Monday , December 6 2021
Home / ऑफबीट / कोरोना बम बनकर कई जिले घूमा युवक, भारत का ‘पेशेंट-31’ ना बन जाए वो मृतक !

कोरोना बम बनकर कई जिले घूमा युवक, भारत का ‘पेशेंट-31’ ना बन जाए वो मृतक !

दक्षिण कोरिया में जिस तरह से एक 61 साल की महिला ने लगभग 5 हजार लोगों में कोरोना बांटे थे। ठीक उसी तरह एक मामला बिहार में भी सामने आया है। दरअसल वैशाली में कोरोना की चपेट में आने से एक शख्स की मौत हो गई, लेकिन चिंता की बात यह है कि शख्स कोविड-19 संक्रमित था। इस बात की पुष्टि उसके मरने के बाद हुई, इसलिए वो शख्स अनजाने में बिहार की सड़कों पर घूमता रहा और कई लोगों के संपर्क में आया।

इस बात का पता चलते ही प्रशासन के होश उड़ गए हैं। सबको यही चिंता है कि दक्षिण कोरिया की उस महिला जिसे पेशेंट 31 के नाम से जाना जाता है, वैसा ही हाल न हो जाए। बिहार में भी कोरोना न फैल जाए इसलिए मामले की तेजी से जांच की जा रही है।

शख्स बिहार के वैशाली के राघोपुर का रहने वाला था। उसकी उम्र 35 वर्ष थी। युवक की कोरोना जांच रिपोर्ट बुधवार देर रात पॉजिटिव आई, उसकी शुक्रवार को पटना के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान में इलाज के दौरान मौत हो गई। उसका अंतिम संस्‍कार पूरी सुरक्षा के साथ पटना के बांस घाट पर किया गया, लेकिन मौत के पहले इलाज के दौरान वह अनजाने में ही कोरोना बम बना घूमता रहा।

बताया जाता है कि मौत से वह शख्स तीन सप्‍ताह से अधिक तक वैशाली से लेकर पटना तक संक्रमण लेकर घूमता रहा। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के लिए चुनौती है उन लोगों की पहचान करना जो उसके संपर्क में आए है।

वैशाली में अभी तक उसके आठ स्‍वजनों सहित 63 लोगों की पहचान हो चुकी है। पटना के अलावा उसके संपर्क में आए समस्‍तीपुर के भी तीन दर्जन लोगों की पहचान की गई है।

 

 

loading...

Check Also

पेट्रोल-डीजल की कमी के बाद अब इस देश में अंडरवियर्स और पजामे की भारी किल्लत

लंदन (ईएमएस)।आपकों जानकार हैरानी होगी कि यूके में इन दिनों अंडरवियर्स और पजामे की भारी ...