Monday , May 17 2021
Breaking News
Home / खबर / ऑक्सीजन सिलेंडर, खाली बेड और रेमडेसिविर की जानकारी अब देगा Twitter, जानिए कैसे

ऑक्सीजन सिलेंडर, खाली बेड और रेमडेसिविर की जानकारी अब देगा Twitter, जानिए कैसे

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के कारण पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है। कई लोगों को मेडिकल सहायता की अर्जेंट जरूरत है। लेकिन मेडिकल सहायता में कमी के चलते कई लोगों को आस-पास के अस्पतालों में बेड, ऑक्सीजन सिलेंडर आदि जैसे चिकित्सा संसाधनों को खोजने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

इसके लिए फेसबुक, Twitter, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर भी भरोसा किया जा रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म Twitter ने अपने प्लेटफॉर्म पर एडवांस सर्च फीचर पेश किया है जो यूजर्स को लेटेस्ट जानकारी और संसाधनों तक पहुंचने में मदद करेगा। इसी आप कैसे इस्तेमाल कर पाएंगे, चलिए जानते हैं…

Twitter पर तेजी से ढूंढ सकेंगे Medical Resources से जुड़ी जानकारियां
Twitter ने अपने ट्वीट में कहा है, “पूरे देश में, लोग Twitter का इस्तेमाल कर रहे हैं जिससे वो लेटेस्ट जानकारी और संसाधनों को सर्च कर पाएं। जैसे-जैसे लोगों की आवाजाही बढ़ती है हम आपको कुछ ऐसी विशेषताओं की याद दिलाना चाहते हैं जो आपको तेजी से सर्च करने में मदद कर सकती हैं।”

देखें ट्वीट:

  • एडवांस सर्च फीचर के जरिए यूजर्स उन संसाधनों के आधार पर ट्वीट्स को फिल्टर कर सकते हैं जिनकी उन्हें आवश्यकता है। उदाहरण के लिए: यूजर्स किसी स्पेसिफिक हैशटैग, समय अवधि या एडवांस सर्च को फिल्टर कर सकते हैं। वहीं, किसी अकाउंट के ट्वीट्स को भी फिल्टर कर सकते हैं।
  • इसके अलावा Twitter उन मामलों में भी एक विकल्प उपलब्ध करता है अगर यूजर्स उन ट्वीट्स को देखना चाहते हैं जो उनकी लोकेशन के पास हैं। ऐसा करने के लिए, उन्हें पहले एक रेलेवेंट हैशटैग टाइप करना होगा। इसके बाद दाईं ओर दिए गए Near You के बटन को टॉगल करना होगा। इसे Location के तहत रखा गया है। ध्यान रहे की इस फीचर को काम कराने के लिए लोकेशन सेटिंग का ऑन होना जरूरी है।
  • यह सुनिश्चित करने के लिए कि लेटेस्ट ट्वीट्स उनके टाइमलाइन के टॉप पर दिखाई दें यूजर्स को अपने होम टाइमलाइन के टॉप पर दाईं तरफ स्पार्कल बटन पर टैप करना होगा। यह सुनिश्चित करेगा कि यूजर्स के Twitter टाइमलाइन के टॉप पर सबसे लेटेस्ट ट्वीट्स दिखाई दें।
  • कंपनी ने यह कदम तब उठाया है जब COVID-19 के बारे में सर्च किया जा रहा था जैसे रेमडेसिविर इंजेक्शन, RT-PCR टेस्टिंग, ऑक्सीजन सिलेंडर और अस्पताल के बेड आदि। Google और थर्ड-पार्टी सोशल मीडिया एनालिटिक्स प्लेटफॉर्म से इस डाटा का पता चला था।
loading...
loading...

Check Also

यूपी में कोरोना : BJP विधायक का तंज- ज्यादा बोलूंगा तो देशद्रोह का केस हो जाएगा

कोरोना महासंकट के दौरान अस्पतालों में मेडिकल सुविधाओं की कमी के कारण भारत में हर ...