Thursday , December 2 2021
Home / क्राइम / शर्मनाक! लॉकडाउन में सिपाही ने रोकी गाड़ी, अधिकारी ने उससे ही कराए उठक-बैठक, Video

शर्मनाक! लॉकडाउन में सिपाही ने रोकी गाड़ी, अधिकारी ने उससे ही कराए उठक-बैठक, Video

कोरोना महामारी के संकट के बीच तमाम ऐसी खबरें आ रही हैं, जो अमानवीयता का चरम है। कहीं कोरोना वारियर्स को निशाना बनाया जा रहा है, तो कहीं पुलिस की ज्यादतियों की इंतहा की खबरें आ रही हैं। अब अधिकारियों द्वारा अपने अधीन काम करने वाले लोगों के टॉर्चर की खबरें भी आने लगी हैं। एक होमगार्ड को नियमों का पालन न करने वाले कृषि अधिकारी की गाड़ी रुकवाना भारी पड़ा। बिहार के अररिया में कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार ने रातोंदिन ड्यूटी पर तैनात रहने वाले एक होमगार्ड को बीच सड़क पर उठक-बैठक करवायी, क्योंकि उसने नियमों का पालन न करने पर उनकी गाड़ी रुक​वाने की हिमाकत की। इस घटना का ​वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

वीडियो में दिख रहा है कि एक होमगार्ड का एक सिपाही किसी अधिकारी के सामने कान पकड़कर उठक बैठक कर रहा है। इस मामले में मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक नियमों का पालन न करने पर होमगार्ड ने कृषि पदाधिकारी की गाड़ी को चेकिंग के लिए रोका था, जिसकी एवज में कृषि पदाधिकारी ने अपने पद का रौब दिखाते हुए बीच सड़क पर उससे उठक-बैठक करवायी।

यह तस्वीर निश्चित तौर पर निराश करती है और यह भी दिखाती है कि पद और वर्दी का दंभ अधिकारियों में किस तरह कूट-कूटकर भरा हुआ है कि अपनी ड्यूटी ईमानदारी से कर रहे होमगार्ड गोनू तात्मा को बीच सड़क पर इस तरह बेइज्जत किया। हालांकि दूसरी तरफ यह तस्वीर भी सुकून देती है कि बिहार के ही डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय राज्य के अलग-अलग हिस्सों में पुलिस के जवानों को फोन कर उनका हौसला बढ़ा रहे हैं।

वायरल वीडियो में जो होमगार्ड जवान उठक-बैठक करता नजर आ रहा है, उसका नाम गोनू तात्मा बताया जा रहा है और वो अररिया के बैरगाछी में तैनात है। घटनाक्रम के मुताबिक अररिया के जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार इसी इलाके से हो कर गुजर रहे थे तो सिपाही गोनू तात्मा ने उनकी गाड़ी को लॉकडाउन के मद्देनजर रुटीन चेकिंग के लिए रोक दिया। गोनू तात्मा की गलती बस इतनी थी कि वो अपनी ड्यूटी शिद्दत से कर रहा था और कृषि पदाधिकारी महोदय को पहचानता नहीं था।

ऐसे में कायदे से कृषि अधिकारी को लॉकडाउन का पालन कराने के लिए गोनू तात्मा  को सराहा जाना चाहिए था, मगर कृषि पदाधिकारी महोदय मनोज कुमार जी को यह अपनी बेइज्जती लगी और इतना नागवार गुजरा कि बीच सड़क पर होमगार्ड जवान से कान पकड़ कर उठक बैठक करा दी।

इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद जब मीडिया ने अररिया जिले के SDPO पुष्कर कुमार से इस बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि सिपाही इतना सीधा था कि खुद ही उठक-बैठक करने लगा और माफी मांगनी शुरू कर दी। मगर SDPO की ये सफाई किसी के गले नहीं उतर रही कि आखिर अपनी ड्यूटी पर तैनात होमगार्ड क्योंकर कृषि अधिकारी को देखते हुए उठक-बैठक करने लगा। जबकि वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि सोनू उठक-बैठक करते हुए माफी मांग रहा है।

कृषि पदाधिकारी द्वारा सिपाही को इस तरह बीच सड़क पर उठक—बैठक करवाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस पर विपक्ष ने भी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है और कहा कि वह कृषि अधिकारी पर एक्शन ले। RJD प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने साफ कहा है कि ऐसे पदाधिकारियों पर सरकार को कठोर कार्रवाई करनी चाहिए। RJD के मुताबिक जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार ने ये काम कर पुलिस के जवानों का मनोबल तोड़ा है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा है कि इस मामले में दोषियों की गिरफ्तारी होनी चाहिए।

 

loading...

Check Also

मुंबई ड्रग्स केस में एनसीबी ने 2 और संदिग्ध को किया गिरफ्तार

मुंबई । नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने मुंबई तट से एक क्रूज जहाज से प्रतिबंधित दवाओं ...