Monday , December 6 2021
Home / क्राइम / कभी भी हो सकता है चीन पर अमेरिकी अटैक, चीनी सरहद में परमाणु हथियार से लैस युद्धपोत पहुंचाए ट्रंप

कभी भी हो सकता है चीन पर अमेरिकी अटैक, चीनी सरहद में परमाणु हथियार से लैस युद्धपोत पहुंचाए ट्रंप

अमेरिका वो देश नहीं है जो सहन करता है. आपको याद होगा 9/11 के हमले में करीब 3 हज़ार अमेरिकियों की मौत हुई थी और उसके बाद अमेरिका ने अफगानिस्तान पर देखते ही देखते चढ़ाई कर दी थी. आज की तारीख में चीनी वायरस कोरोना को लेकर अमेरिका में प्रचंड गुस्सा है और उसका असर भी दिखने लगा है. अब नयी जानकारी ये सामने आई है कि तिलमिलाए डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिकी सेना को चीन की ओर मोड़ दिया है. अमेरिकी सेना के कई बड़े-बड़े युद्धपोत मलेशिया की तरफ से होते हुए चीनी सीमा में घुस चुके है. इन युद्धपोतों में ऐसे युद्धपोत भी शामिल है जिनपर परमाणु हथियार भी हैं.

चीन से आए वायरस के कारण 50 हज़ार के आसपास अमेरिकियों की मौत हुई है. 10 लाख के आसपास लोग इससे संक्रमित है, इकॉनमी को जो तगड़ा नुक्सान हुआ है, उसकी तो बात ही नहीं करते हैं. जाहिर है, अमेरिका गुस्से में है. वहां चुनाव नजदीक हैं, तो राष्ट्रपति ट्रंप पर भी खुद को मजबूत बनाने का दबाव है. ऐसे में वो कोई भी फैसला ले सकते हैं. ये चीन पर हमला भी हो सकता है.

जानकारी के मुताबिक अमेरिका ने एक बड़ा असाल्ट शिप और एक क्रूज मिसाइल से लैस युद्धपोत मलेशिया के रास्ते चीनी सीमा के अंदर घुसा दिया है. खबर है कि विध्वन्सक अमेरिकी युद्धपोतों को देखते हुए चीनी सेना के युद्धपोत पीछे हट गए है और समंदर में हालात बेहद तनावपूर्ण हो गए हैं.

ये भी खबर आ रही है कि ट्रम्प ने चीन की ओर एक एयरक्राफ्ट कैरियर भी मोड़ दिया है जिसपर 50 से भी ज्यादा फिफ्थ जनरेशन के फाइटर जेट्स हैं, जो परमाणु हथियारों को ले जाने में सक्षम हैं.

सामरिक जानकारों का का मानना है कि भले ही परमाणु युद्ध न हो लेकिन अमेरिका अब चीन को अपनी ताकत दिखा देना चाहता है. इसी मकसद से युद्धपोतों को चीन की ओर मोड़ा गया है. लेकिन अगर चीन भी आक्रामक होता है तो अमेरिका की तरफ से चीन पर बड़ा अटैक भी मुमकिन है.

loading...

Check Also

क्या 7 दिन बाद MP में हो जाएगा अंधेरा ! रोजाना 68 हजार मीट्रिक टन खपत, सतपुड़ा पावर प्लांट के पास 7 दिन का स्टॉक

मध्य प्रदेश में कोयले का संकट गहराने लगा है. बात करें बैतूल के सतपुड़ा पावर ...