इतिहास बदल गया है! रथयात्रा से पहले पुलिस ने पहली बार हेलीकॉप्टर से रूट पर की निगरानी

अहमदाबाद: 145 जगन्नाथजी की रथयात्रा अहमदाबाद से शांतिपूर्ण तरीके से गुजरेगी. उधर, रथयात्रा से पहले पुलिस रथयात्रा के मार्ग का निरीक्षण कर रही है. लेकिन पहली रथयात्रा से पहले आज पुलिस ने हेलीकॉप्टर से रथयात्रा के मार्ग पर निगरानी की. आज तक पुरी जैसी रथयात्रा में भी मार्ग का अवलोकन हेलीकॉप्टर से नहीं किया जाता, बल्कि पहली बार रथयात्रा का हवाई निरीक्षण 5 वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों द्वारा किया गया। पुलिस आयुक्त, क्राइम जेसीपी, ट्रैफिक जेसीपी और सेक्टर 1-2 के अधिकारी हेलीकॉप्टर से रूट ऑब्जर्वेशन करेंगे. रथयात्रा के दिन मार्ग सहित कालूपुर रेलवे स्टेशन व संवेदनशील क्षेत्र का हेलीकॉप्टर से निरीक्षण किया जाएगा. 

आतंकी संगठन अलकायदा ने अहमदाबाद में रथयात्रा निकालने की धमकी दी है। हालांकि जुलूस में विस्फोट की आशंका को लेकर सभी सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है. साथ ही दिल्ली के सभी आईबी को भी अलर्ट कर दिया गया है। रथ सुरक्षा की बात करें तो पहले भी रथों पर इस तरह के कई हादसे हो चुके हैं। 

सुरक्षा के लिहाज से तीनों रथों को इस बार अहमदाबाद पुलिस द्वारा विशेष सीसीटीवी कैमरे में रखा जाएगा जो कि 360 डिग्री घूमने वाला होगा। तो अगर कोई रथ पर कुछ भी करने की तैयारी करता है या करने की कोशिश करता है, तो उसके होने से पहले ही उसे तेज कर दिया जाएगा। अहमदाबाद क्राइम ब्रांच द्वारा तीनों रथों की घेराबंदी की जाएगी। इस साल सुरक्षा कारणों से अखाड़े, ट्रकों और तीनों रथों पर जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम लगाया जाएगा। इतना ही नहीं आकाशीय ड्रोन की मदद से भी मदद मांगी जाएगी।

कोई वर्णन उपलब्ध नहीं।

बता दें कि गुजरात में सबसे बड़ी रथ यात्रा के लिए सुरक्षा इंतजामों को अंतिम रूप दे दिया गया है. त्रिस्तरीय व्यवस्था के दौरान किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए पुलिस भी पूरी तरह तैयार है। स्थानीय पुलिस से शुरू होकर केंद्रीय सुरक्षा बल ने पहले ही शहर के संवेदनशील इलाके की मोर्चा संभाल लिया है. लेकिन इस साल हाईटेक सुरक्षा के बीच पुलिस की पुख्ता सुरक्षा क्या होगी? रथयात्रा के दौरान कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी प्रबंध किए गए हैं। इस साल सबसे ज्यादा तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। स्पेशल एरियल सर्विलांस यानी ड्रोन से हॉक सर्विलांस। वहीं, बॉडी वार्न कैमरे से सर्विलांस के साथ एक खास टीजर गन का इस्तेमाल किया जाएगा।