Thursday , December 2 2021
Home / क्राइम / कोरोना बमों की ब्रिगेड को सरहद पार से जिसने भेजा भारत, कौन है वो जालिम मुखिया ?

कोरोना बमों की ब्रिगेड को सरहद पार से जिसने भेजा भारत, कौन है वो जालिम मुखिया ?

बिहार में कोरोना फैलाने की साजिश नेपाल में रची जा रही है। यह खुफिया जानकारी मिलने के बाद पश्चिम चंपारण जिले के जिलाधिकारी ने सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के एक पत्र का हवाला देते हुए बेतिया और बगहा के पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने सीमा पर चौकसी बरतने का निर्देश दिया है। इस बीच, बिहार के गृह सचिव आमिर सुबहानी ने कहा कि साजिश की जांच की जा रही है.

सीमा पर सतर्कता बढ़ा दी गई है। जिलाधिकारी द्वारा सात अप्रैल को बेतिया और बगहा के पुलिस अधीक्षक को लिखे पत्र में कहा है कि 47वीं वाहिनी बटालियन, एसएसबी, पनटरज़का, रमगढ़वा द्वारा तीन अप्रैल को सूचित किया है कि नेपाल के जगन्नाथपुर सेरवा का रहने वाला जालिम मुखिया (Jalim mukhiya) भारत में कारोना महामारी फैलाने की योजना बना रहा है। पत्र में जालीम मुखिया का नाम आने बाद से हरेक मन में इच्छा जाग रही है कि आखिर ये शख्स कौन है। आइए जानते हैं।

नेपाल में राजनीति करता है जालीम मुखिया
बताया जा रहा है कि जालीम मुखिया हथियार तस्कर है। वह नेपाल बॉर्डर के रास्ते हथियारों की स्मगलिंग करता है। वह नेपाल के जिला पारसा के सेरवा थाना अंतर्गत जग्रनाथपुर गांव का रहने वाला है। बताया जाता है कि वह परसा जिले के जगन्नाथपुर का मेयर भी है।

मिली जानकारी के मुताबिक जालिम मुखिया (Jalim mukhiya) नेपाल कम्यूनिस्ट पार्टी का सक्रिय सदस्य है। बताया जाता है कि वह माओवादी ग्रुप का भी सदस्य रह चुका है। पिछली बार हुए नेपाल के चुनाव में उसकी महत्वपूर्ण भूमिका रही थी। जानकारी के अनुसार जालिम मुखिया (Jalim mukhiya) का घर परसा जिले के जगन्नाथपुर है जो कि बेतिया के सिकटा इनरवा सीमा से लगी हुई है।

जालीम मुखिया खुद तो भले ही राजनीति में है, लेकिन अब भी अपने लोगों से नकली नोट और हथिरायों की तस्करी करवाता है। सूत्रों का कहना है कि जालीम मुखिया का नेपाल के एक मंत्री से भी गहरे रिश्ते हैं, जिसकी शह पर वह भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम दे रहा है।

खुद को बेकसूर बता रहा है जालीम
सूत्रों का यह भी कहना है कि जालीम मुखिया ने इस पूरे प्रकरण पर कहा है कि उसे बेमतलब में फंसाया जा रहा है। कोरोना के डर से वह खुद घर में हैं। ऐसे में भला वह भारत में कोरोना फैलाने की साजिश क्यों करेगा।

मालूम हो कि बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने इस मसले पर कहा है ,‘एसएसबी के खुफिया विंग ने एक पत्र लिखा है, जिसमें ऐसी आशंका जताई गई है। लेकिन अब तक इसका कोई प्रमाण नहीं मिला है। सूचना का सत्यापन कराया गया, लेकिन साक्ष्य नहीं मिला।’ उन्होंने कहा कि पहले से ही सीमा को सील कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि किसी के सीमा पार करने का सवाल ही नहीं है।

loading...

Check Also

मुंबई ड्रग्स केस में एनसीबी ने 2 और संदिग्ध को किया गिरफ्तार

मुंबई । नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने मुंबई तट से एक क्रूज जहाज से प्रतिबंधित दवाओं ...