Thursday , October 28 2021
Breaking News
Home / खबर / 36 लाख का बिजली बिल देखकर लिखे मंजर भोपाली- ‘लॉकडाउन में कलम की स्याही तक सूख चुकी है..’

36 लाख का बिजली बिल देखकर लिखे मंजर भोपाली- ‘लॉकडाउन में कलम की स्याही तक सूख चुकी है..’

भोपाल
मशहूर शायर मंजर भोपाली को एमपी में बिजली विभाग ने बड़ा झटका दिया है। एमपी सेंट्रल डिस्कॉम ने उन्हें जून महीने में 36 लाख रुपये का बिजली बिल थमाया है। इसके बाद उन्होंने मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत कंपनी से संपर्क किया। कंपनी की तरफ से उन्हें आश्वसत किया गया है कि बिलिंग सॉफ्टवेयर की गड़बड़ी है, इसे जल्द ठीक कर लिया जाएगा।

भोपाल के कोहेफिजा इलाके में मशहूर शायर मंजर भोपाली रहते हैं। यह उस वक्त हैरान रह गए जब इनके घर पर 36 लाख 86 हजार 660 रुपये का बिजली बिल आया। सबसे पहले इन्हें रविवार की सुबह मोबाइल पर टेक्सट मैसेज आया था। मैसेज में मंजर भोपाली अमाउंट पढ़कर हैरान रह गए थे। बिल जमा करने की अंतिम तारीख उसमें 21 जून लिखी हुई थी। इसके बाद उन्होंने डिस्कॉम के पोर्टल पर जाकर ड्यूज अमाउंट को चेक किया तो वहां भी उतना ही दिखा। इसके बाद उन्होंने शिकायत की है। रविवार की शाम तक उन्हें सुधार किया हुआ बिल नहीं मिला था।

36 लाख बिजली बिल आने पर मंजर भोपाली ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया है। उन्होंने लिखा है कि एमपी गजब है, सब से अजब है। इस नारे की सच्चाई ये ₹ 36,86,660 का मेरे घर का एक महीने (मई) का इलेक्ट्रिक बिल दर्शाता है। माननीय मुख्य मंत्री जी इस तरह का मजाक कोरोना काल में एक शायर के लिए ठीक नहीं है। लॉकडाउन और कोविड की वजह से शायर के कलम की स्याही तक सूख चुकी है, ऐसे में ये 36 लाख रुपए कहां से भरे जाएं? ये बिल रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचारी का खुला दावत नामा है।

बता दें कि मंजर भोपाली पिछले साल कोरोना से संक्रमित हुए थे। इसके बाद से वह कम ही निकलते हैं, कुछ महीनों से उन्हें पब्लिक के बीच कोई कार्यक्रम में नहीं देखा गया है। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि कोरोना काल में लोगों के बिजली बिल और प्रॉपर्टी टैक्स माफ होने चाहिए। यहां फर्जी बिल भेजे जा रहे हैं।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...