Saturday , July 24 2021
Breaking News
Home / खबर / दिल्ली: कोवैक्सीन लगवा चुके शख्स को कोविशील्ड लगा कर कहा- उसको भूलो, यही है ‘फर्स्ट’ डोज

दिल्ली: कोवैक्सीन लगवा चुके शख्स को कोविशील्ड लगा कर कहा- उसको भूलो, यही है ‘फर्स्ट’ डोज

नई दिल्ली :  राजधानी में कोरोना वैक्सीन लगाने में लापरवाही का एक मामला सामने आया है। 59 साल के एक शख्स लक्ष्मण पंडिता को दो बार वैक्सीन की पहली डोज लगाई गई। लक्ष्मण पंडित 1 जुलाई को उत्तर पश्चिमी दिल्ली के कादीपुर के एक सरकारी स्कूल में कोविड वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने गए थे। लक्ष्मण ने से पहले वहां के लोगों को अपने फोन पर कोविन ऐप से प्राप्त टेक्स्ट संदेश दिखाया। दो घंटे बाद उसका फोन बीप हुआ। पुष्टिकरण संदेश ने उन्हें कोविशील्ड की पहली खुराक मिलने पर बधाई दी।

अप्रैल में ली थी कोवैक्सीन की पहली डोज
पंडित ने कहा कि मुझे इस बात की जानकारी थी कि मुझे कोवैक्सीन की दूसरी डोज लगनी है क्योंकि मुझे पहली वैक्सीन डोज लग चुकी थी लेकिन दुबारा मेरे मोबाइल पर फर्स्ट डोज का मैसेज आया। उन्होंने आगे बताया कि मैंने कॉलोनी के एक परिचित को दोनों संदेश दिखाए, जिन्होंने इसकी पुष्टि की। लक्ष्मण पंडिता का कहना है कि मैंने अप्रैल में मुखमेलपुर के एक डिस्पेंसरी में कोवैक्सिन की पहली डोज लगवाई थी। उसके बाद लॉकडाउन में बिहार चला गया। पंडित ने बताया कि बाढ़ के कारण मैं उस डॉक्यूमेंट को नहीं सहेज सका जो मुझे कोवैक्सीन की डोज का प्रूफ थी।

मैसेज दिखाया फिर भी लगा दी कोविशील्ड
जब पंडित कादीपुर स्कूल में वैक्सीनेशन सेंटर गए, तो उन्होंने उन्हें वह टेक्स्ट मैसेज दिखाया जो उन्हें पहली डोज के बाद मिला था। इसलिए तकनीकी रूप से उन्हें कोवैक्सिन की दूसरी खुराक देनी चाहिए थी लेकिन उन्हें कोविशील्ड की पहली खुराक दी गई। उनके परिचित विकास सैनी ने CoWin साइट पर चेक किया तो उसमें पता लगा कि उन्हें पहली डोज के रूप में Covaxin लगाई गई थी।

कोविशील्ड के बाद बिगड़ी तबीयत
पंडित दिल्ली में अकेले रहते हैं और उन्होंने इंजेक्शन के बाद बीमार होने का दावा किया। उन्होंने कहा कि वैक्सीन लगवाने के चार घंटे बाद, मुझे सिरदर्द, बुखार और जी मिचलाने की शिकायत हुई। बहुत सारा पानी पीने के बावजूद मेरा मुंह सूख गया। तब से मैं खा नहीं पा रहा हूं। उन्होंने कहा कि हर समय चिंतित महसूस करता हूं जैसे कि मैंने कुछ चुरा लिया है। उन्होंने कहा कि मुखमेलपुर मेरे घर से 5 किमी दूर है, इसलिए मैंने घर के पास ही वैक्सीनेशन सेंटर में दूसरी डोज के लिए चला गया था।

अधिकारियों को दी गलती की जानकारी
इस डर से कि कहीं वह बीमार न पड़ जाए, लक्ष्मण पंडित वापस कादीपुर के केंद्र में गया। उन्होंने यहां अधिकारियों को हुई गलती की सूचना दी। पंडित ने आरोप लगाया, उन्होंने मेरे पहले के पेपर को फाड़ दिया और कंप्यूटर पर चीजें बदल दीं। इसके बाद फिर मुझे पहले लगी वैक्सीन डोज के बारे में भूल जाने के लिए कहा।’ उन्होंने कहा कि मुझे 84 दिनों के बाद दूसरी खुराक के लिए आना होगा।

मेरा साथ गलत हुआ है…मेरे बाद बच्चों का क्या होगा
लक्ष्मण पंडित ने कहा कि उन्हें इस बात कि चिंता है कि यदि वह मर गए तो उनके बच्चों का क्या होगा। उन्होंने कहा कि मैं अब वापस दूसरी डोज लेने नहीं जाउंगा। पंडित ने कहा कि मेरे साथ बहुत गलत हुआ ना, मैंने बोला था उनको की मुझे पढ़ना नहीं आता इसलिय आप ही चेक करो।

loading...

Check Also

वैक्सीन लगाने को लेकर आपस में भिड़ गईं महिलाएं, जमकर हुई मारपीट, वीडियो वायरल

खरगोन एमपी के खरगोन जिले में वैक्सीन को लेकर जबरदस्त मारामारी (People Crowd For Vaccine) ...