Monday , September 20 2021
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / काबुल एयरपोर्ट बन गया खून का दरिया, ब्लास्ट में बिखर गईं जिंदगियां, देखें दर्द की 20 तस्वीरें

काबुल एयरपोर्ट बन गया खून का दरिया, ब्लास्ट में बिखर गईं जिंदगियां, देखें दर्द की 20 तस्वीरें

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के हामिद करजई इंटरनेशन एयरपोर्ट के बाहर गुरुवार शाम को दो आत्मघाती हमले हुए। इसमें 80 से ज्यादा लोगों की जान गई जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हुए। हमलों ने काबुल को दहला दिया।

एयरपोर्ट के बाहर धमाके हुए और हवा में धूल का गुबार उठा। जब तक धुआं कम हुआ, कई लोगों की जिंदगी तबाह हो चुकी थी। हर तरफ खून फैला हुआ था। लोग बदहवास होकर अपने घायल परिजनों को अस्पताल लेकर भाग रहे थे।

तालिबान के क्रूर शासन से अपनी और अपने परिवार की जिंदगियां बचाने के लिए दूसरे देशों में शरणार्थी बनने को तैयार लोग पिछले कई दिनों से काबुल एयरपोर्ट पर रह रहे थे। इन लोगों को इंतजार था कि कोई देश इन्हें अपने यहां शरण दे देगा। इनकी जिंदगी बर्बाद होने से बच जाएगी। लेकिन कितने ही लोगों का यह इंतजार पूरा नहीं हो पाया।

काबुल एयरपोर्ट के हमले की तस्वीरें दिल दहलाने वाली हैं, लेकिन आपको ये तस्वीरें देखनी चाहिए ताकि आप समझ सकें कि अफगानिस्तान में दर्द और खौफ की दास्तान हकीकत है, फसाना नहीं।

काबुल धमाके में घायल हए लोगों को अफरा-तफरी में अस्पताल पहुंचाया गया। एक अस्पताल में इलाज का इंतजार करता शख्स।
काबुल धमाके में घायल हए लोगों को अफरा-तफरी में अस्पताल पहुंचाया गया। एक अस्पताल में इलाज का इंतजार करता शख्स।
एयरपोर्ट पर हुए हमले से घबराकर रोते हुए दो बच्चे। इस हमले में 80 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है।
एयरपोर्ट पर हुए हमले से घबराकर रोते हुए दो बच्चे। इस हमले में 80 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है।
काबुल एयरपोर्ट के बाहर हजारों की संख्या में लोग मौजूद थे। भीड़ के बीच दो आत्मघाती हमलावरों ने खुद को कम से उड़ा दिया।
काबुल एयरपोर्ट के बाहर हजारों की संख्या में लोग मौजूद थे। भीड़ के बीच दो आत्मघाती हमलावरों ने खुद को कम से उड़ा दिया।
गाड़ी में लेटे एक घायल व्यक्ति को देखती एक महिला और बच्चा। हमले में लोग गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं।
गाड़ी में लेटे एक घायल व्यक्ति को देखती एक महिला और बच्चा। हमले में लोग गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं।
काबुल एयरपोर्ट के बाहर तालिबानी चेकपॉइंट पर खड़ा एक लड़ाका। ब्लास्ट का खौफ इसकी आंखों में भी नजर आ रहा है।
काबुल एयरपोर्ट के बाहर तालिबानी चेकपॉइंट पर खड़ा एक लड़ाका। ब्लास्ट का खौफ इसकी आंखों में भी नजर आ रहा है।
हमले में घायल हुए एक शख्स को अस्पताल ले जाते लोग। काबुल हमले में 200 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।
हमले में घायल हुए एक शख्स को अस्पताल ले जाते लोग। काबुल हमले में 200 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।
मेडिकल स्टाफ और वॉलंटियर डेड बॉडीज को अस्पताल में रखवाते हुए। माना जा रीा है कि मारने वालों की संख्या अभी बढ़ सकती है।
मेडिकल स्टाफ और वॉलंटियर डेड बॉडीज को अस्पताल में रखवाते हुए। माना जा रीा है कि मारने वालों की संख्या अभी बढ़ सकती है।
हमले में घायल हुए श्ख्स को अस्पताल पहुंचाते लोग। लोगों ने हाथगाड़ियों में ठेलकर अपनों को अस्पताल तक पहुंचाया।
हमले में घायल हुए श्ख्स को अस्पताल पहुंचाते लोग। लोगों ने हाथगाड़ियों में ठेलकर अपनों को अस्पताल तक पहुंचाया।
इस हमले की जिम्मेदारी ISIS-K ने ली है। एक घायल को एंबुलेंस में चढ़ाते लोग।
इस हमले की जिम्मेदारी ISIS-K ने ली है। एक घायल को एंबुलेंस में चढ़ाते लोग।
काबुल एयरपोर्ट पर हमले के बाद उठता हुआ धुआं। यहां सिलसिलेवार तीन धमाके हुए। जिसमें से दो आत्मघाती फिदायीन धमाके थे।
काबुल एयरपोर्ट पर हमले के बाद उठता हुआ धुआं। यहां सिलसिलेवार तीन धमाके हुए। जिसमें से दो आत्मघाती फिदायीन धमाके थे।
धमाके में गंभीर रूप से जख्मी हुए हाथ को पकड़कर अस्पताल की तरफ जाता एक शख्स।
धमाके में गंभीर रूप से जख्मी हुए हाथ को पकड़कर अस्पताल की तरफ जाता एक शख्स।
कई लोगों को पैदल ही अस्पताल की तरफ जाना पड़ा। मौके पर न कोई एंबुलेंस मिली और न कोई हाथगाड़ी या ठेला ही मिला सका।
कई लोगों को पैदल ही अस्पताल की तरफ जाना पड़ा। मौके पर न कोई एंबुलेंस मिली और न कोई हाथगाड़ी या ठेला ही मिला सका।
काबुल के अस्पताल के बाहर एक घायल शख्स को गाड़ी से निकालकर स्ट्रेचर पर रखते लोग।
काबुल के अस्पताल के बाहर एक घायल शख्स को गाड़ी से निकालकर स्ट्रेचर पर रखते लोग।
काबुल के अस्पताल में इलाज के लिए अपनी बारी आने का इंतजार करता एक शख्स।
काबुल के अस्पताल में इलाज के लिए अपनी बारी आने का इंतजार करता एक शख्स।
हमले के बाद एयरपोर्ट के पास एक सड़क पर पहरा देते तालिबानी लड़ाके।
हमले के बाद एयरपोर्ट के पास एक सड़क पर पहरा देते तालिबानी लड़ाके।
एबे गेट के पास बैरन होटल परिसर में बैठे अफगान रिफ्यूजी। आतंकी हमले के बाद ब्रिटिश सैनिकों ने होटल के पूरे परिसर को बंद कर दिया है।
एबे गेट के पास बैरन होटल परिसर में बैठे अफगान रिफ्यूजी। आतंकी हमले के बाद ब्रिटिश सैनिकों ने होटल के पूरे परिसर को बंद कर दिया है।
गुरुवार को हुए हमले वाली साइट बैरन होटल के पास तैनात ब्रिटिश सैनिक। इस हमले में ब्रिटिश सैनिकों की मौत या घायल होने की कोई खबर नहीं है।
गुरुवार को हुए हमले वाली साइट बैरन होटल के पास तैनात ब्रिटिश सैनिक। इस हमले में ब्रिटिश सैनिकों की मौत या घायल होने की कोई खबर नहीं है।
हमले में घायल एक व्यक्ति को अस्पताल ले जाता एक शख्स। अस्पतालों में घायलों की भीड़ लग गई है।
हमले में घायल एक व्यक्ति को अस्पताल ले जाता एक शख्स। अस्पतालों में घायलों की भीड़ लग गई है।
loading...

Check Also

टेलीकॉम सेक्टर में सुधार के लिए क्रांतिकारी कदम उठाई मोदी सरकार, जानें पूरा फैसला

मोदी सरकार ने भारत की एक बड़ी चुनौती का समाधान करना शुरू कर दिया है। ...