आर्द्रा नक्षत्र में प्रवेश करेगा सूर्य, जानिए किसको होगा लाभ

0
4

सूर्य वृश्चिक राशि में 22 जून सोमवार को आर्द्रा राशि में प्रवेश कर रहा है। सूर्य षष्ठी तिथि को आषाढ़ शुक्ल पक्ष में, पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में शाम 4:47 बजे सिद्धि योग में प्रवेश करेंगे।

जल तत्व राशियों में इन 2 ग्रहों की उपस्थिति के कारण प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद पूर्व-दक्षिण क्षेत्रों में अनुकूल वर्षा की संभावना है। उत्तर-पश्चिमी राज्यों जैसे उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान में कुछ विशेष क्षेत्रों में अच्छी बारिश होने की संभावना है। कुछ जगहों पर बारिश की कमी रहेगी। यदि सोमवार को सूर्य आर्द्रता में प्रवेश करता है, तो पर्याप्त वर्षा होने से गेहूं, अनाज आदि का उत्पादन अच्छा होता है।

नमी का अर्थ है नमी। आर्द्रा आकाश में छठा नक्षत्र है। वह राहु का नक्षत्र है और मिथुन राशि में आता है। यह कई तारों का समूह नहीं है बल्कि केवल एक तारे का समूह है। यह आकाश में एक गहना जैसा दिखता है। इसके आकार को हीरा या बिजली के रूप में समझा जा सकता है। कई विद्वान उन्हें एक चमकता हुआ नायक मानते हैं और कई लोग उन्हें आंसू या पसीने की बूंद मानते हैं।

मिथुन राशि में आर्द्रा नक्षत्र 6 अंश 40 अंश से 20 अंश तक होता है। आर्द्रा नक्षत्र जून के तीसरे सप्ताह में प्रातः उदय होता है। फरवरी माह में रात 9 से 11 बजे के बीच यह नक्षत्र अपने चरम पर पहुंच जाता है। निरयण सूर्य 21 जून को आर्द्रा नक्षत्र में प्रवेश करता है। पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र के प्रवेश से राजनीति में होगा बड़ा हलचल, दोपहर के समय आर्द्रा के प्रवेश से खड़ी फसल को होगा नुकसान