Tuesday , November 30 2021
Home / ऑफबीट / चीन की शरण में पूरी दुनिया को ले आया कोरोना, क्या ये सब पहले से पक्का था !

चीन की शरण में पूरी दुनिया को ले आया कोरोना, क्या ये सब पहले से पक्का था !

कोरोना से बचने के लिए दुनिया चीन की शरण में जा रही है। अमेरिका का सुपरपॉवर का तमगा भी छिन जाए यह कोई बड़ी बात नहीं है। ऐसे में  दुनिया का पॉवर सेंटर वेस्ट से ईस्ट की तरफ हो जाए यानी चीन की तरफ। अमेरिकी देशों को छोड़कर तकरीबन बाकी दुनिया कोरोना के इस लाल खतरे की जद में है। इस लाल रंग के कई मायने भी हैं, चूंकि लाल रंग कम्यूनिस्टों का रंग है और चीन एक कम्यूनिस्ट देश है। अब इस खतरे के निशान से चीन ही है, जो दुनिया को बचा सकता है।

पूरी दुनिया इस जानलेवा वायरस की वजह से चीन की तरफ झुकी हुई नज़र आ रही है। इन सभी देशों को कोरोना से लड़ने के लिए चीन का एक्सपीरियंस और उसके मेडिकल इक्वेपमेंट की ज़रूरत है। अमेरिका से लेकर यूरोप तक और इंग्लैंड से लेकर ईरान तक सभी इस महामारी से बचने के लिए चीन की मदद ले रहे हैं।

ये वही इटली है जो अमेरिका के प्रभाव में कोरोना के शुरुआती दौर में उसे चीनी वायरस कह रहा था। अब इटली कोरोना से लड़ने के लिए चीन के सामने मदद के लिए गिड़गि़ड़ा रहा है।

इतना ही नहीं अमेरिका के बाद स्पेन जो इस महामारी से सबसे ज़्यादा प्रभावित है. वो भी चीन की शरण में है और चीन से अब तक करीब 432 मिलियन यूरो यानी करीब 36 अरब रुपये का मेडिकल इक्वेपमेंट खरीद चुका है। यहां तक कि अमेरिका भी अब चीन के सामने झुक गया और वो भी कोरोना से लड़ने के लिए चीनी इक्वेपमेंट आयात कर रहा है।

दुनिया के 50 से ज़्यादा ऐसे देश हैं, जो कोरोना की ये जंग चीन के भरोसे लड़ रहे हैं। चीन भी उनकी खुशी खुशी मदद कर रहा है क्योंकि वो जानता है कि ये महामारी जब तक चलेगी, तब तक उसकी अर्थव्यवस्था मज़बूत होती जाएगी और दुनिया की इकॉनमी कमज़ोर होती जाएगी। इसके बाद सुपरपावर बनने का रास्ता बेहद आसान है।

चीन दुनिया का मैन्यूफैक्चरिंग हब है। दुनिया में ऐसा कोई देश नहीं हैं जो इस मामले में चीन का मुकाबला कर सके। लिहाज़ा ये थ्योरी काफी हद तक सही नज़र आ रही है कि चीन हेल्थ केयर की एक सिल्क रोड बनाकर दुनिया में अपना दबदबा कायम करने की कोशिश कर रहा है।

loading...

Check Also

क्या 7 दिन बाद MP में हो जाएगा अंधेरा ! रोजाना 68 हजार मीट्रिक टन खपत, सतपुड़ा पावर प्लांट के पास 7 दिन का स्टॉक

मध्य प्रदेश में कोयले का संकट गहराने लगा है. बात करें बैतूल के सतपुड़ा पावर ...