Sunday , May 16 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी लौटे प्रवासी मजदूरों के लिए खुशखबरी, इस तारीख से सबको मिलेगा काम

यूपी लौटे प्रवासी मजदूरों के लिए खुशखबरी, इस तारीख से सबको मिलेगा काम

लखनऊ. कोरोना संक्रमण और लाॅकडाउन के चलते देश के दूसरे राज्यों और शहरों से लौटे प्रवासी मजदूरों को काम देगी (Migrant Labourers will get job) योगी सरकार। चुनाव आचार संहिता (Election Code of Conduct) खत्म होने के बाद प्रवासी मजदूरों को उनके कौशल के आधार पर काम मुहैया कराने की तैयारी चल रही है। कोरोना के चलते पलायन कर घर वापस लौटने वालों के लिये योगी सरकार ने उनके इलाके या स्थानीय स्तर पर काम मुहैया कराने की बात पहले ही कह चुके हैं।

इस बार जो काम दिये जाएंगे उनमें सबसे अधिक काम मुख्यमंत्री नगरीय अल्पविकसित व मलिन बस्ती विकास योजना के कामों में दिया जाएगा। स्थानीय नगर निकाय व नगर विकास अभिकरण (सूडा) निदेशालय की ओर से इस दिशा में प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है।

दरअसल सूडा (CUDAUP) के तहत उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री नगरीय अल्पविकसित व मलिन बस्ती विकास योजना चलती है, जिसके अंतर्गत कच्ची और मलिन बस्तियों के विकास के लिये विकास कार्य किये जाते हैं। इस योजना के तहत पिछले दिनों करीब 300 करोड़ रुपये से अधिक के काम स्वीकृत किये जा चुके हैं। पर चुनाव आचार संहिता के चलते इनपर ब्रेक लगा हुआ है। आचार संहिता खत्म होते ही इनका टेंडर कर काम शुरू किये जाने की तैयारी है।

इन कामों में प्रवासी मजदूरों को प्राथमिकता दी जाएगी। प्रवासी मजदूर न मिलने पर इन कामो में स्थानीय या दूसरे मजदूर लगाए जाएंगे। यूपी सरकार ने रोजगार मुहैया कराने के लिये कोरोना संक्रमण की पहली लहर और लाॅक डाउन लगने के बाद से ही प्रवासी मजदूरों का डाटा इकट्ठा करवाया था। एक बार फिर से यह काम किया जाएगा।

प्रवासी श्रमिकों का बनेगा डिटेल डाटा

यूपी सरकार प्रवासी मजदूरों का डिटेल डाटा (Migrant Labourers Data) तैयार कराने जा रही है। इसकी जिममेदारी सेवायोजन विभाग (employment department uttar pradesh) को सौंपी गई है। विभाग प्रवासी मजदूरों का डिटेल डाटा उनकी योग्यता और कुशलता को ध्यान में रखकर तैयार करेगा। मुख्य सचिव की ओर से आदेश जारी कर श्रमिकों की योग्यता और हुनर के अनुसार उनका अलग-अलग डाटा तैयार करने का निर्देश दिया गया है। इसके बाद इसी डाटा के आधार पर श्रमिकों को जरूरत पड़ने पर रोजगार मुहैया कराया जाएगा बताते चलें कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की वजह से पाबंदियों के चलते एक बार फिर से महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, दिल्ली आदि राज्यों से मजदूर पलायन कर घर वापस लौट रहे हैं।

loading...
loading...

Check Also

हिसार में हंगामा: कोविड अस्‍पताल का फीता काटने पहुंचे CM खट्टर का विरोध किए किसान, DSP को पीटा

हिसार में रविवार को 500 बिस्तर की क्षमता वाले अस्थायी कोविड अस्पताल का उद्घाटन करने ...