रुपए के पीएनबी घोटाले का आरोपी चौकसी जनवरी 2018 में विदेश भाग गया था। बाद में पता चला कि वह 2017 में ही एंटीगुआ-बारबुडा की नागरिकता ले चुका था। पीएनबी घोटाले की जांच कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) और प्रवर्तन निदेशालय (ED) जैसी एजेंसिया चौकसी के प्रत्यर्पण की कोशिश में जुटी हैं। मेहुल चौकसी खराब सेहत का हवाला देकर भारत में पेशी पर आने से इनकार कर चुका है। कभी-कभी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही उसकी पेशी होती है। भारत में उसकी कई संपत्तियां भी जब्त की जा चुकी हैं।

भांजे नीरव को भारत लाने की मिल चुकी है मंजूरी
इस घोटाले का मुख्य आरोपी चौकसी का भांजा नीरव मोदी लंदन की जेल में है। वहां की अदालत और सरकार ने उसके प्रत्यर्पण की मंजूरी भी दे दी है, लेकिन नीरव ने प्रत्यर्पण के फैसले को लंदन के हाईकोर्ट में चुनौती दी है। इस मामले में हाईकोर्ट का फैसला आने में 10 से 12 महीने का वक्त लग सकता है।

loading...

Check Also

Petrol Diesel Price: पेट्रोल-डीजल सस्ता हुआ या महंगा, फटाफट चेक करें अपने शहर में आज के नए रेट

यूपी में आज रविवार को पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel Price) के दाम जारी कर दिए गए ...